दिल्ली-NCR बना गैस चैंबर, NASA की तस्वीरों में हुआ खुलासा, पढ़ें पूरी खबर

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : October 30, 2019 03:42:28 PM
दिल्ली (Delhi) और NCR में प्रदूषण

दिल्ली (Delhi) और NCR में प्रदूषण (Photo Credit : फाइल फोटो )

नई दिल्ली:  

राजधानी दिल्ली (Delhi) और NCR में प्रदूषण बढ़ने के साथ ही राजनीतिक दलों में आपस में आरोप और प्रत्यारोप का दौर भी शुरू हो चुका है. केजरीवाल सरकार ने प्रदूषण बढ़ने के लिए पड़ोसी राज्यों को जिम्मेदार ठहराया है. दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने राष्ट्रीय वैमानिकी और अंतरिक्ष प्रबंधन (National Aeronautics and Space Administration) के सैटेलाइट से जारी तस्वीरों के आधार पर हरियाणा (Haryana) और पंजाब (Punjab) में पराली जलाने की घटनाएं बढ़ने का दावा किया है.

यह भी पढ़ें: सोना खरीदने जा रहे हैं तो यह खबर जरूर पढ़ लें, नरेंद्र मोदी सरकार लाने जा रही है ये स्कीम

मंगलवार को 2,577 जगह पर जलाई गई पराली
दिल्ली सरकार ने कहा है कि हरियाणा और पंजाब में पराली जलाने की घटनाएं बढ़ गई हैं. सोमवार को 1,654 जगहों पर पराली गई और मंगलवार को यह बढ़कर 2,577 जगह हो गया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पराली जलाने की वजह से इस साल दिल्ली में प्रदूषण का स्तर सबसे ज्यादा दर्ज किया जा सकता है. उत्तर पश्चिम दिशा से हवा का बहाव जारी है, यही वजह है कि प्रदूषण के स्तर में काफी बढ़ोतरी हो गई है.

यह भी पढ़ें: Gold Silver Intraday Chart 30 Oct: टेक्निकल चार्ट पर आज सोने-चांदी में लग रही है मजबूती, अगले 2 हफ्ते भी तेजी के संकेत

वायु प्रदूषण बढ़ने से दिल्ली बनी गैस चैंबर
आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) के प्रवक्ता दिलीप पांडेय का कहना है कि पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने की घटनाओं में काफी बढ़ोतरी हुई है. यही वजह है कि राजधानी दिल्ली में प्रदूषण के स्तर में तीव्र वृद्धि हुई है और यह लगातार बढ़ रहा है. उनका कहना है कि पड़ोसी राज्य इस समस्या के समाधान के लिए प्रयास भी नहीं कर रहे हैं. वे सभी चुप बैठे हुए हैं. उनका कहना है कि वायु प्रदूषण बढ़ने की वजह से दिल्ली गैस चैंबर में तब्दील हो गई है.

यह भी पढ़ें: भारतीय अर्थव्यवस्था में सुस्ती पर मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) का बड़ा बयान

उनका कहना है कि पंजाब प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (पीपीसीबी) के आंकड़ों के मुताबिक पिछले साल 27 अक्टूबर तक पंजाब में पराली जलने की घटनाएं 9,600 दर्ज की गई थीं, जबकि इस साल यह आंकड़ा बढ़कर 12,027 हो गया है. जानकारी के मुताबिक 26 और 27 अक्टूबर को पराली जलाने के मामलों में सबसे ज्यादा घटनाएं सामने आई हैं. 26 अक्टूबर को 2,805 मामले दर्ज किए गए थे, 27 अक्टूबर को यह संख्या बढ़कर 2,231 हो गई है.

यह भी पढ़ें: RBI ने बंधन बैंक (Bandhan Bank) के ऊपर लगाया 1 करोड़ का जुर्माना, जानें वजह

दिल्ली में निगम ने 312 लोगों का चालान किया
दिल्ली में बढ़ रहे प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए निगम भी चौकन्ना हो गया है. निगम प्रदूषण की रोकथाम के लिए लगातार कार्रवाई कर रहा है. दिल्ली के तीनों नगर निगम प्रदूषण फैलाने वालों पर ज्यादा से ज्यादा जुर्माना लगा रहे हैं. आंकड़ों के मुताबिक सोमवार को निगम ने 312 लोगों का चालान किया है. दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने सबसे ज्यादा चालान किए हैं. दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने 184 लोगों पर कार्रवाई की है. उत्तरी दिल्ली नगर निगम में 113, पूर्वी दिल्ली नगर निगम ने 15 लोगों के खिलाफ चालान किया है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पंजाब, हरियाणा की सरकारों से अपील की है कि वे दिल्ली को गैस चैंबर बनने से बचाएं.

First Published: Oct 30, 2019 03:41:57 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो