इंटरनेशनल कॉल सेंटर से चल रहे ठग गिरोह का पर्दाफाश, करोड़ों का चूना लगाने वाले 5 शातिर शिकंजे में

अजमेर में पिछले काफी समय से इंटरनेशनल कॉल सेंटर के जरिए विदेशियों को ठग रहे गिरोह का पुलिस ने पर्दाफाश किया है. अजमेर रेंज के आईजी बीजू जॉर्ज जोसफ ने बताया कि गिरोह के 5 शातिरों को कॉल सेंटर से दबोचा गया है.

Vikas Takk  |   Updated On : November 07, 2018 12:02 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

अजमेर :  

अजमेर में पिछले काफी समय से इंटरनेशनल कॉल सेंटर के जरिए विदेशियों को ठग रहे गिरोह का पुलिस ने पर्दाफाश किया है. इसका खुलासा अजमेर रेंज के आईजी बीजू जॉर्ज जोसफ ने किया. उन्होंने बताया कि गिरोह के 5 शातिरों को कॉल सेंटर से दबोचा गया है. अन्‍य शातिरों की तलाश के लिए 4 टीमें लगाई गई हैं. 

अजमेर रेंज के आईजी बीजू जॉर्ज जोसफ ने कहा कि क्रिश्चयनगंज थाना क्षेत्र के हरिभाउ उपाध्याय नगर में कॉल सेंटर चल रहा था जिससे इंटरनेशनल कॉल करके ठगी करने की जानकारी सामने आई. इस पर पुलिस मुख्यालय की टीम के साथ मिलकर कार्रवाई को अंजाम दिया गया. टीम ने कॉल सेंटर से 5 बदमाशों को गिरफ्तार किया है, जिसमें अजमेर के 3 व्यक्ति शामिल हैं. पकड़े गए लोगों में बिहार के समस्तीपुर निवासी राहुल राज वर्मा, अहमदाबाद के रानिब निवासी नईमुद्दीन कुरैशी, जवाहर नगर निवासी तेजदीप सिंह, इन्द्रा कॉलोनी, धोलाभाटा निवासी केतन कुमार कोली और खाई कुई निवासी रोहित कुमार जैनानी हैं.

आयकर अधिकारी बनकर करते थे कॉल

आईजी जोसफ ने कहा कि पकड़े गए बदमाशों ने कबूला है कि उनके पंजाब के जालंधर, मुम्बई, बिहार के समस्तीपुर और दिल्ली में ऑफिस हैं. वह इंटरनेट के जरिए डाटा चोरी करते थे. इस डाटा को उन्हें उपलब्ध करवाया जाता था, जिससे वह वर्चुअल नम्बर का प्रयोग करके विश्व के कई देशों के लोगों को कार्यवाही का डर दिखाते थे और उनसे रुपये ऐंठते थे. ये रुपये हवाला, इंटरनेट बैंकिंग सहित कई तरीके से मंगवाया जाता था. अब तक बदमाशों ने यूके, यूएसए, ऑस्ट्रेलिया सहित कई अन्य देशों के लोगों को करोड़ों का चूना लगा चुके हैं. बदमाशों से यह भी पता लगाया जा रहा है कि भारत में अब तक कितने लोगों को शिकार बनाया है.

रोजाना एक लाख रुपये की इनकमिंग

आईजी जोसफ ने कहा कि प्रथम दृष्टया यह भी सामने आया है कि बदमाशों के खातों में रोजाना एक लाख रूपए आते थे. इससे अंदेशा लगाया जा सकता है कि बड़े स्तर पर यह काम किया जा रहा था. अजमेर में यह कॉल सेंटर 9 महीने से चल रहा था.

वर्चुल नम्बर नहीं होता ट्रेस

आईजी ने कहा कि जिस नम्बर से गिरोह के सदस्य फोन करते थे वह नम्बर भी वर्चुअल था, जो किसी भी सॉफ्टवेयर से ट्रेस नहीं किया जा सकता था. यही कारण था कि बदमाशों ने काफी लोगों को शिकार बनाया.

इंटरनेशनल कॉल सेंटर से चल रहे ठग गिरोह का पर्दाफाश, करोड़ों का चूना लगाने वाले 5 शातिर शिकंजे में

अजमेर

अजमेर में पिछले काफी समय से इंटरनेशनल कॉल सेंटर के जरिए विदेशियों को ठग रहे गिरोह का पुलिस ने पर्दाफाश किया है. इसका खुलासा अजमेर रेंज के आईजी बीजू जॉर्ज जोसफ ने किया. उन्होंने बताया कि गिरोह के 5 शातिरों को कॉल सेंटर से दबोचा गया है. अन्‍य शातिरों की तलाश के लिए 4 टीमें लगाई गई हैं.
अजमेर रेंज के आईजी बीजू जॉर्ज जोसफ ने कहा कि क्रिश्चयनगंज थाना क्षेत्र के हरिभाउ उपाध्याय नगर में कॉल सेंटर चल रहा था जिससे इंटरनेशनल कॉल करके ठगी करने की जानकारी सामने आई. इस पर पुलिस मुख्यालय की टीम के साथ मिलकर<span style="font-size: 10.5pt; line-height: 107%; font-fa

First Published: Wednesday, November 07, 2018 12:02 PM

RELATED TAG: Rajsthan, Ajmer, International Fraud Gang, International Call Centre, Arresting, Income Tax Officer,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो