हरियाणा में सीआईडी पर तनातनी खत्म, मुख्यमंत्री खट्टर के अधीन रहेगी CID

News State  |   Updated On : January 23, 2020 01:31:43 PM
हरियाणा में सीआईडी पर तनातनी खत्म, मुख्यमंत्री खट्टर के अधीन रहेगी CID

सीआईडी अंततः मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के अधीन. (Photo Credit : न्यूज स्टेट )

ख़ास बातें

  •  सीआईडी पर नियंत्रण को लेकर चल रही तनातनी अब खत्म हो गई है.
  •  इसका सीधा अर्थ है कि सीआईडी अब मुख्यमंत्री के अधीन रहेगी.
  •  हरियाणा का खुफिया विभाग अनिल विज की ही सीआईडी कर रहा.

नई दिल्ली:  

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और गृह मंत्री अनिल विज के बीच क्रिमिनल इन्वेस्टीगेशन डिपार्टमेंट (सीआईडी) पर नियंत्रण को लेकर चल रही तनातनी अब खत्म हो गई है. मुख्य सचिव द्वारा बुधवार को जारी एक अधिसूचना के अनुसार सीआईडी और कार्मिक व प्रशिक्षण और राजभवन मामलों के विभाग मुख्यमंत्री को दे दिए गए हैं. इसका सीधा अर्थ है कि सीआईडी अब मुख्यमंत्री के अधीन रहेगी. इसमें आगे कहा गया है कि विज आगे से सीआईडी विभाग नहीं देखेंगे.

यह भी पढ़ेंः सलामी बल्‍लेबाज के रूप में मिला चांस, आज दुनिया कर रही रो'हिटमैन' को सलाम

'वर्चस्व की लड़ाई'
मुख्यमंत्री और उनके सहयोगी के बीच 'वर्चस्व की लड़ाई' इसी सप्ताह बढ़ गई थी, जब विज ने खट्टर को पत्र लिखकर सीआईडी प्रमुख अनिल राव के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल कर उन्हें हटाने के लिए कहा था. मुख्यमंत्री खट्टर को लिखे एक पत्र में विज ने कहा था कि सीआईडी प्रमुख उन्हें विभिन्न विषयों पर जानकारी नहीं देते हैं. उन्होंने साथ में मांग की थी कि भारतीय पुलिस सेवा के एक अन्य अधिकारी श्रीकांत जाधव को वर्तमान सीआईडी प्रमुख राव के स्थान पर नियुक्त किया जाना चाहिए.

यह भी पढ़ेंः महिला कर्मचारी गई थी आर्थिक गणना करने, लोगों ने CAA के बहाने जानें क्‍या किया

विज ने मानी हार
आधिकारिक अधिसूचना से पहले भी मुख्यमंत्री खट्टर ने कई बार इसकी पुष्टि की है कि सीआईडी दशकों से गृह मंत्रालय के अधीन ना रहकर मुख्यमंत्री के अधीन रही है. गृह मंत्री अनिल विज से जब इस मामले पर बात की गई तो उनकी जुबान में तल्खी तो साफ नजर आई लेकिन उन्होंने कैमरे पर एक बार फिर दोहराया कि कायदे से सीआईडी पुलिस विभाग का हिस्सा है, लेकिन मुख्यमंत्री अगर चाहें तो अपने पास रख सकते हैं और उनको कोई आपत्ति नहीं है.

यह भी पढ़ेंः 'मैं मां हूं, महान नहीं बनना चाहती', निर्भया की मां ने फिल्‍म अभिनेत्री कंगना रनौत की बात का किया समर्थन

हाईकमान तक पहुंचा मामला
अनिल विज भले ही कैमरे पर इस बात को न स्वीकारें, लेकिन यह सच है कि सीआईडी से जुड़ा हुआ मामला अब पार्टी आलाकमान तक पहुंच गया है. सूत्र बता रहे हैं कि गृह विभाग के मुखिया होने के बावजूद भी कई आला पुलिस अधिकारी उनका कहना नहीं मानते. कहा तो यहां तक जा रहा है कि हरियाणा का खुफिया विभाग अनिल विज की ही सीआईडी कर रहा है. उनसे कौन मिलता है, वह किससे क्या कहते हैं सब पर नजर रखी जा रही है.

First Published: Jan 23, 2020 01:31:43 PM

न्यूज़ फीचर

वीडियो