बिहार में 'जल-जीवन-हरियाली' अभियान के लिए बनी मानव श्रृंखला

Updated On : January 19, 2020 02:48 PM
Twitter
Twitter

बिहार में 'जल-जीवन-हरियाली' अभियान के साथ-साथ नशा मुक्ति, बाल विवाह रोकथाम एवं दहेज प्रथा के प्रति लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से  रविवार को करीब 4 करोड़ से ज्यादा लोगों ने एक दूसरे का हाथ पकड़कर मानव श्रृंखला बनाई. सरकार की ओर से दावा किया गया कि यह अनोखी मानव श्रृंखला पूरे बिहार में 13 हजार किलोमीटर से ज्यादा लंबी बनी है.

Twitter
Twitter

राजधानी पटना में मानव श्रृंखला का मुख्य कार्यक्रम हुआ, जहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसकी शुरूआत की. इस दौरान वहां उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, जल पुरुष राजेंद्र सिंह सहित कई मंत्री और अधिकारी उपस्थित रहे.

Twitter
Twitter

पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुब्बारों के गुच्छे को आसमान में उड़ाकर इस श्रृंखला की शुरुआत की. गांधी मैदान से चार श्रेणियों में निकली यह मानव श्रृंखला राष्ट्रीय राजमार्ग, राज्य राजमार्ग, जिला, प्रखंड, पंचायत, गांवों की विभिन्न सड़कों और पगडंडियों से होकर गुजरी.

Twitter
Twitter

श्रम संसाधन मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने भी इस मानव श्रृंखला में भाग लिया. मंत्री विजय सिन्हा के समर्थन उनके समर्थन और सुरक्षाकर्मी भी कतारों में लगे दिखे.

Twitter
Twitter

मानव श्रृंखला में जल जीवन हरियाली, नशा मुक्ति, बाल विवाह, एवं दहेज उन्मूलन अभियान के समर्थन में सिवान जिला के जे.पी. चौक पर कला संस्कृति एवं युवा मंत्री प्रमोद कुमार ने भाग लिया.

Twitter
Twitter

मानव श्रृंखला के जरिए नशा मुक्ति, बाल विवाह रोकथाम एवं दहेज प्रथा के प्रति लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य जगह-जगह नुक्कड़ नाटकों का भी आयोजन किया गया. 

Twitter
Twitter

रविवार के दिन स्कूलों की छुट्टी होने के बाद भी छात्र-छात्राओं ने बढ़कर हिस्सा लिया. विभिन्न इलाकों में सड़कों पर स्कूली बच्चे मानव श्रृंखला की कतारों में लगे.

ANI
ANI

राज्य सरकार ने 'जल, जीवन, हरियाली' के समर्थन में आज राज्य भर में मानव श्रृंखला का आयोजन किया. इसके तहत मुजफ्फरपुर के बोचहा तहसील में गंडक नदी में नावों पर मानव श्रृंखला बनाने का काम अथर गांव के लोगों ने किया

Twitter
Twitter

इस मानव श्रृंखला में पुलिसकर्मियों ने भाग लिया. कई जिलों में पुलिसकर्मी 'जल-जीवन-हरियाली' अभियान के साथ-साथ नशा मुक्ति, बाल विवाह रोकथाम एवं दहेज प्रथा के प्रति लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से मानव श्रृंखला बनाते दिखे.

Twitter
Twitter

सरकार ने इस मानव श्रृंखला की तस्वीर और वीडियोग्राफी के लिए ड्रोन और हेलीकॉप्टर लगाए गए थे.

Twitter
Twitter

इस दौरान कुछ हैरान कर देने वाली तस्वीरें भी सामने आई. मानव श्रृंखला के लिए कतारों में लगे बच्चों के पास तन पर कपड़ा नहीं और पैरों में चप्पल तक नहीं थी. कतारों में बच्चे सर्दी के मौसम में भी नंगे पैर और बिना गर्म कपड़ों के लगे थे. 

Twitter
Twitter

नीतीश कुमार की महत्वाकांक्षी योजना के समर्थन में बनी मानव शृंखला में कई जगह लोग CAA, NRC और NPR के खिलाफ बैनर पोस्टर लेकर कतारों में खड़े दिखे.

Post Comment (+)

Live Scorecard

न्यूज़ फीचर

मुख्य खबरें

वीडियो