Janmashtami 2018: जयपुर के इस मंदिर में दिन के 12 बजे मनाया जाता है कृष्ण का जन्म, जानें वजह

जन्माष्टमी का त्योहार आज पूरे देश में धूमधाम से मनाया जा रहा है। आज रात 12 बजे कान्हा का जन्म होगा। लेकिन गुलाबी नगरी जयपुर में एक ऐसा मंदिर है जहां भगवान कृष्ण का जन्म दिन के 12 बजे ही मना लिया गया।

  |   Updated On : September 03, 2018 05:49 PM
 जयपुर के इस मंदिर में दिन के 12 बजे मनाया जाता है कृष्ण का जन्म

जयपुर के इस मंदिर में दिन के 12 बजे मनाया जाता है कृष्ण का जन्म

नई दिल्ली:  

जन्माष्टमी का त्योहार आज पूरे देश में धूमधाम से मनाया जा रहा है। आज रात 12 बजे कान्हा का जन्म होगा। लेकिन गुलाबी नगरी जयपुर में एक ऐसा मंदिर है जहां भगवान कृष्ण का जन्म दिन के 12 बजे ही मना लिया गया।

जयपुर के चौड़ा रास्ता स्थिर राधा दामोदर मंदिर में आज यानी सोमावर को दिन के 12 बजे कृष्ण का जन्मदिन  मनाया गया। सबसे पहले कान्हा को दूध, दही से स्नान कराया गया। इसके बाद अभिषेक किया गया। मंदिर में भक्तों की बड़ी भीड़ पहुंची। सभी ने कृष्ण जयकारों के साथ माहौल को भक्तिमय कर दिया।

और पढ़ें : Janmastmi 2018: श्रीकृष्ण की थी आठ पटरानियां, इस तरह हुई सबसे शादी

500 साल पुरानी इस मंदिर में दिन के 12 बजे जन्माष्टमी क्यों मनाई जाती है। इसके पीछे बताया गया है कि राधा दामोदर का ये मंदिर कृष्ण की बाल स्वरूप का है। जिसके कारण कृष्ण के सोने का समय रात को 12 बजे का होगा। न कि उठने का। जिसके कारण इस मंदिर में दिन में 12 बजे कृष्ण जन्म मनाया जाता है।

वहीं, रात को 12 बजे से पहले पट बंद कर दिए जाते हैं। यह परंपरा तब से चली आ रही है जब से मंदिर बनी है। यानी 500 साल पहले से चली आ रही परंपरा आज भी जिंदा है।

और पढ़ें : Sri krishna janmashtami 2018: कैसे हुए था भगवान श्रीकृष्ण का जन्म, जानें इतिहास और महत्व

First Published: Monday, September 03, 2018 05:35 PM

RELATED TAG: Janmashtami 2018, Srikrishnajanmastmi, Radha Damodar Temple, Sri Krishna Birthday,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो