हरियाणा सरकार पर भड़के बजरंग पूनिया और वीनेश फोगाट, अपनी नीति पर अड़े खेलमंत्री अनिल विज

IANS  |   Updated On : June 26, 2019 06:20:20 PM
बजरंग पूनिया

बजरंग पूनिया (Photo Credit : )

चंडीगढ़:  

एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीत कर इतिहास रचने वाले पहलवान बजरंग पुनिया और महिला पहलवान वीनेश फोगाट अपने राज्य हरियाणा की सरकार की नई नगद इनाम नीति की बुधवार को कड़ी आलोचना की और इस फैसले को राज्य में खेलों को खत्म करने का प्रयास करार दिया. बजरंग ने ट्वीट किया, "जब आप खिलाड़ी को पुरस्कार देने की बात करते हैं तो आप पैसा नहीं, आप समर्थन देने का वादा करते हैं. अगर अपना वादा पूरा नहीं कर सकते तो आपसे कोई खिलाड़ी कैसे भविष्य में कोई उम्मीद रखेगा."

ये भी पढ़ें- World Cup, NZ vs PAK Live: न्यूजीलैंड का 5वां विकेट गिरा, केन विलियमसन 41 रन बनाकर आउट

बजरंग का बयान राज्य सरकार की नई नीति को लेकर आया है जिसके मुताबिक, अगर एक खिलाड़ी वित्तीय वर्ष में एक से ज्यादा पदक जीतता है तो उसे उसके द्वारा जीते गए सर्वोच्च पदक के लिए आवंटित की गई पूरी राशि मिलेगी लेकिन दूसरे व इसके बाद के पदकों के लिए 50 फीसदी राशि ही मिलेगी. खिलाड़ियों का मानना है कि सरकार द्वारा राशि का कम करना, उसके वादा पूरा नहीं करने को उजागर करता है.

ये भी पढ़ें- World Cup: संन्यास पर क्रिस गेल ने लिया यू-टर्न, बताया कब लेंगे रिटायरमेंट

बजरंग के समर्थन में वीनेश फोगाट ने ट्वीट किया, "मैं हरियाणा सरकार से अपील करती हूं कि आप अपना पैसा वापस ले लीजिए. खिलाड़ी को अपनी राजनीति के अखाड़े में खड़ा कर उन्हें बेइज्जत नहीं कीजिए." इन दोनों के अलावा कई अन्य खिलाड़ियों ने भी इसका विरोध किया है, लेकिन राज्य के खेल मंत्री अनिल विज अपनी नीति पर कायम हैं. उन्होंने मीडिया से कहा, "पुरस्कार खेल नीति के हिसाब से ही दिए जाएंगे. हमने पहले ही साफ कर दिया है कि अगर किसी खिलाड़ी को पुरस्कर की राशि को लेकर किसी तरह की समस्या है तो वह हमसे सीधे बात कर सकता है."

First Published: Jun 26, 2019 06:20:12 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो