BREAKING NEWS
  • मुश्ताक अहमद बोले- भारत-पाकिस्तान के बीच संबंधों को सुधारने के लिए करना चाहिए ये काम- Read More »
  • अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला मुसलमानों को स्वीकार करना चाहिए: VHP- Read More »
  • Today History: आज ही के दिन WHO ने एशिया के चेचक मुक्त होने की घोषणा की थी, जानें आज का इतिहास- Read More »

World Cup 2019: उतार-चढ़ाव के बाद खुद को साबित करने उतरेगी 5 बार की विश्व चैंपियन

News State Bureau  |   Updated On : May 22, 2019 03:56:57 PM
World Cup 2019: खुद को साबित करने उतरेगी 5 बार की विश्व चैंपियन

World Cup 2019: खुद को साबित करने उतरेगी 5 बार की विश्व चैंपियन (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

ऑस्ट्रेलिया (Australia) ने 2015 में जब अपना पहला मैच खेला था तो तत्कालीन कप्तान माइकल क्लार्क (Michael Clark) मांसपेशियों में खिंचाव के कारण बाहर थे, लेकिन फिर भी ऑस्ट्रेलिया (Australia) ने इंग्लैंड को 111 रनों से हरा दिया था. माइकल क्लार्क (Michael Clark) जब वापस आए तो उनकी जगह कप्तानी करने वाले जॉर्ज बैली (George Belly) को टीम से बाहर जाना पड़ा था. जॉर्ज बैली (George Belly) बीते तीन साल से ऑस्ट्रेलिया (Australia) के सर्वोच्च स्कोरर थे. ऑस्ट्रेलिया (Australia) ने अंतत: यह विश्व कप (World Cup) अपने नाम किया, लेकिन इसके बाद कहानी बदली और उस ऑस्ट्रेलिया (Australia) को देखने के लिए लोग तरस गए जिसके वो आदि थे.

ऑस्ट्रेलिया (Australia) ने 2016 से 2019 के बीच 6 वनडे सीरीज गंवाई, चैम्पियंस ट्रॉफी (Champions Trophy) से बाहर हुई. इस बीच बॉल टेम्परिंग (Ball Tampering) विवाद ने भी उसका दामन थाम लिया और फिर ऑस्ट्रेलिया (Australia) ने वो दौर देखा जिसकी किसी ने कल्पना भी नहीं की थी.

2018 तक ऑस्ट्रेलिया (Australia) इसी स्थिति में थी, लेकिन 2019 में ऐसा लगा कि उसने मानों नए साल में अपने आप को बदलने की जिद पकड़ी है. इस जिद में वह काफी हद तक सफल होती भी दिख रही है. नए साल में उसने भारत को उसके ही घर में वनडे सीरीज में हराया तो वहीं पाकिस्तान (Pakistan) को भी हार का मुंह दिखाया.

और पढ़ें:  World Cup से पहले विराट कोहली ने बताया किसे समर्पित होगी विश्व कप की ट्रॉफी

इस बीच सबसे अच्छी बात यह रही कि उसके बल्लेबाज फॉर्म में लौट गए. डेविड वार्नर (David Warner) और स्टीव स्मिथ (Steve Smith) बॉल टेम्परिंग विवाद के कारण एक साल बाहर थे. मार्च में उनका प्रतिबंध समाप्त हो गया और चयनकर्ताओं ने उन पर भरोसा जताते हुए विश्व कप (World Cup) टीम में जगह दी.

यह दोनों इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल-IPL) में खेले और जिस तरह से इन दोनों ने खासकर डेविड वार्नर (David Warner) ने बल्लेबाजी की उससे बाकी टीमों की परेशानी निश्चित तौर पर बढ़ी होंगी. डेविड वार्नर (David Warner) ने आईपीएल (IPL) में 692 रन बनाए और लीग में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे. वहीं स्टीव स्मिथ (Steve Smith) का बल्ला भी आईपीएल (IPL) में जमकर चला. इसके बाद अभ्यास मैचों में स्टीव स्मिथ (Steve Smith) ने बेहतरीन पारियां खेलीं. 

इन दोनों के अलावा कप्तान एरॉन फिंच (Aron Finch) भी फॉर्म में लौट चुके हैं. पाकिस्तान (Pakistan) के खिलाफ एरॉन फिंच (Aron Finch) ने 116, 153, 90, 39 और 53 रनों की पारियां खेलीं. एरॉन फिंच (Aron Finch) उस तरह के बल्लेबाज हैं जो अगर विकेट पर पैर जमा लें तो किसी भी गेंदबाजी आक्रमण को मिनटों में ध्वस्त करने का दम रखते हैं. उस्मान ख्वाजा (USman Khwaja) ने भारत के खिलाफ सीरीज में दो शतक जमाए थे और पाकिस्तान (Pakistan) के खिलाफ 24, 88, 0, 62 और 98 रनों की पारियां खेलीं. 

और पढ़ें: World Cup 2019: टीम इंडिया में शामिल खिलाड़ियों में महेंद्र सिंह धोनी सबसे उम्रदराज, ये खिलाड़ी है सबसे छोटा

ग्लैन मैक्सवेल (Glenn maxwell) भी एक ऐसा नाम है जो अगर चल गया थो ऑस्ट्रेलिया (Australia) के लिए इससे अच्छी और दूसरी टीम के लिए इससे बुरी बात नहीं हो सकती. 

एक परेशानी बल्लेबाजी क्रम में कोच जस्टिन लैंगर (Justin Langer) के लिए यह है कि वह उस्मान ख्वाजा (Usman Khwaja) को किस स्थान पर खेलाएं क्योंकि ख्वाजा ने हाल ही में जो सफलता हासिल की है वह एक सलामी बल्लेबाज के तौर पर हासिल की है. लेकिन अब डेविड वार्नर (David Warner) वापस आ गए हैं और एरॉन फिंच (Aron Finch) के साथ उनका ओपनर के तौर पर आना तय है ऐसे में ख्वाजा को नंबर-3 पर खेलना होगा लेकिन ख्वाजा यहां सफल हो पाएंगे या नहीं यह देखने वाली बात है. 

वहीं अगर गेंदबाजी की बात की जाए तो ऑस्ट्रेलिया (Australia) मजबूत है. उसके पास मिशेल स्टार्क (Mitchell Stark) जैसे गेंदबाज है जो मौजूदा समय के सर्वश्रेष्ठ और खौफनाक गेंदबाजों में गिना जाता है. मिशेल स्टार्क (Mitchell Stark) यहां अकेले नहीं हैं. पैट कमिंस (Pat Cummins) और जेसन बेहरनडोर्फ (Jason Beherandorff) भी बड़ा रोल निभाएंगे. जेसन (Jason roy) ने हाल ही में आईपीएल (IPL) में मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) के लिए खेलते हुए बेहतरीन प्रदर्शन किया था. झाए रिचडर्सन (Jhye Richardson) के बाहर जाने से टीम को झटका लगा है लेकिन केन रिचर्डसन उनकी भरपाई कर सकते हैं. 

और पढ़ें: World Cup को लेकर पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोंटिंग ने दिया बड़ा बयान, बताया कौन होगा सबसे खतरनाक खिलाड़ी

स्पिन में भी ऑस्ट्रेलिया (Australia) के पास अच्छे विकल्प हैं जिनकी जरूरत उसे टूर्नामेंट के दूसरे हाफ में ज्यादा पड़ेगी. एडम जाम्पा (Adam Zampa) ने भारत में बेहतरीन प्रदर्शन किया था. वह इंग्लैंड में अच्छा कर पाएंगे यह चुनौती है. वहीं नाथन लॉयन (Nathan Lyon) भी ऑस्ट्रेलिया (Australia) के पास हैं लेकिन परेशानी यह है कि लॉयन ने ज्यादा वनडे मैच खेले नहीं हैं. उनके पास हालांकि टेस्ट का अनुभव है जो टीम के लिए कारगार साबित हो सकता है. 

टीम की परेशानी एक यह भी है कि उसके पास अनुभवी मैच फिनिशिर नहीं हैं जो दबाव के पलों में शांत रहकर मैच को संभालते हुए अपनी टीम को जीत दिलाएं. मार्कस स्टोइनिस और एलेक्स कैरी में दम जरूर है कि वह तेजी से रन बना सकें लेकिन आखिरी ओवरों के दबाव में खेलने का अनुभव इन दोनों के पास ज्यादा नहीं है.

और पढ़ें:  World Cup 2019: 1996 की चैंपियन श्रीलंका इस बार नहीं है विश्व कप की दावेदार, 2 साल में बदल चुके हैं 9 कप्तान

टीम : 

एरॉन फिंच (कप्तान), जेसन बेहरनडॉर्फ, एलेक्स कैरी (विकेटकीपर), नाथन कल्टर नाइल, पैट कमिंस, उस्मान ख्वाजा, नाथन लॉयन, शॉन मार्श, ग्लैन मैक्सवेल, केन रिचर्डसन, स्टीव स्मिथ, मिशेल स्टार्क, मार्कस स्टोइनिस, डेविड वार्नर, एडम जाम्पा. 

First Published: May 22, 2019 03:03:58 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो