पेस ने अपना डेविस कप रिकार्ड बेहतर किया, पाक को हराकर भारत विश्व ग्रुप क्वालीफायर में

Bhasha  |   Updated On : December 01, 2019 08:01:17 AM
Leander Paes

Leander Paes (Photo Credit : फाइल फोटो )

नूर-सुल्तान:  

अनुभवी टेनिस स्टार लिएंडर पेस ने अपना डेविस कप रिकार्ड बेहतर करते हुए जीवन नेदुंचेझियान के साथ अपना 44वां युगल मैच जीता, जबकि भारत ने पाकिस्तान को 4- 0 से हराकर 2020 क्वालीफायर में जगह बना ली. पाकिस्तान के मोहम्मद शोएब और हुफैजा अब्दुल रहमान की जोड़ी पेस और जीवन के आगे टिक नहीं सकी. उन्होंने सिर्फ 53 मिनट में 6-1, 6 -3 से जीत दर्ज की. पिछले साल अपना 43वां युगल मैच जीतकर डेविस कप के इतिहास में सफलतम खिलाड़ी बने पेस ने इटली के निकोला पी को पछाड़ा था. पेस ने 56वें मुकाबले में 43वीं जीत दर्ज की थी जबकि निकोला ने 66 में से 42 मैच जीते.

यह भी पढ़ें ः हेड कोच रवि शास्त्री को ट्रोल किए जाने पर बोले कप्‍तान विराट कोहली

पेस ने पीटीआई से कहा, यह मेरी 44वीं जीत है, लेकिन पहली जीत की तरह लगती है. मेरी सभी जीत विशेष हैं. रिकार्ड में भारत को जगह दिलाना मेरे लिए विशेष है और इसे लेकर मेरे अंदर जुनून है. जीवन अपना पहला मैच खेल रहा था और सीनियर साथी होने के कारण मैंने यह दबाव अपने कंधों पर लिया. पेस ने जीवन की तारीफ करते हुए कहा, जीवन देश के लिए खेलने में फख्र महसूस करता है. ये लड़के मुझे युवा, तरोताजा और उत्साहित बनाए रखते हैं. मैं उनके साथ सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर पाता हूं. पेस का 44 जीत का रिकार्ड जल्दी टूट पाना संभव नहीं, क्योंकि उनके अलावा कोई मौजूदा युगल खिलाड़ी शीर्ष 10 में नहीं है. बेलारूस के मैक्स मिरनी तीसरे नंबर पर हैं जिनके नाम 36 जीत दर्ज है लेकिन वह 2018 से टूर पर नहीं खेल रहे हैं. पेस युगल मुकाबले में जीत के मामले में भले ही शीर्ष पर हों लेकिन यह दिग्गज भारतीय कुल जीत के मामले में पांचवें स्थान पर हैं. उन्होंने 92 मैचों में जीत दर्ज की है जबकि 35 में उन्हें हार का सामना करना पड़ा. इस भारतीय खिलाड़ी के नाम पर अब कुल 92 जीत दर्ज हैं जिसमें एकल की 48 जीत भी शामिल हैं. एक और जीत के साथ पेस स्पेन के मैनुएल सेंटाना को पीछे छोड़ देंगे जिनका जीत-हार का रिकार्ड 92-28 है. उलट एकल में सुमित नागल ने युसूफ खलील को 6-1, 6- 0 से मात दी.

यह भी पढ़ें ः विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के अंत तक वेस्टइंडीज को शीर्ष-5 टीमों में चाहते हैं कप्तान जेसन होल्डर

दोनों टीमों ने बेमानी हो चुका पांचवां मुकाबला नहीं खेलने का फैसला किया. पहले तीन मैच जीतने पर भी टीम के लिए चौथा मैच खेलना जरूरी था लेकिन नियम पांचवां मैच छोड़ने की इजाजत देते हैं. नागल ने जीत दर्ज करने के बाद कहा, यह आसान जीत थी, मैं समझ सकता हूं कि वे युवा खिलाड़ी हैं, उन्हें अनुभव की जरूरत है. आज मेरा साल का अंतिम मैच था और मैं शिकायत नहीं करूंगा. यह साल मेरे लिए शानदार रहा. भारत ने फरवरी 2014 के बाद पहली बार किसी मुकाबले में सारे मैच जीते हैं. उस समय इंदौर में भारत ने चीनी ताइपै को 5-0 से हराया था. भारत के गैर खिलाड़ी कप्तान रोहित राजपाल ने जीत को देश के सैन्य बलों को समर्पित किया. महेश भूपति के स्थान पर कप्तान बनाए गए राजपाल ने कहा, हमने आपस में इस बारे में बात की और हमारा मानना है कि हम इस जीत को सैन्य बलों को समर्पित करना चाहते हैं, विशेषकर उन परिवारों को जिन्होंने हमारे परिवारों की रक्षा करते हुए सीमा पर अपने परिवार के सदस्यों को गंवाया है. इसलिए हम यह जीत भारतीय सेना को समर्पित करते हैं.

यह भी पढ़ें ः टी-20 ब्लास्ट के तीसरे सीजन में भी ससेक्स के लिए खेलेंगे अफगानिस्तान के कप्तान राशिद खान

अब क्वालीफायर्स में भारत का सामना क्रोएशिया से होगा और यह मुकाबला 6-7 मार्च को खेला जाएगा. डेविस कप फाइनल्स में 12 क्वालीफाइंग स्थानों के लिये 24 टीमें आपस में भिड़ेंगी. हारने वाली 12 टीमें सितंबर 2020 में विश्व ग्रुप वन खेलेगी. विजेता टीमें फाइनल्स में खेलेंगी जिसके लिए कनाडा, ब्रिटेन, रूस, स्पेन, फ्रांस और सर्बिया पहले ही क्वालीफाई कर चुके हैं. तीसरे मैच में हुफैजा और शोएब ने पहले गेम में सर्विस बरकरार रखी लेकिन भारतीय जोड़ी ने तीसरे गेम में उनकी सर्विस तोड़कर 3 . 1 से बढत बना ली. पांचवें गेम में फिर उनकी सर्विस तोड़कर पेस और जीवन ने दबाव बनाया. जीवन ने 30-15 पर डबल फाल्ट किया लेकिन पाकिस्तानी खिलाड़ी दबाव नहीं बना सके और भारत ने बढत बना ली. पहला सेट जीतने के बाद भारतीयों ने दूसरा सेट भी आसानी से जीत लिया.

First Published: Dec 01, 2019 08:01:17 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो