BREAKING NEWS
  • देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) का दावा, महाराष्ट्र में बीजेपी जल्द बनाएगी स्थिर सरकार- Read More »
  • महाराष्ट्र में दोबारा चुनाव नहीं चाहते हैं, कांग्रेस के साथ बैठक के बाद लिया जाएगा उचित निर्णय: शरद पवार- Read More »

दिग्गजों को पसंद नहीं आ रहा टेस्ट जर्सी के पीछे लिखा नाम और नंबर, अब शोएब अख्तर ने कह दी ऐसी बात

IANS  |   Updated On : August 05, 2019 05:59:47 PM
image courtesy: ICC/ Twitter

image courtesy: ICC/ Twitter (Photo Credit : )

इस्लामाबाद:  

आईसीसी टेस्ट चैम्पियनशिप में खिलाड़ियों की जर्सी पर उनके नाम और नंबर लिखवाने का नया चलन शुरू हुआ है. ऑस्ट्रेलिया के दो दिग्गज ब्रेट ली और एडम गिलक्रिस्ट इस चलन की आलोचना कर चुके हैं. अब इस फेहरिस्त में पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर का नाम भी जुड़ चुका है. अख्तर ने कहा है कि टेस्ट में सफेद जर्सी के पीछे नाम और नंबर लिखा देख खराब लगता है. इस पूर्व गेंदबाज ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) से इस फैसले को बदलने को कहा है.

ये भी पढ़ें- नवदीप सैनी ने अंतरराष्ट्रीय करियर के पहले ही मैच में कर दी ऐसी गलती, आईसीसी ने दी सख्त चेतावनी

इस समय इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया एशेज सीरीज खेल रही हैं जो टेस्ट चैम्पियनशिप के अंतर्गत आती हैं. इस सीरीज में दोनों टीमों के खिलाड़ियों की जर्सी के पीछे नाम और नंबर लिखे हुए हैं. आईसीसी ने सफेद जर्सी के पीछे नाम और नंबर का नियम इसलिए लागू किया ताकि प्रशंसक खिलाड़ियों के साथ जुड़ सकें. शोएब ने ट्वीट किया, "सफेद किट पर खिलाड़ियों का नाम और नंबर लिखा जाना बेहद खराब लग रहा है. यह खेल को उस पारंपरिक भावना से बाहर निकालना है जिसके साथ अभी तक इसे खेला जाता था. इस फैसले को बदलना चाहिए." ली ने भी इसकी आलोचना की थी और ट्विटर पर लिखा था, "मैं पूरी तरह से टेस्ट टी-शर्ट के पीछे नाम और नंबर लिखे जाने के खिलाफ हूं. आईसीसी आपने जो बदलाव किए हैं मैं उनको पसंद करता हूं लेकिन इस बार आपने यह गलत किया."

ये भी पढ़ें- गौतम गंभीर ने इस दिग्गज क्रिकेटर पर लगाए वंशवाद के 'गंभीर' आरोप, बोले- नाकाबिल बेटे को...

गिलक्रिस्ट ने भी आईसीसी के इस आइडिया को बकवास बताया था. उन्होंने कहा था, "मैं अपनी माफी वापस लेता हूं. नाम और नंबर टी-शर्ट के पीछे खराब लग रहे हैं. आप सीरीज का लुत्फ उठाइए." उन्होंने इससे पहले एक और ट्वीट में लिखा था, "शानदार, हमने शुरुआत कर दी है. मुझे पुराने ख्यलात रखने के लिए माफ कर दीजिए लेकिन मुझे नाम और नंबर पसंद नहीं आ रहे.

First Published: Aug 05, 2019 05:59:47 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो