प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जेडीयू नेता ने दी चुनौती- देश को हिन्दू राष्ट्र घोषित करें

डालचंद  |   Updated On : December 05, 2019 01:39:49 PM
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Photo Credit : फाइल फोटो )

नई दिल्ली:  

बिहार में बीजेपी के समर्थन से सरकार चला रही जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के एक नेता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनौती दी है. नागरिकता संशोधन बिल को केंद्रीय कैबिनेट द्वारा मंजूरी दिए जाने पर जेडीयू नेता अजय आलोक ने कहा है कि अब भारतीय जनता पार्टी को चाहिए कि वह भारत को हिन्दू राष्ट्र घोषित कर दे. उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि सरकार बिल पास करे और सारा झंझट खत्म हो जाएगा. दरअसल, बुधवार को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने नागरिकता संशोधन विधेयक को मंजूरी दी. इसमें बांग्लादेश, अफगानिस्तान और पाकिस्तान से शरणार्थी के तौर पर आए उन गैर मुसलमानों को नागरिकता प्रदान करने का प्रावधान है, जिन्हें धार्मिक उत्पीड़न का सामना करना पड़ा हो.

यह भी पढ़ेंः नरसिम्‍हा राव के पोते एनवी सुभाष ने मनमोहन सिंह के बयान को खारिज किया, कही ये बड़ी बात

माना जा रहा है कि 1955 के नागरिकता अधिनियम को संशोधन करने वाले इस विधेयक को संसद के शीतकालीन सत्र में पेश किया जा सकता है. हालांकि कई विपक्षी दल इसका विरोध कर रहे हैं. इस पर जेडीयू नेता अजय आलोक ने ट्वीट कर कहा, 'नागरिकता संशोधन बिल अब लोकसभा में पेश होगा. देखना ये होगा कि कौन इसका विरोध करते हैं और क्यों? अगर इस्लामिक या ईसाई देशों के अल्पसंख्यक हिंदू, पारसी, सिख और जैन बौधों को हम नहीं लेंगे तो कौन लेगा ? चांद पर भेजोगे उनको.' असदुद्दीन ओवैशी और शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे को टैग करते हुए उन्होंने लिखा, 'सारा हिन्दू प्रेम खत्म?'

 अजय कुमार ने दूसरे ट्वीट में लिखा, 'जब हामिद अंसारी कहते हैं, मुसलमान भारत में सुरक्षित नहीं हैं तो हां में हां मिलाते हो. अब नागरिकता बिल में अफगान, पाकिस्तान और बांग्लादेश के मुसलमानों को नहीं शामिल किया तो सीना क्यों फट रहा है? ये सांप्रदायिक कैसे हो गया?' जेडीयू नेता ने भारत में अल्पसंख्यकों पर कोई धार्मिक उत्पीड़न नहीं होने का भी दावा किया.

एक अन्य ट्वीट में अजय कुमार ने कहा, 'अब अगर बीजेपी को बहुमत है तो इस देश को हिंदू राष्ट्र घोषित करे. बिल पास करे, सारा झंझट खत्म. सेक्युलर शब्द संविधान में बाबा साहब ने नहीं दिया था और ये काम भी नरेंद्र मोदी जी ही करेंगे. एक बार हिंदू राष्ट्र हो गया तो किस पार्टी की औकात होगी की इसे बदल दे?'

यह भी पढ़ेंः पश्‍चिम बंगाल में ममता बनर्जी सरकार के खिलाफ धरने पर बैठे राज्‍यपाल जगदीप धनकर

गौरतलब है कि विपक्षी दलों ने नागरिकता संशोधन विधेयक को 'असंवैधानिक' बताया है.  कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, माकपा और कुछ अन्य राजनीतिक दल इस विधेयक का विरोध कर रहे हैं और उनका दावा है कि धर्म के आधार पर नागरिकता नहीं दी जा सकती है. कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा कि जो लोग मानते हैं कि धर्म से राष्ट्रीयता तय होगी. वह पाकिस्तान की अवधारणा थी, उन्होंने पाकिस्तान बनाया. हमने हमेशा कहा है कि देश की हमारी अवधारणा वह है जो महात्मा गांधी, नेहरू जी, मौलाना आजाद, डॉक्टर आंबेडकर ने कहा है कि धर्म राष्ट्रीयता तय नहीं कर सकता है. हालांकि बीजेपी ने कहा कि मसौदा विधेयक संविधान की आत्मा और भावना के अनुरूप है.

यह वीडियो देखेंः 

First Published: Dec 05, 2019 12:30:34 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो