BREAKING NEWS
  • सचिन तेंदुलकर के लिए बेहद खास है आज का दिन, 20 नवंबर 2009 को बनाया था ये चमत्कारी रिकॉर्ड- Read More »
  • यूपी में जनगणना का पहला चरण 16 मई से होगा शुरु, राज्यपाल ने जारी किया आदेश- Read More »

चंद्रयान-2 के ऑर्बिटर ने चांद की भेजी लेटेस्ट तस्वीर, ISRO ने किया शेयर

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : October 04, 2019 11:07:18 PM
चंद्रमा की तस्वीर

चंद्रमा की तस्वीर (Photo Credit : (इसरो ट्विटर हैंडल) )

नई दिल्ली:  

इसरो (ISRO) ने चंद्रयान-2 के ऑर्बिटर हाई रिजोल्यूशन कैमरे से ली गई तस्वीर को जारी किया है. इस हाई रिजोल्यूशन कैमरे ने चंद्रमा के सतह की तस्वीर ली है. इस फोटो में चंद्रमा के सतह पर बड़े और छोटे गड्ढे नजर आ रहे हैं. बता दें कि पिछले दिनों इसरो की ओर से अंतरिक्ष में चंद्रयान-2 भेजा गया था. मिशन चंद्रयान 2 के आखिरी क्षणों में भले ही विक्रम लैंडर से संपर्क टूट गया पर आर्बिटर अब भी चंद्रमा का चक्‍कर लगा रहा है.

यह भी पढ़ेंःअगर आपने जॉब बदले वक्त ये काम नहीं किया तो EPF बैलेंस निकासी में हो सकती है परेशानी

ऑर्बिटर के हाई रेजॉलूशन कैमरे से खींची इन तस्वीरों में चांद की अलग ही झलक देखने को मिल रही है. कुछ दिन पहले ही ऑर्बिटर से खींची तस्वीरों के जरिए इसरो ने विक्रम लैंडर की लोकेशन मिलने की जानकारी भी दी है. लैंडर विक्रम से संपर्क टूटने के बाद भी इसरो ने अभी तक पूरी तरह से उम्मीद नहीं छोड़ी थी.

बता दें कि 7 सितंबर को लैंडर विक्रम को चांद की सतह पर सॉफ्ट लैंडिग नहीं हो पाई थी और विक्रम से इसरो का संपर्क टूट गया. बाद में लैंडर के हार्ड लैंडिंग की पुष्टि नासा और इसरो के वैज्ञानिकों ने भी की. न चांद की कक्षा में चंद्रयान-2 का ऑर्बिटर मौजूद है जो 7.5 साल तक अपना काम करता रहेगा. इसी ऑर्बिटर के कैमरे से ही चांद की नई तस्वीरें साझा की गई हैं.

यह भी पढ़ेंःअयोध्या केसः 491 साल पुराना विवाद, अब सुनवाई के बचे दिन चार

इसरो चीफ के. सिवन ने भी टीओआई से बातचीत में कहा था कि लैंडर विक्रम के मिलने की अब भी संभावना है. उन्होंने कहा, 'ऑर्बिटर की उम्र साढ़े 7 सालों से ज्यादा है, न कि 1 साल, जैसा कि पहले बताया गया था. इसकी वजह है कि उसके पास बहुत ज्यादा ईंधन बचा हुआ है. ऑर्बिटर पर लगे उपकरणों के जरिए लैंडर विक्रम के मिलने की संभावना है.'

लैंडर विक्रम को मिले झटके के बावजूद भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के चंद्रमा की ओर बढ़ने के प्रयास पर पूरी दुनिया ने गर्व जताया है. कई देशों के प्रमुखों ने ISRO के प्रयासों को सराहा है. हालांकि, विक्रम लैंडर को इसरो ने 2 दिन के अंदर ही खोज लिया. न्‍यूज एजेंसी एएनआई से इसरो प्रमुख के. सिवन ने बताया कि हमें विक्रम लैंडर के बारे में पता चला है, वह चांद की सतह पर देखा गया है. ऑर्बिटर ने लैंडर की एक थर्मल पिक्चर ली है. लेकिन अभी तक कोई संचार स्थापित नहीं हो पाया है. हम संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं. सिवन के इस बयान के बाद करोड़ों भारतीयों की उम्‍मीदें भी अब चांद पर पहुंच गई हैं.

First Published: Oct 04, 2019 11:05:07 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो