BREAKING NEWS
  • Ayodhya Case : सुन्‍नी वक्‍फ बोर्ड ने कहीं और जगह मांगी जमीन - Read More »
  • घोर लापरवाही! अस्पताल में 5 घंटे तक बेड पर पड़ा रहा शव, आंखों को खाती रहीं चींट‍ियां- Read More »
  • छोटा राजन का भाई उतरा महाराष्ट्र के चुनावी रण में, इस पार्टी ने दिया टिकट - Read More »

COA ने BCCI सचिव को दिया बड़ा झटका, अब चयन बैठकों में नहीं होंगे शामिल

News State Bureau  |   Updated On : July 18, 2019 05:18:18 PM
COA ने BCCI सचिव को दिया बड़ा झटका, अब चयन बैठकों में नहीं होंगे शामिल

COA ने BCCI सचिव को दिया बड़ा झटका, अब चयन बैठकों में नहीं होंगे शामिल (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई (BCCI)) का कामकाज देखने के लिए सर्वोच्च अदालत द्वारा गठित प्रशासकों की समिति (सीओए (COA)) ने फैसला किया है कि ना तो कोई अधिकारी और ना ही बोर्ड के सीईओ क्रिकेट समिति की किसी भी बैठक में भाग लेंगे. इतना ही नहीं प्रशासकों की समिति (सीओए (COA)) ने यह भी तय किया है कि विदेश दौरों के लिये बैठक प्रशासनिक प्रबंधक बुलायेंगे.

निर्देश में साफ तौर पर कहा गया कि अब से सचिव किसी चयन बैठक में भाग नहीं लेगा और ना ही उसकी सहमति की जरूरत टीम में विकल्प को मंजूरी देने के लिये रहेगी.
पुराने संविधान के तहत चयन समिति सचिव के कार्यक्षेत्र में आती थी लेकिन इस फैसले के बाद सचिव के अधिकार सीमित रह जायेंगे.

सीओए (COA) ने कहा, 'सीओए (COA) को जानकारी मिली है कि सचिव का चयन और चयन समिति की बैठकों में भाग लेने का काम बीसीसीआई (BCCI) के नए संविधान के लागू होने के बाद भी जारी रहता है.'

और पढ़ें: भारत की उड़नपरी पीटी उषा को मिलेगा यह बड़ा सम्मान, IAAF ने किया नामित

सीओए (COA) ने साथ ही कहा, 'इसी तरह चयन समितियां सचिव को ईमेल भेजना जारी रखती है ताकि वे अपनी यात्रा की व्यवस्था कर सकें और क्रिकेट मैच देख सकें. चयन समिति को टीम में किए गए किसी भी चयन या बदलाव के लिए सचिव या सीईओ से अनुमति लेने की कोई जरूरत नहीं है.'

उन्होंने कहा, 'विदेश दौरों को छोड़कर संबंधित चयन समितियों के अध्यक्ष चयन समितियों की बैठकों, पुरुषों की चयन समिति, जूनियर चयन समिति और महिला चयन समिति की बैठकों को आयोजित कर सकेंगे.'

और पढ़ें: ट्रेंट बोल्ट ने बताया कैसे भुलाएंगे विश्व कप की हार का दर्द, कही यह बड़ी बात

सीओए (COA) ने विदेश दौरों के मामले में साथ ही यह भी कहा है कि प्रशासनिक प्रबंधक बैठकों के प्रभारी होंगे.

बीसीसीआई (BCCI) का कामकाज न्यायालय के आदेश और बीसीसीआई (BCCI) के नये संविधान के अनुसार चलाने के लिये ये निर्देश जारी करना जरूरी था : 
1 . विदेश दौरों के अलावा चयन समिति का अध्यक्ष ही चयन समिति की बैठक बुलायेगा जिसमें पुरूष चयन समिति, जूनियर चयन समिति और महिला चयन समिति शामिल है. विदेश दौरों के लिये प्रशासनिक प्रबंधन बैठक बुलायेगा. कोई भी पदाधिकारी या सीईओ किसी क्रिकेट समिति की बैठक में भाग नहीं लेगा.
2 . संबंधित चयन समितियों या प्रशासनिक प्रबंधन को बैठक का विस्तार से ब्यौरा तैयार करना होगा. टीम चयन या बदलाव की घोषणा के बाद अध्यक्ष को अपने हस्ताक्षर के साथ सचिव को यह ब्यौरा देना होगा.
3 . चयन समिति को किसी चयन या बदलाव या विकल्प के लिये सचिव या सीईओ से मंजूरी लेने की जरूरत नहीं है.
4 . सीईओ चयनकर्ताओं के मैच देखने के लिये यात्रा और अन्य बंदोबस्त करेगा. इस संबंध में ईमेल सीईओ को भेजे जायें.

क्रिकेट संचालन समिति ने कहा, ' विदेशी दौरों पर, प्रशासनिक प्रबंधक बीसीसीआई (BCCI) के संविधान के अनुसार बैठकें आयोजित कर करेंगे. लेकिन ना तो कोई अधिकारी और न ही सीईओ किसी भी क्रिकेट समिति की बैठकों में शामिल होंगे.'

और पढ़ें: भारतीय टीम की T20 विश्व कप तैयारी शुरू, नरेंद्र हिरवानी को बनाया गया स्पिन कोच

सीओए (COA) ने कहा ,' प्रशासकों की समिति को बताया गया है कि बीसीसीआई (BCCI) का नया संविधान लागू होने के बावजूद चयन समिति की बैठके माननीय सचिव ही बुला रहे थे.'

इसमें कहा गया ,' यह भी पता चला कि टीम में किसी बदलाव के लिये चयन समिति माननीय सचिव की मंजूरी लेती रही है. इसके अलावा चयनकर्ताओं के क्रिकेट मैचों के लिये जाने संबंधी यात्रा बंदोबस्त के लिये भी सचिव की मंजूरी लेनी पड़ती थी.' 

(भाषा इनपुटस के साथ)

First Published: Jul 18, 2019 05:18:18 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो