Delhi Fire: अनाज मंडी में लगी भयानक आग, 45 की मौत, मकान मालिक रेहान को किया गिरफ्तार

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : December 08, 2019 11:23:22 PM
दिल्ली: घर में लगी भयानक आग

दिल्ली: घर में लगी भयानक आग (Photo Credit : फाइल फोटो )

ख़ास बातें

  •  दिल्ली के अनाज मंडी में 6 मंजिला फैक्ट्री में लगी भयानक आग. 
  •  इस आग में कम से कम 43 लोगों के मौत की पुष्टि दिल्ली पुलिस ने की है.
  •  पीएम मोदी ने भी घटना पर दु:ख जताया है.

नई दिल्ली:  

Delhi Fire: दिल्ली (Delhi) के अनाज मंडी (Anaj Mandi) के पास फिल्मिस्तान इलाके में तड़के सुबह एक स्कूल बैग बनाने और पैकेजिंग फैक्ट्री में भयानक आग लग गई. 27 फायर टेंडर (Fire Brigade) ने मौके पर पहुंचकर आग पर काबू पाया. बताया जा रहा है कि आग बैग बनाने के लिए रखे फोम वगैरह के वजह से ज्यादा फैल गई. इस हादसे में 45 लोगों को अपनी जान गवानी पड़ी है. इस अग्निकांड में 65 लोगों के झुलसने की बात कही जा रही है. फारेंसिक टीम ने मौके पर पहुंच कर जांच की.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री और चांदनी चौक से बीजेपी सांसद हर्षवर्धन ने दिल्ली में हुए अग्निकांड का दौरा किया. उन्होंने कहा कि आज जो कुछ भी हुआ वह बहुत ही दर्दनाक हुआ है. उन्होंने कहा कि वे अब घायलों से मिलने लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल जा रहे हैं. घायलों को अच्छा इलाज की सुविधा मिले इसके लिए सरकार हरसंभव प्रयास करेगी.

वहीं स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने LNJP अस्पताल का दौरा किया. उन्होंने घायलों से मिले और हरसंभव मदद देने का आश्वासन दिया. डीसीपी नार्थ मोनिका भारद्वाज ने कहा कि रेहान और उसके मैनेजर को गिरफ्तार किया है. देखा जा रहा है कि किसे बिल्डिंग किराए पर दी गई थी. उनकी तलाश की जा रही है. 

Cm Arvind Kejariwal मौके पर पहुंचे. सीएम ने मौके का निरिक्षण किया और घटना पर दु:ख जताया. साथ ही दिल्ली सरकार ने इस अग्निकांड की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिये हैं और 7 दिनों में रिपोर्ट तलब की है. साथ ही अरविंद केजरीवाल ने मृतकों को 10-10 लाख रुपये जबकि घायलों को 1-1 लाख रुपये देने का वादा किया. साथ ही घायलों का इलाज भी मुफ्त में किया जाएगा. सीएम केजरीवाल के अलावा मनोज तिवारी, हरदीप पुरी और अनुराग ठाकुर मौके पर पहुंचे.

जबकि पीएम मोदी ने भी प्रधानमंत्री रिलीफ फंड से मृतकों को 2-2 लाख रुपये और गंभीर रुप से घायलों को 50000-50000 रुपये देने की घोषणा की है. इस मामले में मृतकों को कुल 17 लाख रुपये की सहायता राशि मिलेगी. जिसमें से 2 लाख रुपये पीएम रिलीफ फंड से मिलेंगे, 5 लाख रुपये दिल्ली बीजेपी दे रही है जबकि 10 लाख रुपये केजरीवाल सरकार दे रही है. 

वहीं जिस मकान में आग लगी है, उसके मकान मालिक के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है. भारतीय दंड संहिता के धारा 304 के अंतर्गत केस दर्ज किया गया है. वह अभी फरार चल रहा है. मकान मालिक रेहान की पुलिस को तलाश है. उसके दो भाइयों की भी जांच की जा रही है. इसकी सपोर्ट में सारे फैक्ट्री मालिक मीडिया के खिलाफ हैं. पत्रकारों के साथ मिस बिहेव किया जा रहा है. अनाज मंडी इलाके में घुसने नहीं दे रहे हैं.

आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने दिल्ली अग्निकांड पर बयान दिया है. उन्होंने कहा कि अगर फैक्ट्री अवैध रूप से घर पर चल रही थी, तो इसको बंद कराने की जिम्मेदारी दिल्ली नगर निगम की थी. उन्होंने एमसीडी से सवाल किया कि उन्होंने कैसे फैक्ट्री चलाने की अनुमति दे दी. दिल्ली आग सेवा ने इसके लिए स्पष्ट कहा है कि उन्होंने फैक्ट्री को नो ओब्जेक्शन सर्टिफिकेट नहीं दिया है.

  वहीं इस अग्निकांड में मोहम्मद कासिम और रुकसाना की फैमिली के 11 लोगों की मौत हो गई है. यह परिवार बिहार के सहारसा के रहने वाला है.  

घायलों का RML, हिंदू राव, LNJP अस्पताल में इलाज के लिए ले जाया गया है. सूत्रों के मुताबिक ये फैक्ट्री एक 6 मंजिला इमारत में चल रही थी. ज्वाइंट कमिश्नर ऑफ पुलिस राजेश खुराना मौके पर पहुंच गए हैं. जबकि रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए NDRF की टीम को बुलाया गया है. 

यह भी पढ़ें: 43 लोगों का काल बनी फैक्ट्री के पास नहीं थी एनओसी! जानें क्या कहता है कानून

घटना में रेस्क्यू ऑपरेशन करने के लिए  NDRF की टीम को मौके पर बुलाया गया.

लोकनायक हॉस्पिटल के मेडिकल डॉयरेक्टर किशोर सिंह ने बताया है कि अनाजमंडी अग्निकांड में मौत ज्यादातर मौत दम घुटने और सांस न ले पाने के कारण हुई थी.

Delhi Police के मुताबिक इस घटना में मौत का आंकडा 43 तक जा पहुंचा है.

जबकि इसके पहले न्यूज एजेंसी एएनआई ने बताया था कि इस अग्निकांड में 32 लोगों की मौत हुई है. 

यह भी पढ़ें: नहीं थम रहा राजधानी में आग की घटनाएं, दिल्ली में संकरी गलियां बन रहीं है लोगों के मौत का कारण

बताया जा रहा है कि अभी तक रेस्क्यू टीम ने करीब 50 लोगों को बचाया है जिसमें से ज्यादातर की हालत धुएं की वजह से बिगड़ गई थी.

इसी के साथ दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने घायलों को 1-1 लाख रुपये और मृतकों को 10-10 लाख रुपये देने का वादा किया है. साथ ही घायलों का इलाज भी मुफ्त में किया जाएगा.

वहीं पीएम मोदी ने भी प्रधानमंत्री रिलीफ फंड से मृतकों को 2-2 लाख रुपये और गंभीर रुप से घायलों को 50000-50000 रुपये देने की घोषणा की है. 

सूत्रों के अनुसार, पुलिस ने मकान मालिक की तलाश में छापेमारी की लेकिन मकान मालिक मौके से फरार है लेकिन पुलिस ने मकान मालिक के भाई को हिरासत में ले लिया है. पुलिस ने मकान मालिक रिहान को हिरासत में ले लिया. सूत्रों के मुताबिक, ये फैक्ट्री मकान मालिक के तीन भतीजे चलाते थे.  

इस घटना में फायर ब्रिगेड कर्मचारी मुनिराम को भी चोट लग गई है. घायल कर्मचारी को लेकर विभाग के लोग एलएनजेपी अस्पताल पहुंचे हैं. फायर ब्रिगेड कर्मचारी को रेस्क्यू के समय चोट लगी थी.

दिल्ली पुलिस के डीएसपी, मोनिका भारद्वाज ने बताया कि दिल्ली अग्निकांड में फैक्ट्री के मालिक पर 304 आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है. मकान मालिक फरार है.

घटना के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल घायलों को देखने के लिए अस्पताल भी गए.

Aditya Pratap Singh, Deputy Commandant of NDRF ( National Disaster Response Force) ने बताया कि अभी भी रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है और इमारत में घायलों को खोजा जा रहा है.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी दिल्ली अनाजमंड़ी में लगे आग में अपनी जान गंवाने वाले बिहार के लोगों के लिए 2-2 लाख रुपये की सहायता राशि प्रदान करने की बात कही. 

बीजेपी के सांसद मनोज तिवारी ने इस मामले पर कहा कि ये काफी दुखद हादसा था. उन्होंने बताया कि ये आग शार्ट सर्किट के वजह से लगी. उन्होंने दिल्ली बीजेपी की तरफ से 5-5 लाख रुपये मृतकों को जबकि घायलों को 25-25 हजार रुपये की सहायता देने की बात कही है. 

Delhi के चीफ फायर ऑफिसर, अतुल गर्ग ने बताया कि बिल्डिंग को फायर क्लियरेंस नहीं किया गया था और बिल्डिंग में आग से बचने का कोई भी उपकरण नहीं था.

केंद्रीय मंत्री और चांदनी चौक से बीजेपी सांसद ने फिल्मिस्तान में लगी आग पर दुख जताया. बता दें कि डॉ. हर्षवर्धन की parliamentary constituency में आग की घटना ने 45 लोगों की जान गई. 

यह भी पढ़ें: अनाज मंडी अग्निकांडः राष्ट्रपति और PM मोदी ने ट्वीट कर जताई संवेदना

घटना पर लोगों ने जताया दु:ख

इस घटना पर लोगों की संवेदनाएं आने का सिलसिला भी शुरू हो गया है. सीएम अरविंद केजरीवाल और गृहमंत्री अमित शाह ने घटना पर दु:ख जताया है. CM Arvind Kejariwal ने ट्वीट कर कहा है कि 

इसी के साथ गृहमंत्री अमित शाह ने दुख जताते हुए सभी संबंधित विभागों को तुरंत सारी सुविधाएं उपलब्ध कराने का निर्देश किया है. 

यह भी पढ़ें: कानपुर में दुष्कर्म पीड़िता ने खुदकुशी की, आरोपियों ने कथित तौर पर दी थी धमकी

दिल्ली सरकार के मंत्री इमरान हुसैन ने दिल्ली अग्निकांड पर कहा है कि ये बहुत ही दुखद दुर्घटना है. उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच की जाएगी और जो भी जिम्मेदार होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. 

पीएम नरेंद्र मोदी ने अनाजमंड़ी अग्निकांड पर दु:ख जताते हुए कहा है कि घटना बेहद दुखद है. पीएम ने इस घटना में अपनी जान गंवाने वाले लोगों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त की हैं. इसी के साथ उन्होंने सभी विभागों से तुरंत हरसंभव मदद की अपील भी की.

अनाजमंडी अंग्निकांड पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी दुख जाताया है. राष्ट्रपति कोविंद ने अपने ट्वीट में लिखा कि-दिल्ली की अनाज मंडी में आग लगने की दुखद खबर सुनकर बहुत पीड़ा हुई है.

यह भी पढ़ें: अब मेरठ की जूनियर डॉक्टर से विभागाध्यक्ष ने की छेड़छाड़, निलंबन की मांग पर डॉक्टर धरने पर

ये थी हादसे की वजह

बताया जा रहा है कि आग लगने की वजह शार्ट सर्किट रही. सुबह करीब 5.15 पर फैक्ट्री में आग लगी. इस फैक्ट्री में काम करने के बाद कर्मचारी या मजदूर वहीं रहा भी करते थे. आग लगते वक्त काफी भारी मात्रा में गत्ता या फोम वगैरह फैक्ट्री में ऱखा था जिससे आग ने काफी भयावह रूप ले लिया. आग लगने के बाद मौके पर मौजूद कर्मचारी इमारत से बाहर नहीं निकल पाए इसलिए इस हादसे में करीब 43 लोगों की जान चली गई.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, आज सुबह अचानक आग लगने से धुंआ उठता देखा गया जिसकी जानकारी पुलिस और फायर ब्रिगेड को दी गई. रेस्क्यू टीम घटनास्थल पर चला रही ऑपरेशन.

लेटेस्ट अपडेट के अनुसार, करीब 22 लोगों को बचाया जा चुका है जबकि करीब 15 और फायर ब्रिगेड की गाड़ियों को बुलाया गया है यानी कि अब घटनास्थल पर करीब 30 फायर ब्रिगेड की गाड़ियां मौजूद हैं. जबकि सबसे पहले रेस्क्यू टीम ने 11 लोगों को घर से बाहर निकाला था. 

यह भी पढ़ें: देश की न्यायिक प्रक्रिया गरीबों की पहुंच से बाहर हुई, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी माना

Sunil Choudhary, Deputy Chief Fire Officer,ने रानी झाँसी रोड पर लगी आग के बारे में बताया कि आग पर काबू पा लिया गया है,अब तक 15 लोगों को बचाया गया. ऑपरेशन में  27 फायर टेंडर ऑपरेशन में जुटे थे.

बता दें कि दिल्ली में हुए अब तक के अग्निकांडों में ये दूसरी सबसे बड़ी घटना है. दिल्ली पुलिस और फायर ब्रिगेड को इस आग पर काबू करने और इसके बाद रेस्क्यू ऑपरेशन में सबसे ज्यादा मशक्कत करनी पड़ी.

First Published: Dec 08, 2019 07:51:35 AM
Post Comment (+)

LiveScore Live Scores & Results

न्यूज़ फीचर

वीडियो