नीतीश का प्रशासन देख रहा शिक्षा मुक्त बिहार का सपना? RJD नेता ने शेयर किया पोस्टर

dalchand  |   Updated On : January 20, 2020 02:04:31 PM
नीतीश का प्रशासन देख रहा शिक्षा मुक्त बिहार का सपना? RJD नेता ने शेयर किया पोस्टर

नीतीश का प्रशासन देख रहा शिक्षा मुक्त बिहार का सपना? (Photo Credit : Twitter )

पटना:  

बिहार (Bihar) में 'जल-जीवन-हरियाली' अभियान के साथ बाल विवाह रोकथाम और दहेज प्रथा उन्मूलन को लेकर जागरूकता अभियान के तहत रविवार को पूरे राज्य में 5 करेाड़ से ज्यादा लोगों ने एक दूसरे का हाथ पकड़कर मानव श्रृंखला (Human Chain) बनाई. लेकिन नीतीश कुमार का प्रशासन बाल विवाह मुक्त बिहार के साथ-साथ शिक्षित मुक्त बिहार के सपने भी देख रहा है. यह हम कह रहे नहीं बल्कि, बेगूसराय (Begusarai) का जिला सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा लगाए गए पोस्टर में कहा गया है. इस पोस्टर को राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के प्रदेश उपाध्यक्ष तनवीर हसन से सोशल मीडिया पर शेयर किया है.

यह भी पढ़ेंः कांग्रेस-आरजेडी के 5 विधायकों ने दिखाए बागी तेवर, नीतीश सरकार के कार्यक्रम में भाग लिया

राजद नेता तनवीर हसन ने ट्विटर पर पोस्टर शेयर करते हुए नीतीश सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है, 'जी बिल्कुल, शिक्षा मुक्त बिहार बनाना तो नीतीश कुमार का सपना है ही. शिक्षित समाज तो उनके तथाकथित विकासपुरुष वाले छवि को एक क्षण में बेनकाब कर देगा. नीतीश कुमार के अफसरों ने अनजाने में नीतीश कुमार की असलियत दुनिया के सामने रख डाली. शुक्रिया जन-सम्पर्क कार्यालय बेगूसराय.'

यह भी पढ़ेंः दिल्ली के विधानसभा चुनाव में 3 दल बिहार की 'झा तिकड़ी' के हवाले!

तनवीर हसन ने जो पोस्टर शेयर किया है उसके मुताबिक, इसे महिला विकास निगम, समाज कल्याण विभाग बिहार सरकार और जिला सूचना एवं जनसंपर्क विभाग, बेगूसराय की ओर से जनहित में जारी किया है. पोस्टर में सबसे ऊपर लिखा है- 'बिटिया मेरी अभी पढ़ेंगी, बाल विवाह की सूली नहीं चढ़ेगी.' इसके नीचे लिखा है- '21 साल से कम उम्र के लड़के और 18 साल से कम उम्र की लड़कियों की शादी बाल विवाह है और यह कानूनन अपराध है.' इसके साथ ही पोस्टर में आगे लिखा है, 'हम सब का है एक सपना, शिक्षित और बाल विवाह मुक्त बिहार हो अपना.'

First Published: Jan 20, 2020 02:04:31 PM

न्यूज़ फीचर

वीडियो