'एक समुदाय बच्चों को कुरान के साथ साइंस-तकनीक पढ़ाने पर जोर देगा तो घर से अफजल नहीं, कलाम निकलेगा'

dalchand  |   Updated On : January 24, 2020 02:58:02 PM
'एक समुदाय बच्चों को कुरान के साथ साइंस-तकनीक पढ़ाने पर जोर दे तो घर से अफजल नहीं, कलाम निकलेगा'

बिना नाम लिए मुस्लिम समुदाय पर सुशील कुमार मोदी ने बड़ा बयान दिया (Photo Credit : फाइल फोटो )

पटना:  

देश में नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के साथ राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (NPR) का भी जमकर विरोध हो रहा है. राजनीतिक दलों के साथ जनता भी मोदी सरकार (Modi Govt) के खिलाफ धरने-प्रदर्शन कर रही है. एनपीआर को विपक्षी दल एनआरसी (NRC) का ही छद्म रूप बता रहे हैं. ऐसे में एनपीआर पर सवाल उठाने वाले दलों पर बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) ने हमला बोला है. इसके साथ ही उन्होंने मुस्लिम समुदाय पर बिना नाम लिए बड़ा बयान दिया है.

यह भी पढ़ेंः लालू यादव के खिलाफ पटना में लगे पोस्टर, लूट-झूठ Express के जवाब में Corruption मेल

बीजेपी नेता सुशील मोदी ने ट्वीट कर कहा,'जिस समुदाय के ज्यादातर बच्चों को मजहबी तालीम तक सीमित रख कर उनके लिए करियर के मौके कम कर दिए गए, कट्टरता को बढ़ावा दिया गया और बहुत दिनों तक उन्हें यह झूठ बताया जाता रहा कि पोलियो की खुराक पिलाने से नपुंसकता होती है, उसी समुदाय को अब नागरिकता कानून, जनगणना और एनपीआर के खिलाफ भड़काकर राजनीतिक रोटी सेंकी जा रही हैं.'

उप-मुख्यमंत्री ने आगे लिखा, 'जिस दिन यह समुदाय बच्चों को कुरान के साथ साइंस, तकनीक पढ़ाने पर जोर देने लगेगा और विकास की मुख्यधारा में शामिल हो जाएगा, उनके घर से अफजल नहीं, कलाम निकलेगा.' डिप्टी सीएम ने कहा कि महागठबंधन को डर है कि तब इनकी राजनीतिक दुकानें बंद हो जाएंगी.

यह भी पढ़ेंः नीतीश के नेताओं को अपनी पार्टी की विचारधारा मालूम नहीं, तेजस्वी यादव ने कसा तंज

इससे पहले सुशील मोदी ने ट्वीट में लिखा, 'केंद्र सरकार ने बार-बार स्पष्ट किया है कि जनगणना हर दस साल पर होने वाली रुटीन प्रक्रिया है और इसके लिए कोई दस्तावेज या सबूत नहीं मांगा जाएगा, फिर भी कांग्रेस और राजद दुष्प्रचार कर एक समुदाय को गुमराह कर जनगणना को विफल करना चाहते हैं. वे सरकार को गरीबों-दलितों के कल्याण की योजनाएं बनाने से रोकने के लिए जनगणना और एनपीआर का विरोध कर रहे हैं.'

यह वीडियो देखेंः

First Published: Jan 24, 2020 02:58:02 PM

न्यूज़ फीचर

वीडियो