देश के सबसे युवा प्रधानमंत्री राजीव गांधी का जन्मदिन आज, तस्वीरों में देखिए सफरनामा

Updated On : August 20, 2017 07:29 AM
पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजवी गांधी (फाइल फोटो)
पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजवी गांधी (फाइल फोटो)
20 अगस्त 1944 को जन्में देश के छठे दिवंगत प्रधानमंत्री राजीव गांधी का आज जन्मदिन है। सिर्फ 40 साल की उम्र में देश के सबसे युवा प्रधानमंत्री बने थे स्वर्गीय राजीव गांधी।
 पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजवी गांधी (फाइल फोटो)
पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजवी गांधी (फाइल फोटो)
1984 में उस वक्त प्रधानमंत्री रहीं इंदिरा गांधी की हत्या के बाद राजीव गांधी भारी बहुत से देश के प्रधानमंत्री बने थे। राजीव गांधी 1984-1989 तक देश के प्रधानमंत्री रहे।
पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजवी गांधी (फाइल फोटो)
पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजवी गांधी (फाइल फोटो)
साल 1984 में पीएम इंदिरा गांधी की हत्या के बाद दिल्ली समेत देश के कई हिस्सों में सिख विरोधी दंगे हुए थे। इस दंगे की वजह से राजीव गांधी की काफी आलोचना हुई थी।
 पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजवी गांधी (फाइल फोटो)
पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजवी गांधी (फाइल फोटो)
राजीव गांधी ने प्रधानमंत्री बनने के बाद सबसे पहले विरोधी दल-बदल कानून बनाया जिसके तहत कोई भी चुना हुआ सांसद या विधायक अगले चुनाव तक दल बदल नहीं कर सकता था।
पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजवी गांधी (फाइल फोटो)
पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजवी गांधी (फाइल फोटो)
देश में तकनीक लाने का श्रेय उस वक्त प्रधानमंत्री रहे राजीव गांधी को ही जाता है। भारत में कंप्यूटर के इस्तेमाल को उन्होंने काफी बढ़ावा दिया था।
पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजवी गांधी (फाइल फोटो
पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजवी गांधी (फाइल फोटो
साल 1989 में सेना के लिए खरीदे जाने वाले बोफोर्स तोप घोटाले में राजीव गांधी का नाम भी सामने आया जिसके बाद वो लोकसभा चुनाव बुरी तरह हार गए थे।
 पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजवी गांधी (फाइल फोटो)
पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजवी गांधी (फाइल फोटो)
पेशे से पायलट रहे राजीव गांधी ने इटली की रहने वाली सोनिया गांधी से प्रेम विवाह किया था। सोनिया गांधी का नाम पहले एन्टोनिया माईनो था।
पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजवी गांधी (फाइल फोटो)
पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजवी गांधी (फाइल फोटो)
46 साल की उम्र में साल 1991 में तमिलनाडु में चुनाव प्रचार के दौरान तमिल आतंकवादियों ने बम धमाका कर उनकी हत्या कर दी थी।

Live Scorecard

न्यूज़ फीचर

मुख्य खबरें

वीडियो