Makar Sankranti 2020: अपने करीबियों को इस तरह दें मकर संक्रांति की शुभकामनाएं

News State Bureau  |   Updated On : January 14, 2020 12:43:53 PM
मकर संक्रांति

मकर संक्रांति (Photo Credit : फाइल फोटो )

नई दिल्ली:  

हिंदुओं के प्रमुख त्योहारों में से एक मकर संक्रांति की धूम हर तरफ नजर आ रही है. मकर संक्रांति का त्योहार हिंदुओं के लिए यह बेहद खास है. इस दिन सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है, यानि सूर्य उत्तरायण होता है. मकर संक्रांति का पौराणिक महत्व भी है. मान्यता है कि इस दिन सूर्य देव अपने पुत्र शनि के घर जाते हैं. वहीं दूसरी मान्यता है कि मकर संक्रांति के दिन ही भगवान विष्णु ने पृथ्वी लोक पर असुरों का संहार किया था. इस जीत को मनाने के लिए मकर संक्रांति का पर्व मनाया जाता है.

वहीं संक्रांति पर्व के दिन से शुभ कार्यों का मुहूर्त समय शुरू होता है. कहा जाता है कि इस दिन देवता अपनी 6 माह की निद्रा से जागते हैं. सूर्य का मकर राशि में प्रवेश करना, एक नए जीवन की शुरुआत का दिन होता है. शास्त्रों में इस दिन को देवदान पर्व भी कहा गया है. इस पर्व को लोग अपने परिवार के साथ बड़ी श्रद्धा से मनाते हैं. ऐसे में हम आपके लिए मकर संक्रांति पर कुछ ऐसे प्यार भरे मैसेज जिन्हें भेजकर आप अपने करीबियों का ये त्योहार और भी खास बना सकते हैं.

यह भी पढ़ें:  Makar Sankranti 2020: जानिए क्या है मकर संक्रांति का महत्व, क्यों मनाया जाता है ये त्योहार

मंदिर की घंटी, आरती की थाली,
नदी के किनारे सूरज की लाली,
जिंदगी में आये खुशियों की बहार,
आपको मुबारक हो मकर संक्रांति का ये त्यौहार…
Happy Makar Sankranti!

काट न सके कोई पतंग आपकी,
टूटे न कभी डोर विश्वास की,
छु लो आप जिंदगी की सारी कामयाबी,
जैसे पतंग छूती है ऊंचाईया आसमान की…
मकर संक्राति की हार्दिक शुभकामनाये!

यह भी पढ़ें:  Makar Sankranti 2020: जानिए क्या होता है तिल के दान और गंगा स्नान का महत्व

तन में मस्ती,
मन में उमंग,
चलो आकाश में डाले रंग,
हो जाये सब एक-संग,
और उड़ाये पतंग…
हैप्पी मकर संक्रांति!

ये साल की “मकर संक्रांत”
आपके लिए तिल-गुल जैसी मीठी
और ‘पतंग’ जैसी ऊँची
उड़ान लाये “हैप्पी संक्रांति”


बिन सावन बरसात नहीं होती,
सूरज डूबे बिन रात नहीं होती,
अब ऐसी आदत हो गई है की,
आपको विश किये बिन किसी,
त्यौहार की शुरुवात नहीं होती…
Happy Makar Sankrant!

यह भी पढ़ें: Makar Sankranti 2020: बड़े-बुजुर्ग के सम्मान में गुर्जर समाज मनाता है ये अनोखी परंपरा


पल पल सुनहरे फूल खिले,
कभी न हो कांटों का सामना,
जिंदगी आपकी खुशियो से,
भरी रहे, संक्रांति पर,
हमारी यही शुभकामना!
Happy Makar Sankranti!

First Published: Jan 14, 2020 12:41:18 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो