BREAKING NEWS
  • Aus Vs Pak: पांच बार की विश्‍व चैंपियन ऑस्ट्रे‍लिया का मुकाबला पाकिस्‍तान से थोड़ी देर में- Read More »
  • अलवर रेप और हत्‍या मामला : पॉक्‍सो कोर्ट ने आरोपी को सुनाई सजा-ए-मौत- Read More »
  • Bharat Box Office Collection Day 1: सलमान खान की 'भारत' ने बॉक्स ऑफिस पर ऐसे मचाया धमाल, पाए इतने करोड़- Read More »

Haj 2019 : हज यात्रियों के लिए लॉन्च हुआ Mobile App, हाजियों को मिलेंगे ये फायदे

IANS  |   Updated On : July 14, 2019 12:26 PM
Haj 2019

Haj 2019

नई दिल्ली:  

हज यात्रियों को बेहतर सुविधा देने के लिए एक मोबाइल एप लांच किया गया है, जो हजियों के लिए बेहतर सुविधा का ख्याल रखेगा और उनकी मुश्किल घड़ी में साहयक होगा. स्टेट हज कमेटी के सचिव राहुल गुप्ता ने बताया कि काउंसिल जनरल ऑफ इंडिया ने इंडियन हाजी इन्फरेमेशन सिस्टम नामक एप लांच किया है. इससे हाजियों को काफी फायदा होगा. लाइट से लेकर अन्य छोटी-छोटी जानकारी भी इससे मिलेगी, मदीना व मिना में अपनी लकेशन समझनी हो या फिर अपनी परेशानी को दूर करने के लिए हज सेवकों से संपर्क करना हो, इससे सब आसान रहेगा.

ये भी पढ़ें: पीएम नरेंद्र मोदी ने दिया मुस्लिम बेटियों को तोहफा, 50 लाख लड़कियों को सालाना स्कॉलरशिप

उन्होंने बताया कि इस एप के जरिए हज यात्री सीधे भारतीय हज कार्यालय से सीधे जुड़ सकेंगे. एप में मौजूद इमरजेंसी टोल फ्री नंबर 8002477786 पर कल कर सीधे समस्या दर्ज करा सकेंगे. इस एप को हज यात्री प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं. एप का इस्तमाल करने के लिए हज यात्रियों को अपना कवर नंबर, पासपोर्ट नंबर व मोबाइल नंबर फीड कर अपना पंजीकरण करना होगा.

गुप्ता ने बताया कि नंबर फीड करने के बाद एप पूरी तरह सक्रिय हो जाएगा, जिसके बाद हज यात्री वीडियो के जरिए हज अरकान का तरीका जान सकते हैं. सऊदी अरब में हज यात्रा के दौरान यात्री क्या कर सकते हैं और क्या नहीं, इसकी भी जानकारी एप के जरिए मिलेगी. हज सेवक कहां तैनात है और यात्रियों के आसपास क्या-क्या सुविधाएं हैं, जैसे अस्पताल व रेस्ट्रां सहित अन्य महत्वपूर्ण जानकारी भी हासिल कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें: मस्जिदों में मुस्लिम महिलाओं के प्रवेश की याचिका SC ने की खारिज

 राहुल ने बताया कि इस एप के माध्यम से यात्रियों का फीडबैक भी लिया जाएगा. एप पर उर्दू, हिंदी व अंग्रेजी भाषा में सर्वे फार्म उपलब्ध कराया जाएगा, जिसको भरकर हाजियों को फीडबैक देना होगा.

बता दें कि हज इस्लाम के पांच स्तंभों में से एक है और यह उन सभी के लिए अनिवार्य है जिनकी आर्थिक व शारीरिक स्थिति इसे करने की है.

First Published: Sunday, July 14, 2019 12:17 PM
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

RELATED TAG: Haj 2019, Mobile App, Haj Pilgrims, Haj,

डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

अन्य ख़बरें

Newsstate Whatsapp

न्यूज़ फीचर

वीडियो

फोटो