BREAKING NEWS
  • उत्तराखंड के कई इलाकों में जबरदस्त बर्फबारी, दिल्ली-एनसीआर में ठंड ने दी दस्तक- Read More »
  • ​​​​​Gold Diwali Offer 2019: ज्वैलरी (Gold Jewellery) खरीदने जा रहे हैं तो देख लीजिए ये लिस्ट कि कौन से ज्वैलर्स दे रहे हैं बंपर डिस्काउंट- Read More »

मुजफ्फरपुर में AES का कहर जारी, मरने वालों की संख्या बढ़कर 54 हुई

News State Bureau  |   Updated On : June 13, 2019 10:05:40 PM
इंसेफेलाइटिस से मरने वालों की संख्या में इजाफा (फाइल फोटो)

इंसेफेलाइटिस से मरने वालों की संख्या में इजाफा (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

बिहार के मुजफ्फरपुर में एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) का कहर जारी है. इंसेफेलाइटिस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 54 हो गई है. जिसमें श्री कृष्णा मेडिकल कॉलेज में 46 और केजरीवाल मातृ हॉस्पिटल में 8 बच्चों की इंसेफेलाइटिस से मौत हो गई है.

मुजफ्फरपुर में फैली बीमारी एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) और जापानी इंसेफलाइटिस (जेई) से हो रही बच्चों की मौत पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को कहा कि स्वास्थ्य विभाग इस पूरे मामले पर नजर रख रहा है. बरसात से पहले ये बीमारी हर साल बिहार में कहर बरपाती है. इसकी पूरी जांच की जा रही है.

इसे भी पढ़ें: 800 करोड़ रुपए का है मिशन चंद्रयान-2, सिर्फ यहां पढ़ें इससे जुड़ी हर जानकारी

उन्होंने कहा कि लोगों को इस बीमारी को लेकर जागरूक कराना होगा. हर साल बच्चे काल की गाल में समा जा रहे हैं. ये चिंता का विषय है.

गौरतलब है कि उत्तर बिहार के मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, पश्चिम चंपारण, शिवहर, सीतामढ़ी व वैशाली में बीमारी का प्रभाव दिखता है. इस साल अब तक एसकेएमसीएच में जो मरीज आ रहे हैं, वे मुजफ्फरपुर और आसपास के हैं.

बीमारी के ये होते हैं लक्षण-

गौरतलब है कि इंसेफेलाइटिस को जापानी बुखार भी कहते हैं. इस बीमारी का लक्षण कुछ इस तरह होता है. सिरदर्द, गर्दन में जकड़न, कमजोरी, उल्टी होना, भूख कम लगना, सुस्त रहना, अतिसंवेदनशील होना होता है. वहीं छोटे बच्चों में इंसेफेलाइटिस को ऐसे पहचान कर सकते हैं. सिर में चित्ती का उभरना, दूध कम पीना, बहुत रोना और शरीर में जकड़न नजर आना. अगर ऐसे लक्षण दिखाई देते हैं तो तुरंत अस्पताल में जाना चाहिए.

First Published: Jun 13, 2019 10:02:41 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो