सचिन तेंदुलकर ने दिया सुझाव, वन डे मैच में दो नहीं, चार पारियां होनी चाहिए

News State Bureau  |   Updated On : November 06, 2019 10:56:26 AM
सचिन तेंदुलकर

सचिन तेंदुलकर (Photo Credit : फाइल फोटो )

New Delhi:  

Four Innings One Day Match : क्रिकेट की खास बात यह है कि उसमें लगातार कुछ न कुछ बदलाव होते रहे हैं. नियमों में बदलाव कर उसी क्रिकेट में नया रोमांच पैदा करने की कोशिश की जाती है. अब एक बार फिर क्रिकेट में कुछ नया करने की जरूरत है. अगर मैच में रोमांच बनाए रखना है और रेवन्‍यू को बढ़ाना है तो नई नई चीजों को अपनाना होगा. इससे खेल और बेहतरी की ओर जाएगा. अब दुनिया के महान बल्‍लेबाजों में शुमार और क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट को और भी लोकप्रिय बनाने के लिए नया सुझाव दिया है. सचिन तेंदुलकर का मानना है कि एक दिवसीय क्रिकेट में कुछ नया करने का वक्‍त आ गया है. उनका मानना है कि 50 ओवर के खेल में अब दो नहीं बल्‍कि चार पारियां होनी चाहिए. एक ही साथ 50 ओवर खेलने के बाद टीमों को 25-25 ओवर दो बार खिलाने चाहिए. इसके साथ ही हर पारी के बाद 15-15 मिनट का ब्रेक यानी विश्राम मिलना चाहिए. सचिन तेंदुलकर ने अंग्रेजी अखबार टाइम्‍स ऑफ इंडिया को दिए गए इंटरव्‍यू में यह सारी बातें कहीं.

यह भी पढ़ें ः भारत बांग्‍लादेश मैच का बड़ा खुलासा, बांग्‍लादेश के दो खिलाड़ियों ने की थी उल्‍टी, ऋषभ पंत खांसते रहे

सचिन तेंदुलकर ने कहा है कि उन्‍होंने सुझाव दिया है कि एक दिवसीय मैचों को अब 25-25 ओवर की जरूरत है. उन्‍होंने कहा कि एक दिवसीय मैचों में कई ऐसी चीजें हैं, जो जोड़ी जा सकती हैं. उन्‍होंने उदाहरण देते हूए कहा कि टीम ए और टीम बी के बीच मैच है. टीम ए ने टॉस जीता और पहले 25 ओवर तक बल्‍लेबाजी की. इसके बाद टीम बी 25 ओवर बल्‍लेबाजी करेगी. इसके बाद टीम ए फिर से बल्‍लेबाजी करे और जितने विकेट बचे हैं, उसके साथ मैदान में उतरे. इसके बाद टीम बी लक्ष्य को हासिल करने के लिए बल्‍लेबाजी करेगी. अगर टीम ए पहले 25 ओवर में ही ऑलआउट हो जाती है तो टीम बी को लक्ष्य को हासिल करने के लिए पहले 25 ओवर उसके बाद ब्रेक और उसके बाद दूसरे 25 ओवर में लक्ष्य प्राप्‍त करना होगा. उन्‍होंने कहा कि इस तरह के कई आइडिया पर काम किया जा सकता है, इससे क्रिकेट का रोमांच और भी बढ़ेगा.

यह भी पढ़ें ः लखनऊ में आज आमने सामने होंगी वेस्‍टइंडीज और अफगानिस्‍तान की टीमें, जानें आंकड़े

सचिन तेंदुलकर ने कहा कि इस वक्‍त बाद में गेंदबाजी करने वाली टीम के लिए ओस यानी डियू का फैक्‍टर सामने आ जाता है. अगर नया नियम लागू होता है तो दोनों टीमों के पास मैच जीतने के लिए पर्याप्‍त अवसर होंगे. इससे दोनों टीमों को दूधिया रोशनी में गेंदबाजी और बल्‍लेबाजी करनी होगी. सचिन ने कहा कि इससे यह भी फायदा होगा कि एक टीम अगर एक पारी में अच्‍छा नहीं खेल पाती है तो दूसरी पारी में उसके पास कमबैक करने का भी मौका होगा. इस नियम से अगर मैच में बारिश की भी आशंका है तो टीमें उसी हिसाबि से अपनी रणनीति में भी बदलाव कर सकती हैं. इससे मैच का परिणाम निकालने में भी आसानी होगी.

यह भी पढ़ें ः टीम इंडिया की बड़ी कमजोरी आई सामने, इस वजह से हारी दिल्‍ली का मैच

सचिन तेंदुलकर ने कहा कि अभी बारिश होने पर मैच का नतीजा डकवर्थ लुइस नियम से निकलता है, लेकिन ईमानदारी की बात यह है कि इसे हममें से अब तक कोई भी समझ नहीं पाया है. इसे सिर्फ दो ही लोग समझते हैं. उन्‍होंने बताया कि विजय हजारे ट्रॉफी में जो मैच बारिश के कारण धुले, उसमें मुंबई की टीम टूर्नामेंट से बाहर हो गई. कोई भी बिना रिजल्‍ट वाला मैच देखना नहीं चाहता.

यह भी पढ़ें ः IPL 2020 : इस दिन यहां होगी खिलाड़ियों की नीलामी, जानें इस बार होने वाले बदलाव

सचिन तेंदुलकर ने यह भी कहा कि 25 ओवर की पारी के दौरान पांच ओवर पावर प्‍ले के लिए बनाएं जाएं, अभी शुरुआती दस ओवर में पावर प्‍ले लागू होता है. टीम के पास इसका चुनाव करने का मौका नहीं होता, लेकिन बाकी बचे पांच ओवर को बैटिंग के लिए दो भागों में बांट देना चाहिए.

यह भी पढ़ें ः सच साबित हो सकती है वीवीएस लक्ष्मण की भविष्‍यवाणी, जानें क्‍या कहा था

सचिन तेंदुलकर ने यह भी कहा कि इससे ब्रॉडकास्‍टर भी काफी खुश होंगे. अभी एक पारी के बाद 45 मिनट का ब्रेक होता है, इससे हर 25 ओवर बाद 15 मिनट का ब्रेक होगा और इस पर चर्चा और विमर्श करने के लिए टीम के पास ज्‍यादा मौका होगा. अगर 25 ओवर में कोई टीम पिछड़ जाती है तो विमर्श के बाद दूसरे 25 ओवर में उसके पास वापसी करने का पूरा मौका होगा. सचिन तेंदुलकर ने करीब 24 साल क्रिकेट खेलने के बाद 2013 में क्रिकेट से संन्‍यास का ऐलान कर दिया था, अब वे कुछ ही मैचों में कंमेंट्री करते हुए दिखाई देते हैं. वे आईपीएल में मुंबई इंडियंस का भी हिस्‍सा रहे हैं और वे इसी टीम के मेंटॉर हैं. सचिन के कई रिकार्ड ऐसे हैं जो अभी तक कोई बल्‍लेबाज तोड़ नहीं पाया है. इसमें शतकों का शतक भी शामिल है. वे एक दिवसीय और टेस्‍ट में मिलाकर सौ शतक लगा चुके हैं.

First Published: Nov 06, 2019 10:56:26 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो