निर्भया केस : फांसी का काउंटडाउन शुरू, हाई सिक्‍योरिटी में तिहाड़ पहुंचेगा पवन जल्लाद

News State Bureau  |   Updated On : January 29, 2020 07:40:09 AM
पवन जल्लाद

पवन जल्लाद (Photo Credit : फाइल फोटो )

नई दिल्ली :  

निर्भया के हत्यारों को फांसी पर टांगने के लिए काउंटडाउन शुरू हो गया है. तिहाड़ जेल में दोषियों को फांसी पर चढ़ाए जाने के लिए तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है. दोषियों को फांसी पर लटकाने के लिए पवन जल्लाद गुरुवार को तिहाड़ जेल पहुंच जाएगा. अब तक पूरी हुई कानूनी प्रक्रिया में अगर कोई बदलाव नहीं हुआ तो, एक फरवरी को सुबह छह बजे चारों मुजरिम फांसी के फंदे पर लटका दिए जाएंगे.

यह भी पढ़ेंः निर्भया के हत्‍यारों को लगा बड़ा झटका, फांसी से बचने की याचिका कोर्ट ने खारिज की

निर्भया के हत्यारों को फांसी कौन देगा? डेथ वारंट जारी होने के बाद से ही तिहाड़ जेल प्रशासन के सामने यह यह प्रश्न खड़ा था. इसका माकूल जबाब दिया उत्तर प्रदेश जेल महानिदेशालय ने. दिल्ली से सटे यूपी के मेरठ में रह रहे पवन जल्लाद के नाम पर अंतिम मुहर लगाकर. तिहाड़ जेल महानिदेशक संदीप गोयल ने इसकी पुष्टि की. संदीप गोयल ने कहा, "गुरुवार को सुबह पवन (जल्लाद) को मेरठ से तिहाड़ जेल ले आया जाएगा. सुरक्षा के मद्देनजर यह नहीं बताया जा सकता है कि पवन को कहां रखा जाएगा? हालांकि यह तय है कि पवन को दिल्ली पहुंचते ही सबसे पहले तिहाड़ जेल में स्थित फांसी घर में पहुंचाया जाएगा. ताकि वह इस बात से मुतमईन हो सके कि तिहाड़ जेल ने मुजरिमों को लटकवाने के लिए फांसी घर में जो इंतजाम किये हैं, वे दुरुस्त हैं."

यह भी पढ़ेंः निर्भया के दोषी मुकेश का गंभीर आरोप, तिहाड़ में अक्षय संग सेक्स को किया मजबूर

पवन को लेने जाएंगे 20 हथियारबंद पुलिसकर्मी
गुरुवार को तिहाड़ जेल ही मेरठ से पवन जल्लाद को लाने का इंतजाम करेगा. पवन जल्लाद मेरठ से दिल्ली किस रास्ते से किस वक्त और किसकी सुरक्षा में लाया जाएगा? इन तमाम सवालों का जबाब देने से, तिहाड़ जेल महानिदेशक ने सुरक्षा कारणों का हवाला देकर मना कर दिया. हालांकि दूसरी ओर सूत्र बताते हैं कि पवन जल्लाद को तिहाड़ जेल की मजबूत और बेहद सुरक्षित जेल-वैन में लाने के लिए कम से कम 15 से 20 हथियारबंद पुलिसकर्मी (दिल्ली पुलिस तीसरी वाहनी के जवान) जाएंगे.

यह भी पढ़ेंः निर्भया के गुनहगारों की सुरक्षा पर रोजाना खर्च हो रहे 50 हजार रुपये, 32 गार्ड दे रहे पहरा

जल्लाद को दिल्ली किस रास्ते से लाया जाएगा यह भी तय हो चुका है. हालांकि यह रास्ता ऐन टाइम पर बदले जाने की पूरी-पूरी संभावना है. इस संभावना से भी इंकार नहीं किया जा सकता है कि पवन जल्लाद को लाने के लिए दिल्ली पुलिस तीसरी वाहनी के साथ तिहाड़ की सुरक्षा में लगी तमिलनाडु स्पेशल पुलिस फोर्स के जवान भी भेज दिए जाएं. इस आशंका को इससे भी बल मिलता है कि दिल्ली पुलिस थर्ड बटालियन के कुछ जवान एक कुख्यात बदमाश को बीते साल लखनऊ के होटल में मौज-मस्ती कराते-बिरयानी खिलवाते हुए रंगे हाथ पकड़े गए थे. ऐसी भद्द पिटवा चुके पुलिस वालों पर कम के कम निर्भया के मुजरिमों को टांगने आने वाले जल्लाद को, लाने का पूरा-पूरा जिम्मा देना कहीं घातक साबित न हो जाए.

First Published: Jan 29, 2020 07:31:21 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो