Delhi Violecne: सीलमपुर में दूसरी बार हुए दंगे विधायक रहमान मलिक ने करवाए!, ऐसे सामने आ रहा नाम| Highlights

Avneesh Chaudhary  |   Updated On : February 28, 2020 11:33:25 PM
delhi protest

सीलमपुर में दंगा (Photo Credit : फाइल फोटो )

नई दिल्ली:  

दिल्ली हिंसा (Delhi Violence) में अब शुक्रवार तक मरने वालों की संख्या 42 तक जा पहुंचीं है. सीलमपुर से आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक रहमान मलिक (MLA Rehman Malik) का नाम एक बार फिर दंगे फसाद में सामने आ रहा है. आरोप है कि बीती 25 फरवरी की तड़के सीलमपुर की ब्रह्मपुरी कॉलोनी, गली नंबर 13 में भड़के दंगे फसाद में पथराव और गोलीबारी करती भीड़ के बीच रहमान का साथी उस्मान भी नजर आ रहा है.

यह भी पढ़ें:वायु सेना की जरूरत के लिए राफेल जेट पर्याप्त नहीं, स्वेदश निर्मित हथियार लाएंगे बदलाव :भदौरिया

आरोप है कि उस्मान रहमान के साथ उनकी फेसबुक वॉल पर मौजूद फोटो में भी नजर आ रहा है. कॉलोनी के लोगों ने जब दंगे की सीसीटीवी फुटेज देखी तो उसमें उस्मान को देखकर पहचान गए. रहमान की वॉल से उसकी फोटो भी निकाल ली. आरोप लग रहे हैं कि ब्रह्मपुरी में मंदिर जलाने के लिए जो भीड़ आई थी, जिसने लोगों पर गोलीबारी की, पत्थर चलाए, गाड़ियां तोड़ी, दहशत फैलाई, उनकी अगुवाई रहमान का आदमी उस्मान कर रहा था.

बता दें कि इससे पहले भी 17 दिसंबर को सीलमपुर में हुई हिंसा के मामले में भी उस समय में आम आदमी पार्टी के निगम पार्षद रहमान मलिक पर दंगा भड़काने के आरोप में दिल्ली पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया था. अब दूसरी बार जो दंगा फसाद हुआ है, उसमें गोलियां चलाकर हत्या की भी कोशिश की गई है. अगर उसमें भी मौजूदा विधायक रहमान मलिक का नाम सामने आता है तो प्रथम दृष्टया आरोप साबित होने पर उनके खिलाफ संगीन धाराओं में केस दर्ज हो सकता है. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी का कहना है कि अभी वह दंगा फसाद पर काबू पाने में जुटे हैं. साथ ही जांच की जा रही है. रहमान मलिक का नाम सामने आता है तो निश्चित तौर पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

यह भी पढ़ें:कन्हैया कुमार पर चलेगा देशद्रोह का केस, केजरीवाल सरकार ने स्पेशल सेल को दी मंजूरी

धर्मपुरी गली नंबर 13 के निवासी पंडित शंकरलाल का आरोप है कि 25 फरवरी की सुबह 3:00 बजे कॉलोनी के लोग सुरक्षा के लिए जगे हुए थे, माहौल तनावपूर्ण था. ऐसे में दंगाइयों की भीड़ उनकी गली के मंदिर को नुकसान पहुंचाने के लिए आगे बढ़ी. यहां के लोगों ने उन्हें रोकने की कोशिश की तो दंगाइयों कि भीड़ ने पथराव किया, गाड़ियां तोड़ी और सामने से कई राउंड फायरिंग की. इस गोलीबारी में श्याम, एडवोकेट भव्य और एक तीसरा युवक घायल हुए. अब कॉलोनी में दहशत है,. यहां एक ही गली में दोनों पक्षों के लोग बड़ी संख्या में रहते हैं. कभी भी तनाव फैलने के आसार हैं.

सीसीटीवी में विधायक रहमान के साथ उस्मान भी नजर आए

दंगे की सीसीटीवी फुटेज चेक की तो उन्हें उस्मान नजर आया, जो रहमान विधायक का साथी है. रहमान विधायक की फेसबुक वॉल चेक की तो उस पर उस्मान की फोटो भी मिल गई. सीसीटीवी फुटेज में 2:46 की फुटेज में वही उस्मान नजर आ रहा है जो रहमान की फेसबुक वॉल पर मौजूद फोटोग्राफ में उनके साथ खड़ा है. 2:50 और 2:51 की फुटेज पर एक शख्स पिस्टल से गोलियां चलाता भी नजर आ रहा है.

दिल्ली में हालात अभी भी तनाव ग्रस्त

आपको बता दें कि इसके पहले गुरुवार को दिल्ली के गोकुलपुरी में दो लाशें बरामद की गई थीं. ये दोनों लाशें नाले से बरामद की गई थीं. इससे पहले आईबी कर्मी अकिंत शर्मा का शव भी चांदबाग में नाले से मिला था. गुरुवार को मौजपुर इलाके में सुरक्षाबलों ने मार्च किया था जबकि सीलमपुर, जाफराबाद, बाबरपुर में एहतियातन भारी सुरक्षाबलों की तैनाती की गई थी. वहीं, दिल्ली में हालात अभी भी काफी तनाव ग्रस्त हैं जिसको देखते हुए सीबीएसई बोर्ड ने नार्थ ईस्ट दिल्ली में करीब 80 परीक्षा केंद्रों की परीक्षाएं टाल दी हैं.

First Published: Feb 28, 2020 11:27:11 PM

न्यूज़ फीचर

वीडियो