खेल के दौरान इन क्रिकेटरों ने गंवाई अपनी जान

Updated On : November 27, 2016 08:36 AM
क्रिकेट खेल है रोमांच का और अनिश्चितताओं का। खेल के दौरान चोट लगना एक आम बात होती हैं लेकिन कभी कभी यहीं चोट किसी की जान भी ले सकती है। मैच के दौरान खिलाड़ी की मृत्यु हो जाना सभी को स्तब्ध कर देता है। ऐसा ही कुछ आज से 2 साल पहले हुआ था। जब क्रिकेट का एक उभरता सितारा मैच के दौरान चौट लगने से इस दुनिया को अलविदा कहकर चला गया। क्रिकेट के खेल में ऐसी दुखद घटनाएं पहली भी घट चुकी हैं। आइए नजर डालते हैं उन खिलाड़ियों पर जिन्हें मैदान पर लगी चोट के कारण अपनी जान गंवानी पड़ी।
बाएं हाथ के इस सलामी बल्लेबाज ने टेस्ट करियर का पदार्पण सन् 2009 में 20 वर्ष की उम्र में किया था। ऑस्ट्रेलिया के फिलिप ह्यूज की शेफील्ड शील्ड टूर्नामेंट के तहत हुए मैच में सीन एबॉट की बाउंसर से बल्लेबाजी के दौरान सर पर लगी चोट के कारण मौत हो गई थी। 27 नवम्बर 2014 को अपने 26वें जन्मदिन से तीन दिन पहले उनकी मृत्यु हो गई।
रमन एक भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी थे जिन्होंने मुख्यतः एक बल्लेबाज के रूप में चार टेस्ट और 32 वनडे खेला। यूपी के क्रिकेटर रमन लांबा लांबा का शॉर्ट लेग पर फील्डिंग करते समय सिर में चोट लगने के कारण निधन हो गया था।
इयान फोली दाएँ हाथ के इंग्लिश क्रिकेटर थे इसके साथ ही साथ ये बाएं हाथ के गेंदबाज भी थे ये शुरूआती दौर में ये मध्यम गति के तेज गेंदबाज थे आगे चलकर इन्होंने स्पिन गेंदबाजी करनी शुरू कर दी इंग्लैंड के इयान फोली को घरेलू टूर्नामेंट में आंख के नीचे गेंद लगी थी। उपचार के दौरान फोली का निधन हो गया था।
घरेलू मैच के दौरान पाकिस्तान का यह बल्लेबाज सीने पर गेंद लगने के बाद पिच पर ही गिर पड़ा। बेगम खुर्शीद मेमोरियल टूर्नामेंट टी-20 मैच के दौरान पुल शॉट लगाने के दौरान हुई थी। भट्टी को तुरंत अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। 2013 में भट्टी की मात्र 22 वर्ष की आयु में मौत हुई।
रैंडाल का निधन 32 वर्ष की अवस्था में 2013 में घरेलू टूर्नामेंट के दौरान बल्लेबाजी करते हुए गेंद लगने से हुई। पुल शॉट लगाने की कोशिश करते हुए गेंद रैंडाल के सिर में लगी और वह वहीं ढेर हो गए। रैंडाल को तुरंत अस्पताल ले जाया गया, लेकिन जल्द ही उनकी मौत हो गई।

Live Scorecard

न्यूज़ फीचर

मुख्य खबरें

वीडियो