BREAKING NEWS
  • हाथियों से खेती को बचाने के लिए किसानों ने खोजा अच्छा तरीका, किया ऐसा काम- Read More »
  • एक बार फिर से नोएडा में होगी 'राहगीरी', इस बार ऐसे होगी मस्ती- Read More »
  • Gold Silver Rate Today 20 Sep: सोने-चांदी में सीमित दायरे का कारोबार, मौजूदा भाव पर कैसे करें ट्रेड, जानें टॉप ट्रेडिंग कॉल्स- Read More »

Kumbh Mela 2019 : सीएम योगी बोले कुंभ में पहली बार आम श्रद्धालुओं के लिए खुलेंगे अक्षयवट के द्वार

NEWS STATE BUREAU  |   Updated On : January 10, 2019 03:32:07 PM
सीएम योगी ने दी कुंभ से जुड़ी कई जानकारियां

सीएम योगी ने दी कुंभ से जुड़ी कई जानकारियां

नई दिल्ली:  

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज  में 15 जनवरी से शुरू होने जा रहे भव्य कुंभ महोत्सव के चलते सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को प्रेस कांफ्रेंस कर तमाम जानकारियां दीं. मुख्यमंत्री ने बताया कि कुंभ मेले के चलते मीडिया सेंटर का उद्घाटन किया गया है. उन्होंने कहा कि हमने इस बार प्रयागराज में शुरू होने वाले कुंभ को भव्य और दिव्य बनाने का पूरा प्रयास किया है. जिसमें मीडिया का भी सहयोग मिला. मेला पूरी भव्यता और दिव्यता से आगे बढ़े इसके लिए डेढ़ वर्ष पहले ही कार्य योजना शुरू कर दी गई थी. उन्होंने कहा कि हजारों साल बाद कुंभ को वैश्विक मान्यता मिल रही है.

यह भी पढ़ें- राजिम को कुंभ मानने पर शंकराचार्यों में मतभेद, जानें किसने क्‍या कहा

उन्होंने कहा कि 15 दिसम्बर को 71 देशों के राजनयिकों ने कुंभ को वैश्विक मान्यता दी, पहली बार कुंभ मेले की शुरुआत गंगा मां की पूजा प्रार्थना के साथ पीएम मोदी ने किया. यह कुंभ देश व दुनिया में स्वच्छ और सुरक्षित कुंभ का संदेश देगा. पवित्र गंगा और यमुना के साथ अदृश्य सरस्वती के दर्शन के लिए करोड़ों लोग खिचे आते हैं. योगी ने कहा कि केन्द्र और प्रदेश सरकार ने प्रयाग राज के विकास का कार्य किया. इसके चलते जल, थल और नभ से आवागमन की सुविधा प्रदान की जा रही है. इसी क्रम में 15 फ्लाईओवर, अण्डर ब्रिज बने, 264 सड़कों का चौड़ीकरण हुआ है, चौराहों का भी चौड़ीकरण और सौन्दर्यीकरण किया गया. योगी ने कहा कि इस बार मेला क्षेत्र का एरिया बढ़ाया गया है. 22 पान्टून ब्रिज बनाये गए हैं साथ ही श्रद्धालुओं के लिए सुविधाओं का बेहतर प्रबन्ध किया गया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि सफाई की समुचित व्यवस्था कुम्भ मेले में की गई है. जिसके लिए 1 लाख 22 हजार 500 पर्यावरण अनुकूल शौचालय बनाये गए हैं. बीस हजार से ज्यादा डस्टबिन मेला क्षेत्र में रखे गए हैं. दस हजार श्रद्धालुओं की क्षमता का गंगा पंडाल बनाया गया है. साथ ही चार सांस्कृतिक पंडाल भी बनाये गए हैं.

देश के छह लाख गांवों का प्रतिनिधित्व कुम्भ में होगा. बीस हजार श्रद्धालुओं के मेला क्षेत्र में रुकने की व्यवस्था के साथ 1300 हेक्टेयर में 94 पार्किंग स्थल बुनियादी सुविधाओं के साथ बनाये गए हैं. मेले में शटल बस सेवा और ई रिक्शा चलायी जा रही हैं. कुम्भ के मद्देनजर प्रयागराज कई शहरों से हवाई सेवा से जुड़ा है. पहली बार पांच सौ से अधिक सांस्कृतिक कार्यक्रम पूरे मेला क्षेत्र में होंगे. पेंट माई सिटी में 15 लाख वर्ग फीट में दीवारें पेंट की गई है. कुम्भ मेले में 1100 सीसीटीवी लगाये गए हैं. 

इंटीग्रेटेड कमांड एंड कन्ट्रोल सेंटर बनाया गया है. पहली बार टेंट सिटी बसायी गई है. पन्द्रहवें अप्रवासी भारतीय सम्मेलन में आये प्रवासी कुम्भ में आयेंगे और ये सभी टेंट सिटी में ही रुकेंगे. अप्रवासी भारतीय, विगत पचास वर्षों में सबसे अच्छा जल संगम में है. पूरे आयोजन में इसी तरह स्वच्छ गंगा जल उपलब्ध होगा. गंगोत्री से लेकर प्रयागराज तक गंदे नालों को गंगा में गिरने से रोका गया है. आम श्रद्धालुओं के लिए अक्षयवट खुलने से गौरव की अनुभूति हो रही है. सीएम योगी ने कहा, सभी कार्यक्रम कुम्भ को स्वच्छ और सुरक्षित कुम्भ से दिव्य और भव्य कुम्भ की ओर ले जायेंगे.  राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद भी 17 जनवरी को कुम्भ मेले में आयेंगे और महर्षि भरद्वाज की प्रतिमा का अनावरण भी करेंगे.

First Published: Jan 10, 2019 03:13:00 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो