कश्मीर में 2G मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बहाल, इस वजह से किया गया था बंद

News State Bureau  |   Updated On : January 26, 2020 11:00:08 PM
कश्मीर में 2G मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बहाल, इस वजह से किया गया था बंद

प्रतीकात्मक फोटो (Photo Credit : न्यूज स्टेट )

श्रीनगर:  

कश्मीर में 2G मोबाइल इंटरनेट सेवाएं फिर से बहाल हो गई हैं. लोग खुशी से झूम उठे हैं. लोगों में खुशी की लहर दौड़ गई है. कश्मीर के लोग अब इंटरनेट का इस्तेमाल कर पाएंगे. ऑनलाइन के माध्यम से अपनी जरूरत को पूरा कर सकेंगे. तकनीकी युग में आजकल हर काम इंटनरेनेट के माध्यम से हो रहा है. इसके लिए इंटरनेट का होना बहुत जरूरी होता है. पिछले कई महीनों से कश्मीर में इंटरनेट बैन था. गणतंत्र दिवस के मौके पर सरकार ने कश्मीरियों को तोहफा देते हुए 2G मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बहाल कर दी है. 

यह भी पढ़ें- गौरव चंदेल हत्याकांड : पुलिस ने आरोपी उमेश को मारी गोली, हिरासत से भागने की कोशिश की

कश्मीर घाटी में गणतंत्र दिवस का उत्सव शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराने के लिए एहतियात के तौर पर बंद की गई मोबाइल फोन सेवाओं और 2जी इंटरनेट सेवाओं को कुछ घंटे बाद रविवार को फिर से शुरू कर दिया गया. अधिकारियों ने यह जानकारी देते हुए कहा कि कश्मीर में शाम 4 बजे मोबाइल टेलीफोन सेवाएं बहाल कर दी गई. उन्होंने बताया कि 2जी मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को रात लगभग नौ बजे फिर शुरू किया गया. घाटी में 2005 से गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस के मौके पर मोबाइल फोन और इंटरनेट सेवा बंद करना सुरक्षा ड्रिल का हिस्सा है.

यह भी पढ़ें- ये क्या किया मां ने! हनीमून के बाद दामाद के साथ रचा ली शादी, दिया बच्चे को जन्म, जानें फिर क्या हुआ?

दरअसल 2005 में आतंकवादियों ने मोबाइल फोन के जरिए स्वतंत्रता दिवस समारोह के निकट आईईडी विस्फोट किया था. इसी बीच गणतंत्र दिवस का उत्सव शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराने के लिए घाटी में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे. कश्मीर में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को फिर से शुरू किये जाने के कुछ घंटों बाद शनिवार को अधिकारियों ने गणतंत्र दिवस के मद्देनजर सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए इन सेवाओं को बंद कर दिया था. अधिकारियों ने बताया कि अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को निरस्त किये जाने संबंधी केन्द्र के फैसले के मद्देनजर लगभग छह महीने तक बंद रहने के बाद मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को बहाल किया गया था, लेकिन सेवा का उपयोग केवल प्रशासन द्वारा मंजूर की गई 301 वेबसाइटों तक पहुंच के लिए ही किया जा सकता है.

First Published: Jan 26, 2020 09:46:00 PM

न्यूज़ फीचर

वीडियो