BREAKING NEWS
  • रुद्रप्रयाग में बड़ा हादसा, पहाड़ी से मलबा गिरने से 8 लोगों की मौत- Read More »

बिहार : जदयू नेता की थाने में मौत के बाद परिजनों ने मचाया हंगामा, पुलिस ने की लाठी चार्ज

Shiv kumar  |   Updated On : July 12, 2019 01:58:14 PM
बिहार के नालंदा जिले की घटना

बिहार के नालंदा जिले की घटना (Photo Credit : )

Patna:  

बिहार के नालंदा जिले के नगरनौसा थाने में गुरुवार रात एक बड़ी घटना घटी. दरअसल यहां थाने में जदयू महादलित प्रकोष्ठ के प्रखंड अध्यक्ष गणेश रविदास ने फांसी लगा आत्महत्या कर ली है. खबरों की मानें तो पूछताछ के नाम पर गणेश रविदास को थाने बुलाकर टार्चर किया गया. हालांकि नालंदा के एसपी ने बताया है कि पूरे मामले की जांच चल रही है इसको लेकर नगरनौसा थाना अध्यक्ष सहित थाने के सभी पुलिस कर्मियों से पूछताछ की जा रही है कि आखिर किस परिस्थिति में आत्महत्या की.

यह भी पढ़ें- अनोखे अंदाज में दिखे लालू के 'लाल' तेजप्रताप, बदल डाला हेडर स्टाइल, जिम में बहाया पसीना

थाने में आत्महत्या किए जाने की घटना के बाद पूरा पुलिस महकमा सन्न है. कोई भी वरीय पुलिस अधिकारी कुछ भी विशेष बताने से खुद को बचा रहा है. स्थिति यह है कि नगरनौसा थानाध्यक्ष फोन भी रिसीव नहीं कर रहें हैं. बताया जाता है कि एक दिन पूर्व एक किशोरी के अपहरण के मामले में पुलिस ने गणेश को गिरफ्तार किया था. जबकि गणेश रविदास इस मामले में आरोपित नहीं थे. बाबजूद इसके पुलिस ने उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया और हाजत में बंद कर दिया. जहां उन्होंने फांसी लगा कर खुदकुशी कर ली.

पूछताछ के नाम पर हाजत में किया था बंद

यूं तो इस घटना के संबंध में पुलिस कुछ भी नहीं बता पा रही है. लेकिन सोर्स की मानें तो नगरनौसा थाना पुलिस पूछताछ के नाम पर रविदास को थाने बुलाकर उसे हाजत में बंद कर दिया. वहीं पुलिस ने गणेश रविदास को गिरफ्तार किया था लेकिन इस गिरफ्तारी को स्टेशन डायरी में दर्शाया नही गया. इस मामले में गणेश रविदास का नाम f.i.r. में दर्ज नहीं था.

कहा जा रहा हैं कि गणेश रविदास को थाने में टॉर्चर किया गया था. हालांकि इसकी पुष्टि नालंदा पुलिस नहीं कर रही है. वहीं मृतक के परिजन सवाल उठा रहे हैं कि जब गणेश रविदास को हाजत में बंद किया गया तो उसके पास फांसी लगाने के लिए रस्सी या कोई भी सहारे के लिए सामान कहां से लाया, उनका कहना है कि इस मामले की उच्चस्तरीय जांच हो.

आज इन्हीं सब बिंदुओं को लेकर मृतक के समर्थकों ने थाना का घेराव कर दिया. परिजनों ने थानाध्यक्ष को सस्पेंड करने की बात कही साथी आगजनी कर कई घंटे तक पटना बिहार शरीफ मार्ग को बाधित रखा. इसते साथ ही नाराज परिजनों ने एसपी और डीएम को बुलाने की मांग की. अंततः इसके बाद पुलिस बल और ग्रामीणों में झड़प हो गई जिसके कारण पत्थरबाजी भी हुई और पुलिस ने लोगों पर लाठियां भांजी. जिसके बाद खबर लिखे जाने तक स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है और मौके पर कई थानों की पुलिस बल तैनात है.


बिहार की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें
https://www.newsstate.com/states/bihar

First Published: Jul 12, 2019 12:17:56 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो