Exclusive

अन्य खबरें

हद हैः स्थिति सामान्य होते ही फिर हैवानियत पर उतारू चीनी, पढ़ें खास रिपोर्ट

दुनिया की एक-तिहाई आबादी को घरों में कैद होने (Lockdown) को मजबूर करने के बाद चीनियों ने फिर से अपने 'प्रिय भोजन' की ओर रुख कर लिया है. चीन में इस जानलेवा संक्रमण से हालात सामान्‍य होते ही फिर मीट बाजार खुलने लगे हैं.

चीन ने दुनिया को किया गुमराह, ऐसे फैलाया ‘किलर वायरस’,जानें तारीख दर तारीख

अगर चीन ने इस वायरस की शुरुआत के समय ही ज्यादा पारदर्शिता बरती होती तो कोरोना के कहर को काफी हद तक कम किया जा सकता था.

टीवी पर रामायण देख रहे हैं, तो जान लें 300 से एक हजार तक हैं और भी विविध रूप

अस्सी के दशक में 'रामायण' ने सामाजिक संपर्क बढ़ाने का काम किया. यह अलग बात है कि लगभग तीन दशक के बाद आज इसे फिर से शुरू करने का उद्देश्य सामाजिकता को कम करना है.

सरकार... अगर शहर नहीं छोड़ा तो भूखों मर जाएंगे, सैकड़ों किमी के सफर पर निकले 'कोरोना पीड़ित'

पेशानी पर 'कल क्या होगा' के सवालिया निशान के साथ रोज कमाई के बाद चूल्हा जलाने के आदी इन लोगों में से कई जिंदगी से कदम-ताल करते हुए सैकड़ों किमी दूर अपने घरों की ओर पैदल ही निकल लिए.

EXCLUSIVE : अब तक की सबसे बड़ी Good News, आ गई कोरोना वायरस की दवा, अब होगा इसका काम तमाम

पूरी दुनिया में कहर बरपाने वाला घातक और जानलेवा कोरोना वायरस अब और तेजी से पैर पसार रहा है. कोरोना वायरस के निपटने के लिए पूरी दुनिया के डाक्‍टर और रिसर्च करने वाले जुटे हुए हैं. लेकिन अभी तक आशातीत सफलता मिलती हुई नहीं दिख रही है.

कोरोना की भविष्‍यवाणी तो बहुत पहले ही हो गई थी, जानिए कितने लोगों की मौत की कही थी बात

कोरोना वायरस आज की तारीख में पूरी दुनिया में हिलाए हुए है. पूरा दुनिया में तबाही और कोहराम मचा हुआ है. लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि एक वैज्ञानिक ने 14 साल पहले ही इस वायरस के आने की भविष्‍यवाणी कर दी थी.

कोरोना से चीन ने किया 3268 मौत का दावा, हकीकत में क्या 1 करोड़ 50 लाख मरे? जानें क्यों

चीन ने सिर्फ 3268 मौत को आंकड़ा दुनिया को दिया है जबकि असल हकीकत इससे काफी अलग है. मीडिया रिपोर्ट चीन में एक करोड़ से अधिक मौत का दावा कर रहे हैं.

Shaheed Diwas 2020 : आखिर क्यों हुई थी भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को फांसी, पढ़ें पूरा सच

भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव ने 1928 में लाहौर में एक ब्रिटिश जूनियर पुलिस अधिकारी जॉन सॉन्डर्स की गोली मारकर हत्या कर दी थी. इसके बाद सेंट्रल एसेंबली में बम फेंक दिया.

Shaheed Diwas 2020: गांधी ने भगत सिंह की फांसी को रोकने की कोशिश नहीं की? पढ़ें वो सच शायद आप नहीं जानते होंगे

वर्ष 1931 में 17 फरवरी को गांधी और वायसराय इरविन के बीच बातचीत शुरू हुई. लोग चाहते थे कि गांधी तीनों की फांसी रुकवाने के लिए इरविन पर जोर डालें.

'हाथ' का साथ छोड़ बीजेपी का 'कमल' थामने वाले कांग्रेस के 7 बड़े चेहरे

सिंधिया कोई पहले कांग्रेसी नेता नहीं है, जिन्होंने भारतीय जनता पार्टी (BJP) का दामन थामा है. हालिया समय में इसके पहले कांग्रेस के सात बड़े चेहरे बीजेपी में शामिल हो चुके हैं.

ज्योतिरादित्य सिंधिया 53 साल बाद सपना साकार कर रहे दादी विजया राजे का !

जनसंघ की संस्थापक सदस्यों में रहीं राजमाता के नाम से मशहूर विजयाराजे सिंधिया चाहती थीं कि उनका पूरा परिवार भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में लौट आए. अब ज्‍योतिरादित्‍य उनके इस सपने को साकार करते नजर आ रहे हैं.

न्यूज़ फीचर

मुख्य खबरें

वीडियो

फोटो