अश्लील गानों पर डांस, नशा देकर नींद में रेप...CBI चार्जशीट में सामने आई मुजफ्फरपुर शेल्टर होम की हैवानियत

News State Bureau  |   Updated On : January 08, 2019 02:43:56 PM
मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस : अश्लील गानों पर डांस, नींद में रेप- CBI चार्जशीट में सामने आई हैवानियत

मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम यौन शोषण मामले में सोमवार (7 जनवरी) को सीबीआई (CBI) ने चार्जशीट पेश किया. सीबीआई ने ब्रजेश ठाकुर और उसके सहयोगियों के राज खोलते हुए 400 पन्नों का चार्जशीट कोर्ट में पेश किया. चार्जशीट में जो सामने आया है वो बेहद ही खौफनाक है. चार्जशीट के मुताबिक वहां छोटी-छोटी बच्चियों से महफिल सजाया जाता था. ब्रजेश ठाकुर, बालिका गृह के स्टाफ और सीडब्ल्यूसी (CWC) के सदस्यों के साथ महफिल सजा कर वहां रहने वाली बच्चियों को छोटे-छोटे कपड़े पहना कर अश्लील भोजपुरी गानों पर डांस कराई जाती थी. इतना ही नहीं जब बच्चियां डांस करने से इंकार करती तो उन्हें पिटा जाता और खाना नहीं दिया जाता था.

इसे भी पढ़ें : मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस : सुप्रीम कोर्ट ने ब्रजेश ठाकुर का मेडिकल टेस्ट कराने का दिया आदेश

चार्जशीट में यह कहा गया है कि बच्चियों को कुर्सी पर बांधकर ब्लू फिल्म दिखाया जाता था और फिर दरिंदगी की हदें पार की जाती थी. उन्हें नशे की दवा देकर हवस का शिकार बनाया जाता था. इतना ही नहीं बच्चियों को शेल्टरहोम के बाहर भी भेजा जाता था.

33 किशोरियों समेत 102 लोगों के बयान के आधार पर सीबीआई ने चार्जशीट बनाया है. पुलिस चार्जशीट के आधार पर ही सीबीआई चार्जशीट भी कोर्ट में दाखिल की गई है.

और पढ़ें : आजम खान ने कहा, आरक्षण विधेयक से मुसलमानों को लाभ नहीं मिला तो इसका कोई मतलब नहीं

ब्रजेश ठाकुर को शेल्टरहोम का कर्ताधर्ता बताया गया है और यहां होने वाली सभी कुकर्मों का साजिशकर्ता बताते हुए चार्जशीट दाखिल किया गया है. 29 लड़कियों ने यौन हिंसा और मारपीट का आरोप लगाया है. वहीं कुछ लड़कियों ने ब्रजेश ठाकुर पर 3 लड़कियों के हत्या का आरोप भी लगाया है.

शाइस्ता परवीन उर्फ मधु पर लड़कियों को सेक्स शिक्षा देने का आरोप 
चार्जशीट में बताया गया है कि शाइस्ता परवीन उर्फ मधु जो ब्रजेश ठाकुर की मुख्य राजदार है और एनजीओ सेवा संकल्प एवं विकास समिति के कार्यों को मैनेज करना और वहां रहने वाली बच्चियों को सेक्स शिक्षा देने का काम करती थी. जो लड़कियां इस काम से इंकार करती तो उसे नमक रोटी दिया जाता था और जो मान जाती थी उसे मधु अच्छा खाना देती थी.

दिलीप कुमार पर रेप का आरोप
बालकल्याण समिति के अध्यक्ष दिलीप कुमार वर्मा का नाम भी चार्जशीट में शामिल है. बच्चियों ने इसकी पहचान फोटो से की है. उन्होंने दिलीप को ब्रजेश का खास आदमी बताया. इसके साथ ही उस पर आरोप लगाया कि नशे की गोली देकर लड़कियों के साथ यौन उत्पीड़न करता था.

रवि कुमार रौशन बच्चियों से कराता था अश्लील डांस
बाल संरक्षण पदाधिकारी रवि कुमार रौशन पर छोटे कपड़े पहनवाकर जबरदस्ती डांस कराने का बच्चियों ने आरोप लगाया है इसके साथ ही रेप का भी आरोप लगाया है.

डॉ प्रमिला ने मामले को दबाने की कोशिश की
बलिकागृह में लड़कियों के स्वास्थ जांच करने जाने पर लड़कियों द्वारा बलात्कार कि बात बताने पर उसे दवा देकर मामले को दबाने का आरोप डॉ प्रमिला पर लगाया गया है.

रामशंकर उर्फ मास्टर साहब पर दुष्कर्म और पिटाई का आरोप
रामशंकर ब्रजेश ठाकुर का मैनेजर था. लड़कियों ने उसे गंदा आदमी बताया और दुष्कर्म और पिटाई का आरोप लगाया है.

डॉ अश्विन उर्फ आसमानी पर लगा आरोप
लड़कियों ने इलाज के दौरान सारे कपड़े उतरवा कर इलाज करवाने का आरोप डॉ अश्विन उर्फ आसमानी पर लगाया है.

विजय, गुड्डू और कृष्णा पर भी आरोप
विजय, गुड्डू और कृष्णा ये सभी ब्रजेश ठाकुर का नौकर हैं. इनपर लड़कियों से दुष्कर्म और मारपीट का आरोप लगाया है.

इनपर भी लगा आरोप
इंदु कुमारी ,मीनू देवी, मंजू देवी, चंदा देवी, नेहा कुमारी हेमा मसीह और किरण कुमारी सभी शेल्टर होम के कर्मचारी थी. इनसभी पर नशीली दवा देकर मारपीट करने और रेप में सहयोग करने का आरोप लगाया है.

बलिकागृह मामले में सीबीआई के द्वारा दायर चार्जशीट में सभी 21 आरोपियों पर धारा 323, 325, 341, 354, 376C समेत 34 एवं पोक्सो एक्ट 2012 की धारा 04, 06, 08, 10, 12 और 17 के तहत आरोपित किया गया है.

First Published: Jan 08, 2019 02:05:52 PM

न्यूज़ फीचर

वीडियो