Delhi Violence: NSA डोभाल पर दिल्ली के दंगे को कंट्रोल करने की जिम्मेदारी, अबतक मरने वालों की संख्या हुई 27| Updates

Bhasha  |   Updated On : February 26, 2020 11:52:19 PM
Delhi Violence: NSA डोभाल पर दिल्ली के दंगे को कंट्रोल करने की जिम्मेदारी, अबतक मरने वालों की संख्या हुई 27

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल (Ajit Doval) (Photo Credit : फाइल फोटो )

दिल्ली:  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल (Ajit Doval) को दंगा ग्रस्त उत्तर पूर्व दिल्ली में सामान्य स्थिति बहाल करने का जिम्मा दिया है. इन दंगों में 27 लोगों की मौत हो चुकी है. अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी. अधिकारियों के अनुसार यात्रा पर आए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के वापस रवाना होने के तत्काल बाद 75 वर्षीय डोभाल ने मंगलवार रात को दिल्ली पुलिस के आयुक्त अमूल्य पटनायक, नवनियुक्त विशेष आयुक्त एस एन श्रीवास्तव और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ दंगाग्रस्त क्षेत्रों का दौरा किया. कैबिनेट मंत्री का दर्जा प्राप्त डोभाल जाफराबाद और सीलमपुर समेत प्रभावित क्षेत्रों में गए, जहां उन्होंने पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक की और उन्हें जरूरी निर्देश दिए. उन्होंने तनाव कम करने के लिए विभिन्न समुदायों के नेताओं के साथ बैठक भी की.

यह भी पढ़ेंःउत्तर पूर्वी दिल्ली की स्थिति का जायजा लेने के बाद अमित शाह से मिले NSA अजित डोभाल, दंगा पर दी ये जानकारी

अधिकारियों के अनुसार, माना जा रहा है कि श्रीवास्तव का चयन डोभाल ने खुद किया. उन्होंने यह कदम अमेरिकी राष्ट्रपति की हाई प्रोफाइल यात्रा के दौरान राष्ट्रीय राजधानी में फैलती हिंसा पर नियंत्रण में विफल रहने को लेकर पटनायक की आलोचना के बाद उठाया. दिल्ली पुलिस केंद्रीय गृह मंत्रालय को रिपोर्ट करती है. अधिकारियों के अनुसार डोभाल ने सुबह प्रधानमंत्री की अगुवाई वाली सुरक्षा संबंधी मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीएस) के सामने स्थिति का मौके पर अपना विश्लेषण पेश किया और सांप्रदायिक दंगे की गिरफ्त में फंसे क्षेत्रों में हिंसा खत्म करने और स्थिति सामान्य करने के लिए उठाये गये कदमों के बारे में बताया.

सीसीएस में प्रधानमंत्री के अलावा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और विदेश मंत्री एस जयशंकर हैं. डोभाल फिर वरिष्ठ अधिकारियों के साथ प्रभावित क्षेत्रों में पहुंच गये. वहां उन्होंने स्थानीय लोगों से भेंट की और उन्हें आश्वस्त किया कि स्थिति नियंत्रण में है. अपने इस दौरे के दौरान डोभाल ने कहा कि वह मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के निर्देश पर आये हैं. उन्होंने कहा,‘‘ पुलिस जोर-शोर से काम कर रही है. सिर्फ कुछ अपराधी इसमें शामिल थे. लोगों को मुद्दों का समाधान करने का प्रयास करना चाहिये, न कि उसे बढ़ाने का. पहले घटनाएं हुईं, लेकिन आज शांति है. स्थानीय लोग शांति चाहते हैं. हमें पूरा विश्वास है कि शांति होगी.’’

यह भी पढ़ेंःमहबूबा मुफ्ती की PSA में नजरबंदी के खिलाफ याचिका पर HC ने जम्मू-कश्मीर प्रशासन से मांगा ये जवाब

डोभाल ने गृह मंत्री अमित शाह को दी दिल्ली की स्थिति की जानकारी

डोभाल बुधवार को गृह मंत्री अमित शाह को उत्तर पूर्वी दिल्ली के मौजूदा हालात के बारे में जानकारी देने के लिए दोपहर को नॉर्थ ब्लॉक लौटे. इस बैठक में केद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला, खुफिया ब्यूरो के प्रमुख अरविंद कुमार और पटनायक भी शामिल हुए. उत्तर पूर्व दिल्ली में तीन पहले शुरू हुई सांप्रदायिक हिंसा में 27 लोग मारे जा चुके हैं . जाफराबाद, मौजपुर, बाबरपुर, यमुना विहार, भजनपुरा, चांदबाग, शिवविहार दंगे से प्रभावित हुए हैं.

पूर्व खुफिया ब्यूरो प्रमुख डोभाल अपनी सीधी पहल के लिए जाने जाते हैं. उन्हें प्रधानमंत्री का विश्वस्त माना जाता है . पिछले साल अगस्त में जब अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को निरस्त किया था तब भी डोभाल एक पखवाड़े तक जम्मू कश्मीर में डेरा डाले रहे थे. 

First Published: Feb 26, 2020 10:39:56 PM

न्यूज़ फीचर

वीडियो