सौरव गांगुली बनेंगे बीसीसीआई अध्‍यक्ष, विरोध में कोई नामांकन नहीं

न्‍यूज स्‍टेट ब्‍यूरो  |   Updated On : October 14, 2019 04:13:56 PM
सौरव गांगुली

सौरव गांगुली (Photo Credit : फाइल फोटो )

नई दिल्‍ली :  

सौरव गांगुली ने बीसीसीआई अध्‍यक्ष पद के लिए अपना नामांकन दाखिल कर दिया. आज यानी 14 अक्‍टूबर को ही नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख थी, तीन बजे तक ही नामांकन दाखिल किए जा सकते थे, तीन बजे तक सिर्फ गांगुली ने ही नामांकन कराया, इस लिहाज से देखें तो अब सौरव गांगुली का बीसीसीआई अध्‍यक्ष बनना तय हो गया है, अब सिर्फ औपचारिक ऐलान भर बाकी रह गया है. सौरव गांगुली भारत के सबसे सफल कप्‍तानों में से एक माने जाते हैं, अब बीसीसीआई अध्‍यक्ष बनने के बाद उनका करीब दस महीने का कार्यकाल कैसा रहेगा, यह देखना अपने आप में दिलचस्‍प होगा. सोमवार को सौरव गांगूली ने आईपीएल के पूर्व कमिश्‍नर राजीव शुक्‍ला और अन्‍य बड़े लोगों के साथ अपना नामांकन पत्र दाखिल किया. 

यह भी पढ़ें ः बड़ा सवाल : सौरव गांगुली के बीसीसीआई अध्‍यक्ष बनने के बाद विराट कोहली का क्‍या होगा

नामांकन भरने के बाद गांगुली ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि पिछले तीन साल के बीसीसीआई में जो खराब हालात थे, उन्हें सुधारना और प्रथम श्रेणी क्रिकेटरों की स्थिति को बेहतर करना उनकी प्राथमिकता होगी. गांगुली बोले, अध्यक्ष बनना संतोषजनक है. पिछले तीन साल में जो बीसीसीआई में हालात थे, वो सही नहीं थे. यह जो टीम आई है, वो मिलकर काम करेगी और उम्मीद है कि सबकुछ अच्छा रहेगा. यह हमारा दायित्व है कि सभी तरह की चीजें सही तरीके से हों. मेरे लिए हालांकि प्राथमिकता प्रथम श्रेणी क्रिकेट खिलाड़ियों को बेहतर सुविधाएं मुहैया करना होगी. साथ ही कोशिश होगी कि सभी चीजें अपनी जगह पर रहें.

यह भी पढ़ें ः ICC Test Ranking : कप्‍तान विराट कोहली ने मारी ऊंची छलांग, नंबर वन बनने के करीब, जानें कौन किस नंबर पर

अध्‍यक्ष बनने की लालसा प्रकट नहीं की थी : गांगुली
भारतीय टीम के पूर्व कप्‍तान सौरव गांगुली ने कहा कि उन्होंने कभी भी बोर्ड के अध्यक्ष बनने का लालसा प्रकट नहीं थी और सदस्यों द्वारा चुने जाने पर वह इस पद को अपनाने को राजी हुए हैं. उन्होंने कहा, मैंने इस पद के लिए कभी भी अपनी इच्छा जाहिर नहीं की थी. मौजूदा हालात और लोगों ने मुझे यहां तक पहुंचाया है. मुझे काफी दिन तक पता नहीं था कि मैं अध्यक्ष बनूंगा. इसके बाद मुझे बताया गया कि मैं अध्यक्ष हूं और मेरी टीम यह रहेगी. मुझे सदस्यों ने चुना है. सदस्य ही हमेशा चुनते हैं. उन्होंने मुझे चुना तो मैंने हां कहा.

यह भी पढ़ें ः गृह मंत्री अमित शाह के बेटे जय शाह को बीसीसीआई में मिल सकती है यह जिम्‍मेदारी

बोले गांगुली, कप्‍तानी अलग चुनौती थी
गांगुली ने खिलाड़ियों के प्रशासन में आने की बात पर खुशी जाहिर करते हुए कहा, यह अच्छी बात है कि खिलाड़ी अब प्रशासन का हिस्सा हैं. पहले भी हुआ करते थे लेकिन अब संख्या ज्यादा हो गई है. तो यह अच्छी बात है. कप्तान और बोर्ड अध्यक्ष दो अलग-अलग जिम्मेदारियों के बारे में पूछे जाने पर गांगुली ने कहा, कप्तानी एक अलग चुनौती थी और यह एक अलग चुनौती है. दोनों अलग-अलग तरह की चीजें हैं. आगे राजनीति में जाने का कोई मन नहीं है.

यह भी पढ़ें ः बीसीसीआई अध्‍यक्ष बनने के बाद यह होंगी सौरव गांगुली की प्राथमिकता

राजीव शुक्‍ला ने बताई पूरी बात
वहीं नामांकन के मौके पर मौजूद रहे राजीव शुक्ला ने कहा, आज बीसीसीआई चुनावों के लिए नामांकन भरने के लिए आखिरी तारीख थी. अधिकतर सदस्यों ने एक-दो संघों को अगर छोड़ दिया जाए तो सभी ने आठ पदों उन लोगों को समर्थन दिया है. जिनके नामांकन पत्र आज दाखिल किए गए हैं उसमें सौरव गांगुली का नाम है. सचिव के लिए नौ साल का अनुभव बीसीसीआई में रखने वाले जय शाह, उपाध्यक्ष पद के लिए उत्तराखंड के महेश वर्मा का नाम है. संयुक्त सचिव के लिए केरल से जयेश जॉर्ज का नाम है. कोषाध्यक्ष के लिए अरुण धूमल का नाम है. इसके अलावा बृजेश पटेल को आईपीएल गवर्निंग काउंसिल में चुना है.

(इनपुट आईएएनएस)

First Published: Oct 14, 2019 04:12:25 PM
Post Comment (+)

LiveScore Live Scores & Results

न्यूज़ फीचर

वीडियो