भूख हड़ताल पर बैठी स्‍वाति मालीवाल ने पीएम नरेंद्र मोदी को लिखा मार्मिक पत्र, कही यह बड़ी बात

न्‍यूज स्‍टेट ब्‍यूरो  |   Updated On : December 14, 2019 03:13:49 PM
भूख हड़ताल पर बैठी स्‍वाति मालीवाल ने पीएम मोदी को लिखा मार्मिक पत्र

भूख हड़ताल पर बैठी स्‍वाति मालीवाल ने पीएम मोदी को लिखा मार्मिक पत्र (Photo Credit : ANI Twitter )

नई दिल्‍ली :  

महिलाओं से उत्‍पीड़न के खिलाफ सख्‍त कानून बनाने की मांग को लेकर भूख हड़ताल (Hunger Strike) पर बैठी दिल्‍ली महिला आयोग (DWC) की प्रमुख स्‍वाति मालीवाल (Swati Maliwal) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को मार्मिक पत्र लिखा है. पत्र में मालीवाल ने लिखा है, 'आज हमारी सैकड़ों बेटियों और बहनों की ज़िंदगी हर रोज़ बर्बाद हो रही है. मैं खुद अनिश्चितकालीन भूख पर हूँ और बलात्‍कारियों के खिलाफ सख्‍त सजा की मांग कर रही हूं.' स्‍वाति मालीवाल ने पत्र में आगे लिखा, 'आज मेरे अनिश्चितकालीन उपवास का 12वां दिन है. मैंने आपको पहले दिन भी खत लिखकर तत्काल कार्रवाई की मांग की थी. मुझे इस बात का गहरा दुख है कि ऐसे खतरनाक हालात और देश भर से उठ रही मांगों के बाद भी आपने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.'

यह भी पढ़ें : अब AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी ने नागरिकता कानून को सुप्रीम कोर्ट में दी चुनौती

एक दिन पहले तेज बारिश होने के चलते राजघाट स्‍थित स्वाति मालीवाल के अनशन स्‍थल लगे टेंट में पानी भर गया था. वॉलिंटियर्स ने किसी तरह स्वाति मालीवाल को पानी की टपकती बूंदों से बचाया. शुक्रवार को मेडिकल जांच में स्वाति का ब्लड प्रेशर 92/70, शुगर 67, वजन 57 और पल्स 90 रिकॉर्ड किया गया था.

डॉक्टरों के अनुसार, स्वाति का स्वास्थ्य दिनोंदिन बिगड़ रहा है. उन्होंने रात में मीडिया से बात करते हुए कहा था, पिछले साल जब भूख हड़ताल पर बैठी तो अनशन के 10वें दिन रेपिस्ट को 6 माह में फांसी देने का कानून बना था. इस बार वह अनशन पर बैठी, तो 10वें दिन देश में 1023 फास्ट ट्रैक कोर्ट बनाने की घोषणा की गई. स्‍वाति मालीवाल ने केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद की ओर से मुख्य न्यायाधीश समेत गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी को लिखे पत्र भी ट्विट किए.

यह भी पढ़ें : खाली प्लेट को निहारती नजर आईं दिशा पाटनी, फैंस से मिले जबरदस्त रिएक्शन

स्वाति का कहना है कि रेप के मामलों में दोषी को 6 माह में फांसी की सजा सुनाई जाए. जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं होंगी, वो अनशन नहीं तोड़ेंगी.

First Published: Dec 14, 2019 03:13:49 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो