सावन के 3 सोमवार और पीएम नरेंद्र मोदी के 3 बड़े फैसले, चौथे को क्‍या होगा

DRIGRAJ MADHESHIA  |   Updated On : August 06, 2019 01:42:12 PM

(Photo Credit : )

नई दिल्‍ली:  

इस सावन का सोमवार बड़े और कड़े फैसलों के लिए जाना जाएगा. सावन के पहले सोमवार यानी 22 जुलाई को चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2 Launch) लांच किया गया. दूसरे सोमवार यानी 29 जुलाई को तीन तलाक बिल (triple talaq bill) पर संसद ने कानून पारित किया, जबकि 5 अगस्‍त को तीसरे सोमवार को मोदी सरकार ने जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu Kashmir)से अनुच्‍छेद 370 (Article 370) और 35ए (Article 35A) की समाप्‍ति का फैसला किया है. इसके साथ ही जम्‍मू-कश्‍मीर को दो भागों में बांट दिया गया है. सोमवार सुबह सुरक्षा मामलों की कैबिनेट कमेटी के बाद कैबिनेट की बैठक हुई और उसके बाद राज्‍यसभा में गृह मंत्री अमित शाह ने इस बाबत प्रस्‍ताव पेश किया. प्रस्‍ताव पेश होते ही राज्‍यसभा में हंगामा खड़ा हो गया. कई बार सदन को स्‍थगित किया गया. हालांकि बाद में इस मुद्दे पर बहस शुरू हुई.

पहला सोमवार ः चंद्रयान-2 की सफल लॉन्‍चिंग

भारत ने 22 जुलाई को दोपहर 2.43 बजे चंद्रयान 2 का सफल प्रक्षेपण किया. चंद्रयान को लेकर जीएसएलवी मार्क 3 रॉकेट अपने मिशन पर रवाना हो गया. पीएम नरेंद्र मोदी ने चंद्रयान 2 मिशन के लिए इसरो को बधाई दी और कहा- चंद्रयान 2 का प्रक्षेपण हमारे वैज्ञानिकों और 130 करोड़ भारतीयों के विज्ञान के नए स्तरों को निर्धारित करने के संकल्प को दर्शाता है.

दूसरा सोमवारः तत्‍काल 3 तलाक पर वार

मोदी सरकार ने एक और ऐतिहासिक काम सोमवार के ही दिन किया. राज्‍य सभा में अल्‍पमत में होने के बावजूद मोदी सरकार तत्‍काल तीन तलाक बिल (triple talaq bill) बिल (Triple Talaq) पर रोक लगाने वाले विधेयक को पेश किया. राज्यसभा में तीन तलाक बिल (triple talaq bill) बिल (Triple Talaq Bill) मत विभाजन में 84 के मुकाबले 99 वोटों से पास हो गया.

यह भी पढ़ेंः धारा 370 और अनुच्‍छेद 35A से कश्‍मीर के आजाद होते ही VIRAL होने लगी नरेंद्र मोदी की ये तरस्‍वीरें

लोकसभा में पास हो चुके इस बिल को मोदी सरकार पास कराने में कामयाब रही. लोकसभा में बिल के पक्ष में 303 और विरोध में 82 मत पड़े थे. तब कांग्रेस, तृणमूल, सपा और डीएमके समेत अन्य पार्टियों ने बिल का विरोध करते हुए वोटिंग से पहले सदन से वॉकआउट किया था. इस मुद्दे पर पीडीपी भी वॉक आउट कर गई.

यह भी पढ़ेंः मोदी सरकार के 6 बड़े और कड़े फैसले, और न्‍यू इंडिया की ओर बढ़ चला भारत

इस बिल में तीन तलाक बिल (triple talaq bill) बिल (Triple Talaq Bill) को गैर कानूनी बनाते हुए 3 साल की सजा और जुर्माने का प्रावधान शामिल है. राज्‍यसभा में चर्चा के बाद बिल को सेलेक्ट कमेटी के पास भेजने के प्रस्ताव पर वोटिंग हुई. विपक्षी दलों के कई सांसदों ने बिल को कमेटी के पास भेजने की मांग की थी. सदन ने इसे सेलेक्ट कमेटी के पास भेजने के प्रस्ताव को खारिज कर दिया. कमेटी को भेजने के पक्ष में 84 वोट पड़े जबकि नहीं भेजने के पक्ष में 100 सदस्‍य थे.

तीसरा सोमवारः अनुच्‍छेद 35A और धारा 370 पर कड़ा प्रहार

किसी ने सोचा नहीं था कि मोदी सरकार अपने दूसरे कार्यकाल के करीब ढाई महीने के अंदर ही जम्‍मू-कश्‍मीर से अनुच्‍छेद 35A और धारा 370 को हटाने जैसे बड़े और कड़े फैसले ले लेगी. दरअसल मोदी और शाह की जोड़ी 2014 से ही चौंकाने वाले फैसले लेने के लिए अब मशहूर हो चुकी है.

यह भी पढ़ेंः Article 370 and Article 35A: अब ऐसा होगा नया कश्‍मीर, देखें क्‍या-क्‍या बदल गया

5 अगस्‍त को मोदी सरकार ने जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu Kashmir)से अनुच्‍छेद 370 (Article 370) और 35ए (Article 35A) को समाप्‍त कर दिया. साथ ही जम्‍मू-कश्‍मीर को दो भागों में बांट दिया गया . सोमवार सुबह सुरक्षा मामलों की कैबिनेट कमेटी के बाद कैबिनेट की बैठक हुई और उसके बाद राज्‍यसभा में गृह मंत्री अमित शाह ने इस बाबत प्रस्‍ताव पेश किया.

चौथे सोमवार को क्‍या..

अब लोगों को इंतजार चौथे सोमवार यानी 12 अगस्‍त को क्‍या होगा? क्‍या राम मंदिर पर कोई फैसला आएगा या समान नागरिक संहिता पर कोई बात बनेगी?  सवाल अनगिनत हैं पर जवाब अब 12 अगस्‍त को ही मिलेगा.

First Published: Aug 05, 2019 05:17:58 PM
Post Comment (+)

LiveScore Live Scores & Results

न्यूज़ फीचर

वीडियो