kamika ekadashi 2018: सावन में कामिका एकादशी पर करते है भगवान विष्णु की पूजा, जानिए महत्व

कृष्ण ने कहा था कि इस एकादशी का व्रत रखने वाले को अश्वमेध यज्ञ करने के बराबर फल की प्राप्ति होती है।

  |   Updated On : August 06, 2018 06:35 PM
 कामिका एकादशी

कामिका एकादशी

नई दिल्ली:  

सावन महीने के कृष्णपक्ष में पड़ने वाली एकादशी को कामिका एकादशी कहा जाता है। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा की जाती है।

इस बार कामिका एकादशी 7 अगस्त मंगलवार को पड़ रही है।

पुराणों के अनुसार भगवान कृष्ण ने खुद इस एकादशी के व्रत के महत्व के बारे में युधिष्ठर को बताया था। कृष्ण ने कहा था कि इस एकादशी का व्रत रखने वाले को अश्वमेध यज्ञ करने के बराबर फल की प्राप्ति होती है।

इसे भी पढ़ें: Ganesh Chaturthi:प्लास्टिक बैन के बाद मुंबई के गणपति बनें इको फ्रेंडली

माना जाता है कि कामिका एकादशी के दिन व्रत रखने वालों को पाप से मुक्ति मिल जाती है। कहा गया है कि सावन में भगवान विष्णु को पूजने से देवता,गन्धर्वों और नागों की पूजा भी हो जाती है।

हालांकि 7 तारीख को सूर्योदय के समय एकादशी की शुरूआत नहीं होगी, ऐसे में व्रत रहने वाले साधक 8 अगस्त को उपवास रख सकते है।

पूजा करने की विधि

  • एकादशी के दिन सुबह नहा-धोकर भगवान विष्णु का ध्यान कर व्रत का संकल्प लें
  • भगवान विष्णु की मूर्ति शुद्ध जल से नहला कर उस पर फल-फूल, तिल दूध और पंचामृत आदि का चढ़ाई।
  • पूरे दिन सहस्त्रनाम का पाठ अवश्य करें।
First Published: Monday, August 06, 2018 06:14 PM

RELATED TAG: Kamika Ekadashi, God Vishnu, Shravan Month 2018,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो