CBSE टॉपर को इलाज के लिए 5 करोड़ की जरूरत, PM मोदी से मांग चुकी है मदद

सीबीएसई की 10वीं कक्षा की परीक्षा में सनसिटी स्कूल की एक छात्रा अनुष्का पांडा ने 97.8 प्रतिशत अंकों के साथ देश में दिव्यांग श्रेणी में शीर्ष स्थान प्राप्त किया है।

  |   Updated On : May 30, 2018 06:25 PM
अनुष्का पांडा (फाइल फोटो)

अनुष्का पांडा (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

सीबीएसई की 10वीं कक्षा की परीक्षा में सनसिटी स्कूल की एक छात्रा अनुष्का पांडा ने 97.8 प्रतिशत अंकों के साथ देश में दिव्यांग श्रेणी में शीर्ष स्थान प्राप्त किया है।

अनुष्का ने कई मुश्किलों का सामना करते हुए यह मुकाम हासिल किया। सीबीएसई टॉपर अपना इलाज कराना चाहती है और इसके लिए काफी रुपयों की जरूरत होगी। ऐसे में वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मदद की गुहार लगा चुकी है।

इस बीमारी से ग्रस्त है अनुष्का

अनुष्का रीढ़ की बीमारी 'स्पाइनल मस्कुलर एट्रॉपी' से ग्रस्त हैं। यह ऐसी अनुवांशिक बीमारी है, जिससे रीढ़ की हड्डी की मोटर नर्व कोशिकाएं प्रभावित होती हैं। इससे रोगी को चलने-फिरने समेत अन्य समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

ये भी पढ़ें: CBSE 10th Result 2018: 499 अंक के साथ चार टॉपर

व्हीलचेयर पर आश्रित होने के बावजूद 14 साल की अनुष्का ने यह सफलता हासिल की।

अपनी सफलता के बारे में अनुष्का ने कहा, 'मैं पहले दिन से ही अपनी पढ़ाई में निरंतर लगी हुई थी। मैं अपने स्कूल को धन्यवाद देती हूं, जिसने मेरी काफी मदद की। मैं दिव्यांग हूं, इसलिए मेरे स्कूल ने यह सुनिश्चित किया कि मुझे परीक्षा में लिखने के लिए विशेष सुविधाएं दी जाएं।'

अनुष्का ने कहा, 'मैं बहुत खुश हूं कि मेरे कठिन परिश्रम का इनाम मिला है। यह मेरे लिए वास्तव में एक बड़ा क्षण है। मैं नतीजे आने के पहले काफी नर्वस थी।'

वहीं अनुष्का के पिता अनूप कुमार पांडा ने कहा, 'मुझे मेरी बेटी पर गर्व है। बोर्ड परीक्षा में उसका बेहतरीन प्रदर्शन उसकी प्रतिबद्धता और ढृढ़ता का प्रमाण है।'

सेक्टर 67 में रहने वाली अनुष्का को शतरंज खेलना पसंद है। वह सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहती है, लेकिन इसके पहले वह अपना इलाज भी कराना चाहती है।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, अनुष्का का इलाज अमेरिका में ही हो सकता है, जिसके लिए काफी पैसों की जरूरत होगी। अनुष्का ने अपने इलाज में मदद के लिए पीएम मोदी को 28 जुलाई 2017 को लेटर लिखा था।

अनुष्का ने डायरेक्टर जनरल ऑफ ड्रग कंट्रोल को भी दवाई भारत भेजने की अनुमति के लिए लेटर लिखा था, लेकिन उन्हें कहा गया है कि इसका इलाज भारत में नहीं हो सकता है।

सीबीएसई टॉपर ने अंग्रेजी में 95, हिस्ट्री में 99, गणित में 99, साइंस में 98 और सोशल साइंस में 98 अंक हासिल किए हैं।

(IANS इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें: अरुणाचल प्रदेश में स्थाई हाई कोर्ट जल्द स्थापित होगा: पेमा खांडू

First Published: Wednesday, May 30, 2018 06:11 PM

RELATED TAG: Anushka Panda, Cbse,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो