भारत ही नहीं विदेशों में भी मनाते हैं बुद्ध पूर्णिमा, जानें महत्व और मूहुर्त

हिंदू धार्मिक ग्रंथों में भगवान बुद्ध को भगवार विष्णु का 9वां अवतार बताया गया है। इसलिए हिंदू धर्म के लोगों के लिए भी बुद्ध पूर्णिमा का विशेष महत्व है।

  |   Updated On : April 30, 2018 09:19 AM

ऩई दिल्ली :  

वैशाख शुक्ल पूर्णिमा को बुद्ध पूर्णिमा भी कहा जाता है। इस दिन ही भगवान बुद्ध का जन्म हुआ था और इसी दिन ही बोधगया में पीपल के वृक्ष के नीचे उन्हें बुद्धत्व की प्राप्ति हुई थी। वैशाख पूर्णिमा के दिन ही भगवान बुद्ध ने गोरखपुर से 50 किमी दूर कुशीनगर में महानिर्वाण की ओर प्रस्थान किया था।

इस साल बुद्ध पूर्णिमा सोमवार 30 अप्रैल को है। बता दें कि हिंदू धार्मिक ग्रंथों में भगवान बुद्ध को भगवार विष्णु का 9वां अवतार बताया गया है। इसलिए हिंदू धर्म के लोगों के लिए भी बुद्ध पूर्णिमा का विशेष महत्व है।

बैशाख पूर्णिमा के दिन गंगा स्नान करने से व्यक्ति को पाप कर्मों से छुटकारा मिलता है। शुभ मुहूर्त में पूजन करने से बिगड़े काम बन जाते हैं।

शुभ मूहूर्त
बुद्ध पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त 29 अप्रैल 2018 को सुबह 6:37 बजे से शुरू होकर 30 अप्रैल 2018 को 6:27 बजे खत्म होगा। हिंदू धर्म में हर त्योहार उदया तिथि को ही मनाया जाता है, इसलिए बुद्ध पूर्णिमा भी 30 अप्रैल, सोमवार को मनायी जाएगी।

भारत नहीं दुनिया भर में मनाई जाती है

बुद्ध पूर्णिमा का महत्व केवल भारत में नहीं है, बल्कि इसे दुनिया के दूसरे देशों में भी मनाया जाता है। जिनमें श्रीलंका, कंबोडिया, वियतनाम, चीन, नेपाल थाईलैंड, मलयेशिया, म्यांमार, इंडोनेशिया जैसे देश शामिल हैं। श्रीलंका में इस दिन को 'वेसाक' के नाम से जाना जाता है, जो निश्चित रूप से वैशाख का ही अपभ्रंश है।

इसे भी पढ़ें: सही दिशा में लगाए मनी प्लांट का पौधा और हो जाए मालामाल, जानें इसके और फायदे

First Published: Monday, April 30, 2018 08:36 AM

RELATED TAG: Significance Of Buddha Purnima, Famous Buddhist Temples,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो