BREAKING NEWS
  • विपक्षी दलों का चुनावी गठबंधन: केंद्र में दोस्त, राज्यों में दुश्मन- Read More »
  • Pulwama Terror Attack में सनसनीखेज खुलासा, रावलपिंडी के अस्‍पताल से आतंकियों को गाइड कर रहा था मसूद अजहर- Read More »
  • जिस होटल में आग लगने से हुई थी 17 लोगों की मौत, उसका मालिक गिरफ्तार - Read More »

GST एक देश एक टैक्स

अन्य खबरें

GST बिल वित्त मंत्री अरुण जेटली ने लोकसभा में पेश किया, एक जुलाई से लागू कराने की है तैयारी

सरकार आज लोकसभा में जीएसटी बिलों को एप्रुवल के लिए पेश कर सकती है।

GST डालेगी ऑफिस से मिलने वाली सुविधाओं पर भी चोट, लंच,पिक-ड्रॉप पर भी टैक्स संभव

जीएसटी लागू होने के बाद कर्मचारियों को निजी कंपनी से मिलने वाले कई टैक्स बेनेफिट भी टैक्स दायरे में आ सकते हैं।

GST क्रांतिकारी कदम, जानिए वित्त मंत्री अरुण जेटली की इस बिल पर 6 बड़ी बातें

वित्त मंत्री ने जीएसटी को देश की कर व्यवस्था के लिए एक क्रांतिकारी कदम बताया है।

लोकसभा में CGST और IGST बिल संशोधनों के साथ हुआ पारित

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने लोकसभा में जीएसटी बिल पेश कर दिया है। जीएसटी बिल पर आज सदन में चर्चा होने के बाद सरकार की तरफल से वित्तमंत्री अरुण जेटली जीएसटी पर जवाब दे रहे हैं।

GST को मिली संसद की मंज़ूरी, मनमोहन ने कहा गेम चेंजर, जेटली ने जताया आभार

राज्यसभा में गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) बिल और सेंट्रल गुड्स एंड सर्विस टैक्स (सीजीएसटी) बिल बिना किसी संशोधन के हुआ पास।

GST लागू हुआ तो सर्विस टैक्स 15 से बढ़कर 18 फीसदी होगा: हसमुख अधिया

अधिया ने एक साक्षात्कार में कहा, 'हां, सेवा क्षेत्र के लिए करों की मानक दर 18 फीसदी तक बढ़ सकती है।'

GST: हर तिमाही नहीं भरना होगा टैक्स रिटर्न, अरुण जेटली ने बताया अव्यावहारिक कदम

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि जीएसटी के तहत 50 लाख रुपये से अधिक का कारोबार करने वाले व्यक्ति के लिए हर तिमाही पर टैक्स रिटर्न दाखिल करना व्यावहारिक नहीं होगा।

GST दरों पर लगी मुहर, दूध समेत ज्यादातर वस्तुएं होंगी सस्ती, तंबाकू और छोटी कारें होंगी महंगी

जीएसटी काउंसिल ने टैक्स के चार स्लैब में देश की 80-90 फीसदी वस्तु और सेवाओं की दरों पर मुहर लगा दी है। रोजाना इस्तेमाल किए जाने वाले सामानों को जीएसटी के सबसे निचले यानी 5 फीसदी टैक्स वाले स्लैब में शामिल किया गया है।

GST: लग्जरी कारों की कीमत में बढ़ोत्तरी, एसी और फ्रिज होंगे सस्ते

केंद्र और राज्य सरकारों सरकार के बीच गुरुवार को गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) पर आखिरकार सहमति बन गई है।

1 जुलाई से लागू होने को तैयार GST, अनाज, दूध, तेल, साबुन हुए सस्ते और लग्जरी कारें होगी महंगी

श्रीनगर में हुई जीएसटी परिषद की बैठक में सामानों का टैक्स दरों में वर्गीकरण हो गया है। इसके बाद कौन सी चीजों को किस दायरे में रखा गया है और उससे आपके घर का बजट कितना होगा प्रभावित आइए देखते हैं।

सरकार ने 66 वस्तुओं पर GST घटाया, स्कूल बैग, इंसुलिन सस्ता, सैनिटरी पैड पर टैक्स में कोई बदलाव नहीं

जीएसटी (गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स एक्ट) काउंसिल ने अपनी समीश्रा बैठक में 66 मामलों में टैक्स की दरों को संशोधित कर दिया है। काउंसिल के समक्ष 133 वस्तुओं की जीएसटी दरों में बदलाव का प्रस्ताव आया था।

Newsstate Whatsapp

न्यूज़ फीचर

मुख्य खबरें

वीडियो

फोटो