BREAKING NEWS
  • हिंदू धर्म छोड़कर बौद्ध धर्म अपनाएंगी मायावती, बड़ी तादाद में समर्थक भी करेंगे धर्म परिवर्तन- Read More »
  • जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों ने ट्रक ड्राइवर की गोली मार की हत्या, सर्च अभियान जारी- Read More »
  • पाकिस्तान ने भारत को दहलाने की रची बड़ी साजिश, लश्कर समेत 3 बड़े आतंकी संगठन को सौंपा ये काम- Read More »

VIDEO : युवराज सिंह छह गेंदों में छह छक्‍के मारेंगे, यह सिर्फ एक ही आदमी जानता था, जानें कौन है वह

Pankaj Mishra  |   Updated On : September 19, 2019 01:17:34 PM
एक ही दृश्‍य में देखें युवराज के छह छक्‍के, फोटो बीसीसीआई

एक ही दृश्‍य में देखें युवराज के छह छक्‍के, फोटो बीसीसीआई (Photo Credit : )

New Delhi:  

आज की ही तारीख यानी 19 सितंबर (this day 19 september) और साल अब से 12 साल पहले यानी 2007. यही वह दिन था, जो इतिहास में दर्ज हो गया. भारत के बाएं हाथ के खब्‍बू बल्‍लेबाज युवराज सिहं (yuvraj singh) ने इंग्‍लैंड (India Vs England) के खिलाफ खेले गए मैच में स्‍टूअर्ट ब्रॉड (stuart broad) की छह लगातार गेंदों पर छह छक्‍के (yuvraj singh six sixes) जड़ दिए थे. उस वक्‍त पहला T-20 विश्‍व कप (T-20 WorldCup Cricket)खेला जा रहा था. सुपर सिक्‍स में भारत का मुकाबला इंग्‍लैंड से था. भारत ने यह मैच 18 रन से जीता था.

यह भी पढ़ें ः और जब मोहाली में कप्‍तान विराट कोहली को आई महेंद्र सिंह धोनी की याद, जानें क्‍यों

इस मैच में भारत के कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी (ms Dhoni)बन चुके थे. भारत ने पहले बल्‍लेबाजी की और सलामी बल्‍लेबाज के रूप में गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) और वीरेंद्र सहवाग (Virendra sahwag)क्रीज पर आ डटे. इस जोड़ी ने शानदार बल्‍लेबाजी की और पहले विकेट के लिए 136 रन बना डाले, इंग्‍लैंड के कई दिग्‍गज गेंदबाज बहुत हल्‍के साबित हो रहे थे. 136 रन के कुल योग पर वीरेंद्र सहवाग के रूप में पहला विकेट गिरा. सहवाग ने 52 गेंदों में 68 रन की पारी खेली. इस दौरान सहवाग ने चार चौके और तीन छक्‍के जड़े. इसके बाद बल्‍लेबाजी के लिए रॉबिन उथप्‍पा आए.

यह भी पढ़ें ः भारत को U-19 एशिया कप दिलाने वाले और सचिन तेंदुलकर को आउट करने वाला खिलाड़ी मुंबई की टीम में

हालांकि कुछ देर बाद ही 144 रन के कुल योग पर गौतम गंभीर भी आउट हो गए. गंभीर ने 41 गेंदों में 58 रन की पारी खेली. उन्‍होंने सात चौके और एक छक्‍का जड़ा. गंभीर के आउट होने पर कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी क्रीज पर आ चुके थे. हालांकि दूसरे छोर पर खड़े रॉबिन उथप्‍पा ज्‍यादा कुछ नहीं कर सके और चार गेंदों में छह रन बनाकर आउट हो गए.

यह भी पढ़ें ः IND VS SA : आज मोहाली में होगी 'बारिश', यहां जानें मैदान और मौसम का पूरा हाल

इसके बाद युवराज सिंह क्रीज पर आ चुके थे. किसी को भी नहीं पता था कि अब इतिहास बनने वाला है. एक ऐसा इतिहास जो कई दशकों तक याद रखा जाएगा. दरअसल 17वें ओवर में युवराज सिंह ने दो गेंदों में दो चौके मार दिए थे. इससे इंग्‍लैंड के खेमें खलबली मच गई. 17वें और 18वें ओवर के बीच में इंग्‍लैंड के एंड्रयू फ्लिंटॉफ ने युवराज सिंह के पास जाकर कुछ टिप्‍पणी की, ताकि उनका ध्‍यान भटकाया जा सके. युवराज सिंह बल्‍ला लेकर फ्लिंटॉफ की ओर बढ़े तो कप्‍तान धोनी ने उन्‍हें रोक दिया. ऐसा लगता है कि युवराज सिंह ने तभी ठान लिया था कि अगले ओवर में जो भी गेेंदबाज आए, उसकी बखिया उधेड़ देनी  हैं, इस तरह की युवराज मन ही मन कुछ नया, बड़ा और धांसू करने की बात मन में ठान चुके थे. 

यह भी पढ़ें ः भारतीय टीम के इस पूर्व बल्‍लेबाज ने क्रिकेट को कहा अलविदा, 18 साल का रहा करियर

इसके बाद 18वां ओवर स्‍टूअर्ट ब्रॉड लेकर आए, किसी को पता नहीं था कि क्‍या होने वाला है. तब युवराज सिंह छह गेंदों में 14 रन बनाकर खेल रहे थे. दूसरे छोर पर धोनी भी छह गेंदों में सात रन बना चुके थे. इस ओवर की पहली गेंद ब्रॉड ने युवराज सिंह को फेंकी तो गुस्‍साए युवराज ने ऐसा छक्‍का मारा कि गेंद स्‍टेडियम के बाहर चली गई. एक छक्‍का खाने के बाद ब्रॉड ने दूसरी गेंद युवराज के पैरों पर फेंकी, इस पर युवराज सिंह ने फ्लिक किया और बैकवर्ड स्‍क्‍वेयर लेग की ओर छक्‍का मार दिया. इसके बाद ब्रॉड ने तीसरी गेंद में लाइन ठीक की और सीधे स्‍टंप्‍स की ओर गेंद फेंकी, इस गेंद पर युवराज सिंह ने एक्‍स्‍ट्रा कवर के ऊपर से छक्‍के के लिए रवाना कर दिया.

यह भी पढ़ें ः VIDEO : सबसे बड़ी बॉल को स्‍टीव स्‍मिथ ने कैसे पहुंचाया बाउंड्री पार, देखते रह गए फील्‍डर

अब तक तीन गेंदों में तीन छक्‍के आ चुके थे और इंग्‍लैंड के खेमे में खलबली मच गई थी. अब स्‍टूअर्ट ब्रॉड ने बदलाव किया और अभी तक ओवर द विकेट गेंद कर रहे ब्रॉड अब राउंड द विकेट गेंद फेंकी. यह वाइड फुलटॉस हो गई, इसे युवराज कहां बख्‍शने वाले थे, युवराज ने बैकवर्ड प्‍वाइंट के ऊपर से उसे छक्‍के के लिए फिर भेज दिया. लाइन बदलने का भी कोई फायदा नहीं हुआ तो इंग्‍लैंड के कप्‍तान पॉल कालिंगवुड ने स्‍टूअर्ट ब्रॉड के साथ बातचीत की और मंत्रणा की, इस दौरान फील्‍ड में भी कुछ बदलाव किया गया. इसके बाद ब्रॉड पांचवीं गेंद लेकर आए. इस बार युवराज ने घुटने मैदान पर टेके और मिड विकेट के ऊपर से छक्‍का मार दिया.

यह भी पढ़ें ः OMG : इंग्‍लैंड के स्‍टार क्रिकेटर बेन स्‍टोक्‍स के जन्‍म से पहले पिता ने कर दी थी भाई बहन की हत्‍या!

अब वह घड़ी आने वाली थी, जब इतिहास बनने वाला था, जो कई सालों और सदियों तक याद किया जाने वाला था. युवराज भी समझ गए थे कि आज चूकना नहीं है, अब चाहे जो हो मारना तो छक्‍का ही है. दूसरे छोर पर खड़े महेंद्र सिंह धोनी यह पूरा तमाशा देख रहे थे. उन्‍हें भी पता था कि युवराज मानने वाले नहीं हैं. ब्रॉड ने हाथ से गेंद छोड़ी और युवराज सिंह ने मिड ऑन के ऊपर से छक्‍का मार दिया. और इसी के साथ इतिहास रच दिया गया.

यह भी पढ़ें ः भारतीय Opner रोहित शर्मा के लिए Good News, टेस्‍ट में भी मिलेगा मौका

सिंह ने 12 गेंदों में अर्द्धशतक ठोक दिया था. यह पचासा अभी तक क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में सबसे तेज बना हुआ है, कोई भी बल्‍लेबाज इसे तोड़ नहीं पाया है. इस पारी में युवराज सिंह ने तीन चौकों और सात छक्‍कों की मदद से कुल 58 रन बना दिए थे. इसी पारी की बदौलत भारत ने निर्धारित 20 ओवर में 218 रन बना दिए थे, लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्‍लैंड की टीम छह विकेट के नुकसान पर 200 रन ही बना सकी और इस तरह भारत ने यह मैच 18 रन से जीत लिया.

यह भी पढ़ें ः विक्रम राठौर ने की ऋषभ पंत की तारीफ, कहा- शॉट चयन उन्हें खास बनाता है

इस अद्भुत कारनामे को 12 साल होने के अवसर पर बीसीसीआई ने एक कोलॉज भी अपने ट्वीटर हैंडल पर जारी किया है, जिसमें छह छक्‍कों को एक ही तस्‍वीर में दिखाया गया है. इसके साथ एक मैसेज भी लिखा गया है कि #OnThisDay in 2007, @YUVSTRONG12 etched his name into the record books by hitting six sixes in an over. इस मैच के बाद भी भारत ने अपने सभी मैच जीते और फाइनल में पाकिस्‍तान को हराकर पहला T-20 विश्‍वकप भी जीत लिया था. इस जीत को आज भी याद किया जाता है.

यह भी पढ़ें ः पाकिस्‍तान के क्रिकेटर अब नहीं खा पाएंगे बिरयानी और मिठाइयां, जानें किसने जारी किया यह फरमान

खास बात यह भी है, जो आपको जाननी चाहिए कि युवराज के क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद स्टुअर्ट ब्रॉड ने एक इंटरव्यू में कहा था कि युवराज सिंह ने उन्‍हें 6 छक्के जड़कर गेंदबाज बना दिया था. जिस वक्त उन्होंने मुझे 6 छक्के मारे थे, उस वक्त मैं 21 साल का था. इस मैच में युवराज गेंद को शानदार तरीके से हिट कर रहे थे. वह युवराज का दिन था और उस दिन मेरी कोई कोशिश सफल नहीं हो पा रही थी.

यह भी पढ़ें ः कभी देखा है! एक मैच में 29 छक्‍के और 34 चौके, 41 गेंद में शतक पूरा

दुनिया के धाकड़ बल्‍लेबाजों में शुमार किए जाने वाले बाएं हाथ के बल्‍लेबाज युवराज सिंह ने इसी साल जून में क्रिकेट को अलविदा कह दिया था. उन्होंने 304 एक दिवसीय मैचों में 8701 रन बनाए, जिसमें उनके 14 शतक और 52 पचासे शामिल हैं. वहीं, 58 T-20 अंतरराष्‍ट्रीय मैचों में उनके नाम 1177 रन हैं. उन्‍होंने भारत के लिए 40 टेस्ट मैच भी खेले हैं, जिसमें तीन शतक और 11 अर्धशतकों के साथ 1900 रन बनाए हैं. युवराज के संन्‍यास के बाद भी लोग उन्‍हें आज भी याद करते हैं.

First Published: Sep 19, 2019 11:34:06 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो