सुषमा स्वराज के नाम पर होगा अंबाला बस अड्डे का नाम, यहीं शुरू हुआ था राजनीतिक सफर

News State Bureau  |   Updated On : January 25, 2020 12:52:29 PM
सुषमा स्वराज के नाम पर होगा अंबाला बस अड्डे का नाम, यहीं शुरू हुआ था राजनीतिक सफर

सुषमा स्वराज (Photo Credit : फाइल फोटो )

अंबाला:  

देश की पूर्व विदेश मंत्री और विश्व की प्रतिभाशाली महिलाओं में शुमार रहीं स्व. सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) के नाम पर अंबाला (Ambala) शहर का आधुनिक बस अड्डा पहचाना जाएगा. अंबाला शहर में ही सुषमा स्वराज ने अपने राजनीतिक सफर की शुरुआत की थी. 14 फरवरी को उनके जन्मदिन पर अंबाला शहर के स्थानीय बस अड्डे का नाम बदला जाएगा. राज्य के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने बताया कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इस प्रस्ताव को हरी झंडी दे दी है. इस मामले में अंबाला के स्थानीय विधायक असीम गोयल ने बस अड्डे का नाम सुषमा स्वराज के नाम पर रखने के लिए प्रदेश सरकार को चिट्ठी लिखी थी.

यह भी पढेंः निर्भया केसः अब जेल प्रशासन का बहाना बनाकर दोषी नहीं टाल पाएंगे फांसी, कोर्ट ने याचिका का किया निपटारा

अंबाला से शुरू किया था राजनीतिक सफर
सुषमा स्वराज ने अपने राजनीतिक सफर की शुरूआत 25 साल की उम्र में की थी. वह केवल 25 साल की उम्र हरियाणा की कैबिनेट मंत्री बन गई थी. वह दो बार 1977 और 1987 अंबाला की छावनी सीट से विधायक भी रहीं. सुषमा स्वराज जब 1977 में पहली बार पहली बार विधायक बनीं तो उनकी उम्र महज 25 साल थी. वह महज 27 साल की आयु में 1979 में जनता पार्टी की हरियाणा ईकाई की अध्यक्षा बनीं. हरियाणा में चौधरी देवीलाल सरकार में दो बार मंत्री रहीं सुषमा स्वराज ने 1985-86 के न्याय युद्ध आंदोलन में भी हिस्सेदारी की थी.

यह भी पढ़ेंः लोकसभा की पूर्व अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने CAA का विरोध करने वालों को करारा जवाब दिया

1990 में पहली बार बनी सांसद
सुषमा स्वराज को बीजेपी ने 1990 में राज्यसभा की सदस्या बनाकर संसद भेज दिया. वर्ष 1996 तक राज्यसभा सदस्या रहने के दौरान सुषमा स्वराज देश के सियासी पटल पर छा गईं. इससे बाद वह दक्षिण दिल्ली से चुनाव जीतकर सांसद बनीं. वर्ष 1996 में सुषमा स्वराज को अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में सूचना एवं प्रसारण मंत्री बनाया गया.

First Published: Jan 25, 2020 12:52:29 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो