इस मामले में सचिन तेंदुलकर की तुलना नहीं कर सकते विराट कोहली, इस पाकिस्तानी दिग्गज ने दिया बड़ा बयान

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : December 05, 2019 05:22:57 PM
सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली

सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली (Photo Credit : getty images )

नई दिल्ली:  

पाकिस्तान के पूर्व ऑलराउंडर अब्दुल रज्जाक ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट का स्तर गिर गया है. उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में टीमों के पास टेस्ट, वनडे और टी20 फॉर्मेट के लिए गहराई की कमी है. इसके साथ ही रज्जाक ने टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली की तारीफ करते हुए कहा कि उनकी बल्लेबाजी में निरंतरता है. इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि विराट कोहली अपनी निरंतरता के बावजूद सचिन तेंदुलकर की तुलना में अच्छे बल्लेबाज नहीं हैं. रज्जाक की मानें तो सचिन तेंदुलकर की क्लास विराट कोहली से काफी शानदार थी.

ये भी पढ़ें- खेल साहित्य महोत्सव में हिस्सा लेंगे वीवीएस लक्ष्मण, मुरली कार्तिक और दुती चंद

रज्जाक ने क्रिकेट पाकिस्तान से कहा, "हम उस तरह के विश्व स्तर के खिलाड़ी नहीं देख रहे हैं जो हमने 1992 से 2007 के बीच देखे थे. टी-20 क्रिकेट ने खेल को बदल दिया है. गेंदबाजी, बल्लेबाजी और फील्डिंग में गहराई नहीं है. यह सभी अब बेसिक्स बन गए हैं. उन्होंने कहा, "विराट कोहली को देखिए, जब वो रन करते हैं तो करते ही जाते हैं. हां, बेशक वो शानदार खिलाड़ी हैं और लगातार अच्छा कर रहे हैं, लेकिन मैं उन्हें उस क्लास में नहीं रखूंगा जिसमें सचिन तेंदुलकर थे. सचिन पूरी तरह से अलग क्लास के बल्लेबाज थे."

ये भी पढ़ें- टेस्ट रैंकिंग में 110 से 8वीं रैंक पर पहुंचा ये ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज, 1 साल में लगाई 102 स्थानों की छलांग

सचिन ने भारत के लिए 200 टेस्ट मैच खेले हैं और 15,291 रन बनाए हैं जिनमें 51 शतक और 68 अर्धशतक शामिल हैं. वनडे में उन्होंने 463 मैचों में 44.38 की औसत से 18,426 रन बनाए हैं जिनमें 49 शतक और 96 अर्धशतक शामिल हैं. इसी कारण सचिन को क्रिकेट के भगवान भी कहा जाता है. कई बार हालांकि कोहली और सचिन की तुलना भी की जाती है.

ये भी पढ़ें- Viral Video: कांग्रेस की तरफ से PM बनेगा ये लड़का! 'अनार' होगा चुनाव चिह्न, लंदन में भी कराए जाएंगे काम

बताते चलें कि इससे पहले रज्जाक ने जसप्रीत बुमराह को बच्चा गेंदबाज बताया था. बुमराह पर रज्जाक ने कहा था, "मैंने अपने समय में विश्व स्तर के गेंदबाजों को खेला है, बुमराह जैसे गेंदबाज के सामने मुझे किसी तरह की परेशानी नहीं होती बल्कि दबाव तो उन पर होता. मैं ग्लैन मैक्ग्रा और वसीम अकरम के खिलाफ खेला हूं, इसलिए बुमराह मेरे सामने बच्चे होते और मैं उन पर आसानी से काबू पा आक्रमण करता." रज्जक ने 1999 से 2013 के बीच पाकिस्तान के लिए 46 टेस्ट, 265 वनडे और 32 टी-20 मैच खेले हैं.

रज्जाक ने हालांकि भारतीय गेंदबाज की तारीफ भी की और कहा, "बुमराह अच्छा कर रहे हैं और उन्होंने काफी सुधार किया है. उनका एक्शन थोड़ा अजीब है और गेंद को सीम पर अच्छी तरह से गिराते हैं इसी कारण वह असरदार हैं."

(आईएएनएस इनपुट्स के साथ)

First Published: Dec 05, 2019 05:22:57 PM
Post Comment (+)

LiveScore Live Scores & Results

न्यूज़ फीचर

वीडियो