BREAKING NEWS
  • हेलीकॉप्टर घोटाला: ईडी ने अदालत से राजीव सक्सेना की जमानत रद्द करने का किया अनुरोध- Read More »
  • चंद्रयान-2 समय पर लांच नहीं होने के बावजूद भी वैज्ञानिकों ने इसरो की तारीफ की, जानिए क्या है वजह- Read More »
  • साेते समय इन 16 बातों का अगर नहीं रखते ध्‍यान तो आपको बर्बाद होने से कोई नहीं बचा सकता - Read More »

दिल्ली के स्कूलों में CCTV लगाने के खिलाफ याचिका को SC ने किया खारिज

News State bureau  |   Updated On : July 13, 2019 07:51 AM
स्कूल में CCTV रोक से SC का इंकार

स्कूल में CCTV रोक से SC का इंकार

नई दिल्ली:  

दिल्ली के सरकारी स्कूलों में सीसीटीवी लगाए जाने के खिलाफ दाखिल याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने रोक लगाने से इंकार कर दिया है. चीफ जस्टिस दीपक गुप्ता और जस्टिस अनिरुद्ध बोस ने सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता को फिलहाल राहत देने से मना कर दिया है. इससे पहले कोर्ट ने दिल्ली सरकार को नोटिस जारी कर के जवाब दाखिल करने को कहा था. याचिकाकर्ता की तरफ से कहा गया है कि केजरीवाल सरकार फैसला मौलिक अधिकार और निजता के अधिकार का हनन करता है.

याचिका में ये भी कहा है कि स्कूलों के क्लासरूम में सीसीटीवी लगाने का फैसला किया गया है. जिससे लाइव फीड पैरेंट्स को मिलेगी, जो कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ है. कोर्ट ने अपने फैसले में निजता के अधिकार को मौलिक अधिकार माना है.

ये भी पढ़ें: अगर रहते है दिल्ली की संकरी गलियों में तो अपनाएं ये मेडिकल सुविधा

इसके साथ ही याचिक में ये बात भी कही गई है कि अगर सीसीटीवी की लाइव फीड किसी और को मिल गई तो इससे बच्चों की सुरक्षा को खतरा हो सकता है. साथ ही स्कूलों में लगे सीसीटीवी की वजह से लोगों की पहुंच क्लास रूम तक होगी. इससे बच्चे के साथ ही खास तौर पर बच्चियां और महिला टीचरों की सुरक्षा भी खतरे में आ सकती हैं.

याचिकाकर्ता ने ये ही कहा कि डाटा प्रोटेक्शन भी एक मुद्दा है क्योंकि अगर डाटा सुरक्षित नहीं होगा तो उसे हैक भी किया जा सकता है, जिस वजह से बच्चे और टीचरों की सुरक्षा खतरे में आ सकती है. इन सब बातों का ध्यान रखते हुए दिल्ली सरकार के 11 सितंबर 2017 में लिए स्कूलों में सीसीटीवी फुटेज लगाने के फैसले को खारिज किया जाए.

और पढ़ें: Delhi-NCR में मानसून ने दी दस्तक, गर्मी से लोगों को मिली राहत

कोर्ट के इस फैसले के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा , 'कुछ लोग शुरू से ही इस योजना में बाधा करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन कोर्ट ने स्कूलों में सीसीटीवी लगाने की योजना पर रोक से मना कर दिया है. अब सभी स्कूलों को इस दायरे में लाया जाएगा.'

इसके साथ ही उपमुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, 'आम आदमी पार्टी (AAP) सरकार के लिए शिक्षा सबसे बड़ी प्राथमकिताओं में से एक है. बच्चों की सुरक्षा और सिस्टम में पारदर्शिता को ध्यान में रखते हुए ही सरकार ने स्कूलों में सीसीटीवी लगाने का फैसला किया था.'

ये भी पढ़ें: फीस बकाया होने पर टीसी नहीं रोक सकते स्कूल : उच्च न्यायालय

बता दें स्कूलों में बच्चों के खिलाफ बढ़ते हिंसा को देखते हुए केजरीवाल सरकार ने क्लासरूम में सीसीटीवी लगाने का फैसला किया है. राज्य सरकार के इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई थी. इस याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली सरकार को नोटिस जारी कर जवाब दाखिल करने को कहा है.

First Published: Saturday, July 13, 2019 07:31 AM
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

RELATED TAG: Supreme Court, School, Cctv, Arvind Kejriwal, Delhi,

डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

अन्य ख़बरें

Newsstate Whatsapp

न्यूज़ फीचर

वीडियो

फोटो