BREAKING NEWS
  • मिठाई का एक डिब्बा ही बन गया अहम सुराग, कमलेश तिवारी के कातिलों तक ऐसे पहुंची पुलिस- Read More »
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी में कई पदों पर निकली नौकरी, यहां से करें अप्लाई- Read More »
  • यूपी सरकार ने मानी शर्तें, अंतिम संस्कार के लिए राजी हुआ कमलेश तिवारी का परिवार- Read More »

वाराणसी में महाशिवरात्रि की धूम, काशी विश्वनाथ मंदिर के बाहर भक्तों की लंबी कतार, बम-बम भोले के लगाए जयकारे

News State Bureau  |   Updated On : March 04, 2019 07:20:08 AM
शिवरात्री (फोटो-IANS)

शिवरात्री (फोटो-IANS) (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

काशी विश्वनाथ मंदिर के बाद श्रद्धालु का हुजूम देखकर ही भक्तों के उत्साह का अंदाजा लगाया जा रहा है. देश के कोने-कोने से भक्त बाबा के दर्शन करने के लिए आए हैं. इस बार महाशिवरात्रि पर पिछले सालो की तुलना में ज्यादा श्रद्धालुओं की भीड़ होगी. वाराणसी के पुलिस कप्तान का कहना है कि इसके लिए पर्याप्त इंतजाम भी किये गए है, जिनमें ट्रैफिक डायवर्जन , भारी संख्या में पुलिसकर्मी और कमांडो की तैनाती और ड्रोन और सीसीटीवी कैमरे से निगाहबानी शामिल है. वहीं रेलवे और बस स्टेशन के अलावा हाईवे पर भी पुलिस की नजर है. वीवीआईपी के दर्शन के लिए एक समय सीमा निर्धारित की गई है, जिससे किसी को कोई परेशानी न हो.

देवों के देव महादेव की नगरी काशी में बम-बम बोल के नारे गूंज रहे है. काशी महाशिवरात्रि की रौनक अभी से ही साफ़ नजर आ रही है. काशी विश्वनाथ मंदिर के बाहर श्रद्धालुओं का हुजूम उमड़ पड़ा है. विश्वनाथ मंदिर के गेट के बाहर भक्तों की लंबी कतारे है, जिसने भोले बाबा का दर्शन किया वो बेहद खुश नजर आ रहा है. भक्तों का कहना है की कई घंटे इंतजार के बाद ही आराध्य के दर्शन हो पा रहे है पर बाबा के दर्शन से जीवन धन्य हो रहा है तो कोई अपने बेटे की बीमारी ठीक होने की मन्नत के बाद यहां आ पंहुचा है.

इस बार महाशिवरात्रि का महापर्व सोमवार को पड़ रहा है यह संयोग वर्षो बाद आ रहा है. सोमवार भगवान शिव का वार माना जाता है ऐसे में इस बार यह खास संयोग होने से भक्तो को बाबा की असीम कृपा प्राप्त होगी. बीएचयू के संस्कृत एवं धर्म विज्ञान संकाय के प्रमुख बताते है इस अदभुत संयोग का फल उन भक्तो को प्राप्त होगा जो बाबा का पूजन अर्चन करेंगे. इसके अलावा महाशिवरात्रि पर पूजन अर्चन के बारे में उन्होंने बताया की महाशिवरात्रि पर सोरह से उपचार पूजन अर्चन का विधान है. इसके अलावा जो इतनी व्यवस्था नहीं कर पाते अगर वो व्रत रहते हुए महाशिवरात्रि पर बाबा का जलाभिषेक करे तो बाबा प्रसन्न होते है. भक्तो की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है. यह सारी बाते न्यूज़ स्टेट/न्यूज़ नेशन संवादाता सुशान्त मुखर्जी को बीएचयू के संस्कृत धर्म विज्ञान संकाय प्रमुख विनय पांडेय ने बताई .

वाराणसी में काशी विश्वनाथ मंदिर के बाहर महाशिवरात्रि के लिए दर्शन पूजन के लिए भक्तो की कई किलोमीटर लम्बी कतार अभी से नजर आ रही है इसके अलावा मंदिर के गेट पर एलईडी स्क्रीन पर बाबा के लाइव दर्शन पाकर भी भक्त बेहद खुश है.

First Published: Mar 03, 2019 08:22:43 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो