World Cup 2019: आखिरकार सच हो गई इनकी भविष्‍यवाणी, खाली हाथ लौटेगी टीम इंडिया

DRIGRAJ MADHESHIA  |   Updated On : July 11, 2019 08:17:59 PM
हार के बार विराट सेना

हार के बार विराट सेना (Photo Credit : )

नई दिल्‍ली:  

आईसीसी विश्व कप 2019 (ICC Cricket world Cup 2019) शुरू होने से पहले टीम इंडिया के प्रशंसकों को रत्‍ती भर भी आशंका नहीं थी कि वो विश्‍व कप से बाहर हो जाएगी. लेकिन दुनिया में कुछ ऐसे भी लोग थे जो सटीक भविष्‍यवाणी करके पहले ही बता दिए थे कि भारत को इस बार खिताब नहीं मिलने वाला. उनमें से दो नाम प्रमुख हैं. एक न्यूजीलैंड (New Zealand) के पूर्व विकेटकीपर-बल्लेबाज ब्रेंडन मैक्कुलम (Brendon McCullum) तो दूसरे 2011 और 2015 क्रिकेट विश्व कप (World Cup) के विजेताओं की सटीक भविष्यवाणी करने वाले ज्योतिषी ग्रीनस्टोन लोबो (Greenstone Lobo).

यह भी पढ़ेंः World Cup: सेमी फाइनल में हारने वाली टीम इंडिया को मिलेंगे इतने रुपए

ब्रेंडन मैक्कुलम (Brendon McCullum) ने न केवल भविष्‍यवाणी की थी बल्‍कि एक कदम आगे बढ़कर टूर्नामेंट के लगभग हर मैच के परिणाम अपनी डायरी में लिख दी थी. उसकी फोटो सहित एक पोस्ट सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था. जिसमें उन्होंने लिखा था कि चार टीमों में फाइनल तक पहुंचने की फाइट होगी और नेट रन रेट तय करेगा कि कौन सी टीम आगे जाएगी.

मैक्कुलम की भविष्‍णवाणी के मुताबिक मेजबान इंग्लैंड, भारत और ऑस्ट्रेलिया मेगा इवेंट के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली थी और हुआ भी वही. उन्होंने बेहतर नेट रन रेट के साथ टीमों के लिए चौथा स्थान खुला छोड़ दिया था. मैक्कुलम के अनुसार चौथे स्थान की लड़ाई न्यूजीलैंड, वेस्टइंडीज, दक्षिण अफ्रीका और पाकिस्तान के बीच थी. यहां भी मैक्‍कुलम सही साबित हुए और नेट रन की वजह से पाकिस्‍तान को पीछे छोड़ न्‍यूजीलैंड सेमी फाइनल में पहुंची.

यह भी लिखा था मैक्‍कुलम ने

37 वर्षीय इस खिलाड़ी का मानना ​​है कि अफगानिस्तान अपने पहले 50 ओवर के विश्व कप में श्रीलंका और बांग्लादेश को हराकर केवल दो मैच जीतेगा. विकेटकीपर-बल्लेबाज के अनुसार, नीचे की दो टीमें श्रीलंका और बांग्लादेश होंगी. पूर्व कीवी कप्तान की भविष्यवाणियां का ऑस्ट्रेलिया के पूर्व ओपनर मार्क वॉ ने भी समर्थन किया है. ​​विराट कोहली की अगुवाई वाली टीम इंडिया के बारे में लिखा था कि केवल इंग्लैंड ही टीम इंडिया को हरा सकती है और हुआ भी यही.

यह भी पढ़ेंः World Cup 2019: हर बड़े मैचों में टीम इंडिया का टॉप ऑर्डर देता है धोखा, देखें इतिहास

मैकुलम के मुताबिक टीम इंडिया लीग के 9 में से 8 मैच में जीत हासिल करेगी. वहीं ऑस्ट्रेलिया को लीग में तीन हार मिलेगी. उसे वेस्टइंडीज, भारत और पाकिस्तान के खिलाफ हार का सामना करना पड़ेगा.

विराट की वजह से विश्‍व कप नहीं जीत पाएगी टीम इंडिया

विश्‍व कप शुरू होने से पहले क्रिकेट पंडित जहां एक और टीम इंडिया, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड को इस विश्व कप (World Cup) के लिए प्रमुख दावेदार मान रहे थे वहीं ज्योतिषीय गणना के अनुसार तीसरी बार वर्ल्ड चैंपियन बनने का भारतीय टीम का सपना इस बार पूरा होता नहीं दिख रहा था. 2011 और 2015 क्रिकेट विश्व कप (World Cup) के विजेताओं की सटीक भविष्यवाणी करने वाले ज्योतिषी ग्रीनस्टोन लोबो (Greenstone Lobo) ने 2019 विश्व कप (World Cup) को लेकर भारत की स्थिति पर भविष्यवाणी की थी.

यह भी पढ़ेंः  विराट कोहली, चहल और बुमराह ने कुछ इस तरह बयां किया हार का दर्द

ग्रीनस्टोन लोबो ने अपनी यह भविष्यवाणी मौजूदा विश्व कप में भाग लेने वाले सभी कप्तानों की कुंडली का अध्ययन करने के बाद की थी. उनकी इस प्रीडक्शन के मुताबिक, जिन कप्तानों की जन्मकुंडली में यूरेनस, नेप्च्यून और प्लूटो मजबूत हैं, उन्हीं के पास विश्व कप (World Cup) जीतने के चांस है.

ग्रीनस्टोन लोबो की गणनाओं के मुताबिक इस बार विश्व विजेता बनने का ताज उसी कप्तान की टीम पर सजेगा, जो 1985-87 तक के बीच जन्मा हो, इस काल में जन्में लोगों के लिए यूरेनस और नेप्च्यून सबसे मजबूत ग्रह हैं, जो उनके भाग्य को चमकाने में मददगार होंगे.

यह भी पढ़ेंः विराट कोहली: बड़े मुकाबलों का 'छोटा' खिलाड़ी, नॉकआउट मैचों में हर बार सस्‍ते में आउट

ग्रीनस्टोन लोबो की भविष्यवाणी के अनुसार ऑस्ट्रेलिया के एरॉन फिंच, इंग्लैंड के इयोन मॉर्गन और पाकिस्तान के सरफराज अहमद हैं इस काल में जन्में हैं, हालांकि लोबो पाकिस्तान के सरफराज अहमद को यहां जीत का हकदार नहीं मान रहे थे क्योंकि वह पहले ही एक बड़ा खिताब (2017 चैंपियंस ट्रॉफी) अपने नाम कर चुके थे.

यह भी पढ़ेंः World Cup: ऋषभ पंत की बल्लेबाजी पर भड़के पीटरसन, युवराज सिंह ने किया बचाव

भारतीय अभियान के लिए ग्रीनस्टोन लोबो (Greenstone Lobo) ने कहा था कि 2019 में उसकी विश्व कप (World Cup) की उम्मीदों को झटका लग सकता है और वह खिताब नहीं जीत पाएगी. ग्रीनस्टोन लोबो (Greenstone Lobo) ने कहा,' विराट कोहली (Virat Kohli) के जन्‍म का समय 1986 या 1987 होना था न कि 1988 में, जिसकी वजह से टीम इंडिया खिताब की दौड़ से बाहर होगी.'

अगर सेमीफाइनल नहीं खेलते विराट तो जीत जाती टीम इंडिया

ग्रीनस्टोन लोबो की मानें तो एक रास्ता था, जिसके दम पर टीम इंडिया एक बार फिर विश्व कप (World Cup) विजेता बन सकती थी, लेकिन खुद लोबो की नजर में ही यह बड़ा ही असंभव सा था. यह तब संभव था, जब 1988 में जन्मे विराट कोहली दुर्भाग्य से चोटिल हो जाएं और तब विराट की जगह टीम इंडिया की कमान 1987 में जन्मे रोहित शर्मा संभालें. अगर ऐसा होता तो भारतीय टीम के विश्व चैंपियन बनने के चांस सबसे ज्यादा होते लेकिन ऐसा संभव हो, इसके चांस नजर नहीं थे.

First Published: Jul 11, 2019 07:53:01 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो