रंग बिरंगी आकर्षक मूर्तियों से पटे मुंबई के पंडाल, प्रतिमा खरीदने की होड़

विकास श्रीवास्तव  |   Updated On : August 19, 2019 09:03:21 PM
रंग बिरंगी आकर्षक मूर्तियों से पटे मुंबई के पंडाल, प्रतिमा खरीदने की होड़

महाराष्ट्र में गणेशोत्सव का फाइल फोटो (Photo Credit : )

मुंबई:  

महाराष्ट्र में गणेशोत्सव बड़े व्यापक रूप में मनाया जाता है. इस त्योहार को महज कुछ दिन रह गए हैं और मुंबई में कई पंडाल सुंदर और मन को मोह लेने वाली गणेश प्रतिमाओं से पट गए हैं. गणेश भक्तों में इन मूर्तियों को अपने घर ले जाने की जैसे होड़ मची हुई है. 

यहां गणेश.. वहां गणेश.. सर्वत्र गणेश.. पार्वती नंदन प्रथमेश के कई रूपों के दर्शन अगर इन दिनों आपको करने हैं तो मुंबई पधारिये. यहां के पंडालों में गणेश की बहुत आकर्षक और रंगबिरंगी प्रतिमाएं आपका मन मोह लेंगी. ये वो प्रतिमाएं हैं जो भक्तों के घरों में और पंडालों में गणेशोत्सव के दरम्यान विराजेंगी और इन्हें अपने घरों में ले जाने के लिए हर भक्तगण आतुर नज़र आ रहा है.

यह भी पढ़ेंः KBC का 11 सीजन शुरू, जानें अब तक के सभी विजेताओं को जो कर रहे यह काम

मुंबई के पंडालों में इन दिनों भगवान गणेश के कई रूप देखने को मिल रहे हैं. और सभी रूप एक से बढ़ कर एक हैं. कहीं नंदी की सवारी करते गणेश आपको नज़र आते हैं तो कहीं हारमोनियम बजाते गणेश भी भक्तों को रिझाते आपको मिल जाएंगे.

यह भी पढ़ेंः देश में बाढ़ और बारिश की मनमानी, पहाड़ से मैदान तक पानी-पानी

इन मूर्तियों को साकार रूप देने में यहां के कारीगरों ने महीनों को मेहनत की है तब जाकर ये खूबसूरत मूर्तियां बन कर तैयार हुई है. इन मूर्तियों में मोती और हीरे जड़कर ये कारीगर इन्हें और मोहक रूप देने का काम कर रहे हैं.

यह भी पढ़ेंः VIDEO: घायल तेंदुए की खींच रहा था तस्‍वीर, तभी मारा ऐसा झपट्टा कि..

महाराष्ट्र में गणेशोत्सव की शुरुआत 2 सितंबर से होनी है. लगातार 9 दिन तक चलने वाली इस महोत्सव में पूरी मायानगरी शामिल होती है. ये भव्य और सुंदर गणेश मूर्तियाँ कुछ दिनो बाद बड़े बड़े पंडालों में और भक्तों के घरों में भी विराजेंगी.

पूजा के लिए जरूरी सामग्री

गणपति की मूर्ति को घर में स्थापित करने के समय सभी विधि विधान के अलावा जिन सामग्री की जरूरत होती है, वो इस प्रकार हैं. शुद्ध जल, दूध, दही, शहद, घी, चीनी, पंचामृत, वस्त्र, जनेऊ, मधुपर्क, सुगंध चन्दन, रोली सिन्दूर, अक्षत (चावल), फूल माला, बेलपत्र दूब, शमीपत्र, गुलाल, आभूषण, सुगन्धित तेल, धूपबत्ती, दीपक, प्रसाद, फल, गंगाजल, पान, सुपारी, रूई, कपूर

इस तरह शुरू करें पूजा

गणेश चतुर्थी की पूजा करने से पहले नई मूर्ति लाना जरूरी है. इस प्रतिमा को आप अपने मंदिर या देव स्थान में स्थापित कर सकते हैं लेकिन इससे पहले भी कई खास बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है. अगर आप गणपति जी की मूर्ति को किसी कारण स्थापित नहीं कर सकते तो एक साबुत पूजा सुपारी को गणेश जी का स्वरूप मानकर उसे घर में रख सकते हैं.

First Published: Aug 19, 2019 09:03:21 PM

न्यूज़ फीचर

वीडियो