गणेश चतुर्थी 2018: इस दिन पधारेंगे बप्पा, मूर्तिकारों ने गणपति की मूर्तियों को दिया अंतिम रूप

गणेश चतुर्थी पर एक ओर जहां पंडालों में उनकी बड़ी-बड़ी प्रतिमा की स्थापना करते है वहीं दूसरी ओर भक्त अपने घरों में भी गणेश जी को विराजमान करते है।

  |   Updated On : September 08, 2018 11:20 PM
गणेश चतुर्थी 2018: (फोटो-ANI)

गणेश चतुर्थी 2018: (फोटो-ANI)

नई दिल्ली:  

13 सितंबर से गणपति बप्पा हर घर में पधारने आ रहे है, जो पूरे दस दिन अपने भक्तों पर अपनी कृपा बरसाएंगे। गणेश चतुर्थी को लेकर पूरे देश तैयारियां जोरों पर है। भूवनेश्वर में भी मूर्तिकारों ने गजानन जी की मूर्ति को अंतिम रूप दिया।  गणेश चतुर्थी का यह त्योहार भारत के विभिन्न भागों में मनाया जाता है लेकिन महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा धूमधाम से मनाया जाता है।

गणेश चतुर्थी पर एक ओर जहां पंडालों में उनकी बड़ी-बड़ी प्रतिमा की स्थापना करते है वहीं दूसरी ओर भक्त अपने घरों में भी गणेश जी को विराजमान करते है।

इसके बाद 10वें दिन पूरे गाजे-बाजे के साथ भक्त उन्हें नदी या तालाब में विसर्जित करते है। माना जाता है कि गणेश जी पूरे दस दिन अपने माता-पिता से दूर रहते है और फिर वह दस दिन बाद उनके पास लौट जाते है।

और पढ़ें: गणेश चतुर्थी 2018: पिछले चार महीने से 150 लोग बना रहे हैं गणपति की 57 फीट ऊंची प्रतिमा

गणेश जी को 'बुद्धि' के देव भी कहते है साथ ही उन्हें सभी देवों से पहले पूजने के साथ ही हर शुरुआती काम में पूजने की भी मान्यता प्रचलित है। गणेश जी का सबसे पसंदीदा भोग 'बूंदी के लड्डू' और 'मोदक' है लेकिन सबसे ज्यादा उन्हें 'मोदक' भाता है इसलिए उन्हें ' मोदक प्रिय' भी कहा जाता है।

तो इसबार आप भी जब उन्हें अपने घर में लाये तो उससे पहले 'मोदक' का प्रसाद बनाना न भूलें हालांकि आजकल बाज़ारों में भी अब अलग-अलग तरीकों के मोदक मौज़ूद है। मोदक का भोग और सच्ची भक्ति के साथ गणेश जी का स्वागत करिये और उनकी कृपा का पात्र बनिए और अपनी हर मनोकामना को पूर्ण कीजिए।

First Published: Saturday, September 08, 2018 10:58 PM

RELATED TAG: Ganesh Chaturthi 2018, Lord Ganesha,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो