वेस्टइंडीज के खिलाफ सफल प्रदर्शन को बेताब हैं क्रुणाल पांड्या, कहा- धोनी और विराट से सीखा

News State Bureau  |   Updated On : July 23, 2019 11:09:12 AM
वेस्टइंडीज के खिलाफ सफल प्रदर्शन को बेताब हैं क्रुणाल पांड्या

वेस्टइंडीज के खिलाफ सफल प्रदर्शन को बेताब हैं क्रुणाल पांड्या (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

वेस्टइंडीज (West indies) दौरे पर जाने वाली भारतीय टी20 टीम के सदस्य हरफनमौला क्रुणाल पांड्या (Krunal Pandya) ने कहा कि वह कप्तान विराट कोहली से जीत का जज्बा और विकेटकीपर बल्लेबाज महेन्द्र सिंह धोनी से धैर्य रखना सीखना चाहते हैं. पिछले साल 4 नवंबर को वेस्टइंडीज (West indies) के खिलाफ टी20 अंतरराष्ट्रीय पदार्पण करने वाले क्रुणाल पांड्या (Krunal Pandya) ने अब तक 11 मैचों में 11 विकेट झटकने के साथ पांच पारियों में 23 के औसत से 70 रन भी बनाए है.

कप्तान कोहली के जज्बे से प्रभावित क्रुणाल पांड्या (Krunal Pandya) ने कहा, ‘मैं विराट (कोहली) से सीखना चाहूंगा कि लगातार अच्छा करने की भूख कैसे बरकरार रखी जाती है. वह कैसे हर प्रारूप में इतना निरंतर प्रदर्शन करते हैं. हर मैच में वह शून्य से शुरू करते हैं फिर काफी रन बनाते हैं और टीम को जीत दिलाते हैं.’

और पढ़ें: ISRO ने किया चंद्रयान-2 का सफल प्रक्षेपण, विराट कोहली समेत खिलाड़ियों ने इस अंदाज में दी बधाई

महेन्द्र सिंह धोनी के बारे में उन्होंने बीसीसीआई टीवी से कहा, ‘माही भाई (धोनी) की तरह का फिनिशर (मैच खत्म करने वाला) भारतीय क्रिकेट के इतिहास में कोई हुआ ही नहीं है, मेरे हिसाब से तो विश्व क्रिकेट में ऐसा कोई नहीं रहा है. उन्होंने लगातार ऐसा कर के दिखाया है. मुझे लगता है उनके पास धैर्य है और परिस्थितियों के मुताबिक खेलने की क्षमता है. मैं माही भाई और विराट (कोहली) से यह दोनों चीज सीखने की कोशिश करूंगा.’

क्रुणाल पांड्या (Krunal Pandya) भारत 'ए' टीम के साथ वेस्टइंडीज (West indies) के दौरे पर गए हैं जहां उन्होंने अपने हरफनमौला खेल से प्रभावित किया. वेस्टइंडीज (West indies) 'ए' के खिलाफ उन्होंने तीन एकदिवसीय मैचों में सात विकेट झटके जिसमें पारी में पांच विकेट भी शामिल है. उन्होंने बल्लेबाजी का हालांकि ज्यादा मौका नहीं मिला लेकिन श्रृंखला के चौथे मैच में उन्होंने 45 रन की पारी खेली.

और पढ़ें: भारतीय टीम का हेड कोच बनना चाहते हैं श्रीलंका के महेला जयवर्धने, किया आवेदन

भारतीय टीम के वेस्टइंडीज (West indies) दौरे के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘वेस्टइंडीज (West indies) दौरे के शुरू होने का मैं इंतजार कर रहा हूं क्योंकि आगे बहुत क्रिकेट है. मैं मौका मिलने पर गेंद और बल्ले दोनों से लगातार अच्छा प्रदर्शन करना चाहता हूं.’

बाएं हाथ के इस हरफनमौला ने कहा कि भारतीय टीम के लिए चुने जाने पर भारत 'ए' के लिए खेलने का उनका अनुभव काम आयेगा.

उन्होंने कहा, ‘भारत ए टीम के साथ दौरे पर जाने से काफी मदद मिलती है. पिछले दो-तीन वर्षों में मैं साउथ अफ्रीका, न्यू जीलैंड, इंग्लैंड तीनों जगह खेल चुका हूं और उसका फायदा भी मिलता है क्योंकि जब आप सीनियर टीम के साथ जाते हैं तो यह अनुभव काम आता है.’

क्रुणाल पांड्या (Krunal Pandya) क्रिकेट में अपनी पहचान का श्रेय इंडियन प्रीमियर लीग को देते है. मुंबई इंडियंस को चैंपियन बनाने में अहम भूमिका निभाने वाले इस खिलाड़ी ने कहा, ‘मेरे लिए सबसे बड़ा टर्निंग पॉइंट मुंबई इंडियंस का प्रतिनिधित्व करना था क्योंकि वहां मैं अपनी क्षमता को दिखा पाया. जब आप आईपीएल में खेलते हैं तो अलग तरह का दबाव होता है लेकिन आप जब कप जीतते है तब काफी संतुष्टि मिलती है.’

और पढ़ें: एमएस धोनी पर एमएसके प्रसाद का बड़ा बयान, कहा- संन्यास लेने के लिए....

क्रुणाल पांड्या (Krunal Pandya) ने आईपीएल के पिछले सत्र में 16 मैचों में 12 विकेट लेने के साथ 122 के स्ट्राइक रेट से 183 रन बनाए थे.

First Published: Jul 23, 2019 11:09:12 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो