सावन में इन मंत्रों के साथ करेंगे बाबा भोलेनाथ की पूजा, पूरी होगी हर मनोकामना

News State Bureau  |   Updated On : July 17, 2019 07:18:08 AM
भगवान भोले की आराधना करते हुए श्रद्धालु (फाइल फोटो)

भगवान भोले की आराधना करते हुए श्रद्धालु (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

सावन का नाम सुनते ही सब जगह हरियाली ही हरियाली नजर आने लगती है. इसके साथ ही बाबा भोले का नाम कानों में सुनाई पड़ने लगता है. 17 जुलाई से यानी आज से सावन शुरू हो रहा है. सावन में भगवान शिव की आराधना का विशेष महत्व होता है. सवान महीना भगवान शिव को समर्पित होता है. सावन के पूरे महीने में अगर कुछ मंत्रों के साथ भगवान शिव की पूजा-अर्चना की जाती है तो घर में सुख-समृद्धि आती है. सभी मनोकामनाएं पूरी होती है. चलिए बताते हैं बाबा भोले को प्रसन्न करने वाले मंत्र.

यूं तो सावन में पूरे महीने भगवान शिव की पूजा अर्चना करने का महत्व है. लेकिन सोमवार की पूजा विशेष होती है. घर में भगवान शिव, माता पार्वती, कार्तिकेय, श्रीगणेश और नंदी की प्रतिमा या फिर तस्वीर स्थापित करें. इसके बाद खुद को पवित्र करके भगवान शिव को दूध, दही और शहद से स्नान कराएं. इसके बाद वस्त्र पहनाए. चंदन लगाने के बाद अक्षत्, भांग, धतूरा, बेलपत्र, दूध, नैवेद्य, धूप आदि अर्पित करें. बेलपत्र 11, 21, 51, 101 की संख्या में होनी चाहिए. इस दौरान आप लगातार ओम नम: शिवाय, ओम नम शिवाय का मंत्र पढ़ें. आप प्रतिदिन इस मंत्र की माला भी जप सकते हैं.

इसे भी पढ़ें:देवघरः बाबा बैद्यनाथ की नगरी शिवभक्तों के स्वागत को तैयार, कांवड़ियों के लिए विशेष सुविधाएं

इसके अलावा भगवान शिव के पंच स्वरुप मंत्रों का भी जाप कर सकते हैं.

  • ओम अघोराय नम:
  • ओम तत्पुरूषाय नम:
  • ओम ईशानाय नम:
  • ओम साधो जातये नम:
  • ओम वाम देवाय नम:

इसके अलावा महामृत्युंजय मंत्र का भी जाप कर सकते हैं. इसके जाप से अकाल मृत्यु और असाध्य रोगों से मुक्ति मिलती है.

ॐ हौं जूं स: ॐ भूर्भुव: स्व: ओम त्रयम्बकम् यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम उर्वारुकमिव बन्धनान मृत्योर्मुक्षीय मामृतात् भूर्भुव: स्वरोम जूं स:

सावन के महीने में मदीरा पान, मांसाहारी भोजन से दूर रहे हैं. गलत ख्याल मन में नहीं लाए. सभी के साथ प्यार के साथ रहना चाहिए. किसी के लिए भी बुरा मत सोचें.

First Published: Jul 16, 2019 09:37:47 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो