पांचवें चरण के ये हैं दिग्‍गज जिनके भाग्‍य का फैसला करेंगे वोटर, जानिए किससे किसका है मुकाबला

Updated On : May 05, 2019 07:56 PM
अमेठी में गांधी परिवार के लिए अपनी साख बचाना आसान नहीं
अमेठी में गांधी परिवार के लिए अपनी साख बचाना आसान नहीं
2014 के लोकसभा चुनाव में अमेठी से कांग्रेस के राहुल गांधी ने बीजेपी के स्मृति ईरानी को 1,07,903 वोट से हराया था. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी यहां से एक बार फिर से मैदान में है. बीजेपी ने केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को उतारा है. महागठबंधन ने यहां से उम्मीदवार नहीं उतारा है.
रायबरेलीः जारी है कांग्रेस की जीत का सिलसिला
रायबरेलीः जारी है कांग्रेस की जीत का सिलसिला
2014 के लोकसभा चुनाव में सोनिया गांधी ने बीजेपी के अजय अग्रवाल को 352713 वोट से हराया था. कांग्रेस की वरिष्ठ नेता सोनिया गांधी एक बार फिर चुनावी मैदान में है. बीजेपी ने इस सीट से स्थानीय एमएलसी दिनेश सिंह को मैदान में उतारा है. दिनेश सिंह हाल ही में कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए थे. महागठबंधन ने यहां से उम्मीदवार नहीं उतारा है.
जयपुर ग्रामीणः दो खिलाड़ियों के बीच जंग
जयपुर ग्रामीणः दो खिलाड़ियों के बीच जंग
2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के राज्यवर्धन राठौड़ ने कांग्रेस के सीपी जोशी को 3,32,896 वोट से हराया था. बीजेपी ने मौजूदा सांसद राज्यवर्धन राठौड़ और कांग्रेस ने कृष्णा पुनिया को मैदान में उतारा है. राज्यवर्धन राठौड़ ने एथेंस ओलिंपिक में सिल्वर मेडल जीत चुके हैं और कृष्णा पूनिया 2010 के कॉमनवेल्थ गेम में गोल्ड जीत चुकीं हैं.
अटल की सियासी विरासत पर किसकी चलेगी सियासत
अटल की सियासी विरासत पर किसकी चलेगी सियासत
2014 के लोकसभा चुनाव में लखनऊ सीट पर बीजेपी के वरिष्ठ नेता राजनाथ सिंह ने कांग्रेस की रीता बहुगुणा जोशी को 2 लाख 72 हजार 749 वोटों से मात देकर जीत हासिल की थी. लखनऊ सीट बीजेपी का गढ़ मानी जाती है. बीजेपी ने एकबार फिर गृहमंत्री राजनाथ सिंह को टिकट दिया है. समाजवादी पार्टी ने कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा को टिकट दिया हैं. धर्मगुरु प्रमोद कृष्णम कांग्रेस के उम्मीदवार हैं.
कोडरमा में पूर्व सीएम बाबू लाल मरांडी की साख दांव पर
कोडरमा में पूर्व सीएम बाबू लाल मरांडी की साख दांव पर
झारखंड की कोडरमा लोकसभा सीट सें सांसद बीजेपी के रविन्द्र कुमार राय हैं. उन्होंने साल 2014 के लोकसभा चुनाव में कम्युनिस्ट पार्टी के राजकुमार यादव को लगभग 1 लाख मतों के अंतर से शिकस्त दी. 2014 के चुनाव में बीजेपी के रविंद्र कुमार राय ने कम्यूनिस्ट पार्टी के राज कुमार यादव को हराया था. रविंद्र कुमार राय को 3.65 लाख और राज कुमार यादव को 2.66 लाख वोट मिले थे. यहां से इस बार यूपीए की ओर से पूर्व सीएम बाबू लाल मरांडी का मुकाबला एनडीए की अन्‍नपूर्ण देवी से है.
खूंटीः बीजेपी को गढ़ बचाने की चुनौती
खूंटीः बीजेपी को गढ़ बचाने की चुनौती
बीजेपी के टिकट पर करिया मुंडा लगातार पांच बार (1989, 1991, 1996, 1998 और 1999) का चुनाव जीते. 2004 का चुनाव कांग्रेस के सुशीला केरकेता जीतने में कामयाब हुईं. इसके बाद फिर करिया मुंडा बीजेपी के टिकट पर लगातार दो बार यानि 2009 और 2014 में जीते. इस बार खूंटी से एनडीए के अर्जुन मुंडा का मुकाबला यूपीए के कालीचरण मुंडा से है.
हजारीबागः जयंत सिन्हा को सीट बरकरार रखने की चुनौती
हजारीबागः जयंत सिन्हा को सीट बरकरार रखने की चुनौती
2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के जयंत सिन्हा ने कांग्रेस के सौरभ नारायण सिंह को 1,59,128 वोट से हराया था. जयंत सिन्हा पूर्व केन्द्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा के पुत्र हैं. मुख्य मुकाबला बीजेपी के प्रत्याशी जयंत सिन्हा और कांग्रेस के प्रत्याशी गोपाल साहू के बीच है. सीपीआई के भुवनेश्वर प्रसाद मेहता के चुनावी मैदान में हैं.
सारण के रण में कांटे की टक्कर
सारण के रण में कांटे की टक्कर
2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के राजीव प्रताप रूडी ने बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी को 40,948 वोट से हराया था.यहां से भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी मैदान में हैं . राजीव प्रताप सिंह रूडी इस बार इस सीट से चौका लगाने के फिराक में हैं. बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव के ससुर चंद्रिका राय राजद के टिकट पर मैदान में हैं. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री दरोगा राय के बेटे चंद्रिका राय सारण के परसा विधानसभा सीट से विधायक हैं.
बैरकपुर की दिलचस्‍प लड़ाई
बैरकपुर की दिलचस्‍प लड़ाई
2014 के लोकसभा चुनाव में टीएमसी के दिनेश त्रिवेदी ने सीपीएम के सुभाषिनी अली को 2,06,773 वोट से हराया था. 2019 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के अर्जुन सिंह, कांग्रेस पार्टी के एमडी. आलम, टीएमसी से दिनेश त्रिवेदी, सीपीएम के गार्गी चटर्जी मैदान में है. 2014 में यहां 81.77 प्रतिशत मतदान हुआ था.
साध्वी सावित्री बाई फुले की प्रतिष्‍ठा दांव पर
साध्वी सावित्री बाई फुले की प्रतिष्‍ठा दांव पर
बहराइच लोकसभा सीट (सुरक्षित) पर 2019 के लोकसभा चुनाव में सांसद साध्वी सावित्री बाई फुले इस बार कांग्रेस के टिकट चुनावी मैदान में हैं. 2014 के चुनाव में सावित्री सांसद चुनीं गई थीं. इस बार उन्होंने चुनाव से पहले कांग्रेस का दामन थाम लिया. BJP ने पूर्व विधायक अक्षयवर लाल गोंड को टिकट दिया. वहीं, बसपा-सपा गठबंधन ने पूर्व विधायक शब्बीर अहमद बाल्मीकि पर भरोसा जताया है.

Live Scorecard

न्यूज़ फीचर

मुख्य खबरें

वीडियो