BREAKING NEWS
  • अपनी ही सरकार की अफसरशाही से परेशान कांग्रेस विधायक, मुख्यमंत्री से मिलकर लगाई गुहार- Read More »
  • Rupee Open Today 16th Oct 2019: डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया कमजोर, 5 पैसे गिरकर खुला भाव- Read More »
  • PMC Bank : महिला खाताधारक ने की आत्‍महत्‍या, पुलिस ने बताया इस वजह से की खुदकुशी- Read More »

युवराज सिंह का बड़ा खुलासा, बताया ‘यो यो’ टेस्ट के बाद लेने वाले थे संन्यास

PTI  |   Updated On : June 11, 2019 07:01:25 AM
युवराज का बड़ा खुलासा, बताया यो यो टेस्ट के बाद लेने वाले थे संन्यास

युवराज का बड़ा खुलासा, बताया यो यो टेस्ट के बाद लेने वाले थे संन्यास (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

युवराज सिंह (Yuvraj Singh) ने सोमवार को खुलासा कि बीसीसीआई (BCCI) ने ‘यो-यो’ टेस्ट (Yo Yo Test) में विफल होने पर उन्हें विदाई मैच का वादा किया था. युवराज सिंह (Yuvraj Singh) हालांकि ‘यो-यो’ टेस्ट (Yo Yo Test) में सफल रहे और उन्हें विदाई मैच खेलने का मौका कभी नहीं मिला. लगभग 17 साल तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने के बाद संन्यास की घोषणा करने वाले 37 साल के युवराज सिंह (Yuvraj Singh) ने भारत की ओर से पिछला मैच जून 2017 में खेला था.

युवराज सिंह (Yuvraj Singh) ने संन्यास की घोषणा के लिए बुलाई प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘मुझे बोला गया था कि अगर आपसे ‘यो-यो’ टेस्ट (Yo Yo Test) पास नहीं होता तो आप विदाई मैच खेल सकते हो.’

और पढ़ें: क्रिकेट से संन्यास के बाद क्रिकेटर युवराज सिंह अब ये करेंगे काम

युवराज सिंह (Yuvraj Singh) के समकक्ष वीरेंदर सहवाग ने विदाई मैच नहीं खेलने का दर्द बयां किया लेकिन बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने कहा कि वह ऐसा मैच नहीं चाहते थे. यहां तक कि वीवीएस लक्ष्मण और राहुल द्रविड़ जैसे दिग्गज खिलाड़ियों को भी विदाई मैच खेलने का मौका नहीं मिला जिसके वे हकदार थे.

उन्होंने कहा, ‘मैंने बीसीसीआई (BCCI) में किसी से नहीं कहा कि मुझे अंतिम मैच खेलना है. अगर मैं अच्छा था, मेरे अंदर क्षमता थी तो मैं मैदान से संन्यास लेता. और मुझे इस तरह का क्रिकेट खेलना पसंद नहीं है कि मुझे एक मैच चाहिए.’

युवराज सिंह (Yuvraj Singh) ने कहा, ‘तो मैंने उस समय बोला कि मुझे विदाई मैच नहीं चाहिए, यो-यो टेस्ट पास नहीं होगा तो मैं चुपचाप घर चला जाऊंगा. यो यो टेस्ट मैंने पास किया और इसके बाद चीजें मेरे हाथ में नहीं थी.’

और पढ़ें: युवराज सिंह के रिटायरमेंट से लेकर पूर्व कीवी कप्तान की चेतावनी तक, पढ़ें खेल से जुड़ी दिन भर की 5 बड़ी खबरें

‘यो-यो’ टेस्ट (Yo Yo Test) में 20 मीटर की दूरी पर दो कोन रखे जाते हैं और बीप की आवाज के साथ खिलाड़ी को एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचना होता है. इससे खिलाड़ी की फिटनेस और मजबूती का आकलन होता है. भारत टीम में जगह बनाने के लिए अब इस टेस्ट को पास करना जरूरी है और जब युवराज सिंह (Yuvraj Singh) से इस विषय पर उनके विचार मांगे गए तो उन्होंने कहा कि इस बारे में बात करने के लिए भविष्य में काफी समय है.

उन्होंने कहा, ‘मुझे यकीन है कि इस बारे में बात करने के लिए मेरे पास अब काफी समय होगा, मुझे काफी कुछ कहना है. मैं अभी कुछ नहीं कर रहा क्योंकि भारत विश्व कप खेल रहा है और मैं खिलाड़ियों को लेकर किसी तरह का विवाद नहीं चाहता.’

First Published: Jun 10, 2019 09:39:28 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो