Raksha Bandhan 2018: जानें रक्षा बंधन का धार्मिक महत्व, नहीं करनी चाहिए ये गलतियां

हिंदू धर्म में रक्षाबंधन का बेहद खास महत्व है। यह त्योहार भाई-बहन के अटूट प्रेम को दर्शाता है। इस बार राखी का पर्व 26 अगस्त 2018 को मनाया जाएगा।

  |   Updated On : August 21, 2018 03:17 PM
रक्षा बंधन 2018 (फाइल फोटो)

रक्षा बंधन 2018 (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

हिंदू धर्म में रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) का बेहद खास महत्व है। यह त्योहार भाई-बहन के अटूट प्रेम को दर्शाता है। इस बार राखी का पर्व 26 अगस्त 2018 को मनाया जाएगा।

यह पवित्र त्योहार श्रावण मास की शुक्ल पूर्णिमा को मनाया जाता है। इस दिन बहनें अपने भाई की रक्षा के लिए उनकी कलाई पर रक्षा सूत्र बांधती हैं। वहीं, भाई अपनी बहनों को जीवनभर उनकी रक्षा करने का वचन देते हैं।

ये है रक्षाबंधन का धार्मिक महत्व

पुराणों के अनुसार, राजसूय यज्ञ के समय भगवान कृष्ण को द्रौपदी ने रक्षा सूत्र के रूप में अपने आंचल का टुकड़ा बांधा था। इसी के बाद से ही बहनों द्वारा भाइयों को राखी बांधने की परंपरा शुरू हुई थी।

ये भी पढ़ें: ये फिल्में न होतीं तो राखी का त्योहार फीका हो जाता !

राखी बांधने का शुभ मुहूर्त

इस बार राखी बांधने का शुभ मुहूर्त 26 अगस्त को सुबह 5:59 बजे से शाम को 5 बजकर 25 मिनट तक है।

रक्षाबंधन पर नहीं करनी चाहिए ये गलतियां

- थाली में घी का दीपक जरूर रखें।
- रक्षा सूत्र और पूजा की थाल भगवान को समर्पित करने से पहले राखी नहीं बांधे।
- भाई को पश्चिम या दक्षिण की तरफ मुंह करके न बैठाएं। उन्हें पूर्व या उत्तर की तरफ मुंह कराकर बैठाएं।
- रक्षा सूत्र बांधते समय भाई और बहन का सिर खुला नहीं होना चाहिए।

ये भी पढ़ें: रक्षाबंधन में भाइयों को दें टक्कर, खूबसूरत दिखने के लिए अपनाएं ये TIPS

- राखी बांधने के बाद माता-पिता और गुरुओं का आशीर्वाद जरूर लें।
- काले कपड़े न पहनें और तीखा या नमकीन खाद्य नहीं खाएं।

First Published: Tuesday, August 21, 2018 02:59 PM

RELATED TAG: Raksha Bandhan 2018,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो