ये हैं वो 6 नेता जो संभाल चुके हैं झारखंड की कमान

Updated On : December 21, 2019 04:58 PM
झारखंड के मुख्यमंत्री।
झारखंड के मुख्यमंत्री।

2019 में 5वीं विधानसभा का चुनाव है. अभी तक चार विधानसभा चुनाव झारखंड (Past Jharkhand Results) ने देखे हैं. झारखंड में 6 मुख्यमंत्रियों ने अब तक सरकार चलाई है. इनमें से कई दो बार भी सीएम बने. आइए जानते हैं झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्रियों के बारे में.

बाबूलाल मरांडी
बाबूलाल मरांडी

बाबुल मरांडी पहली बार प्रदेश के सीएम बने. 15 नवंबर 2000 को उन्होंने सीएम पद की शपथ ली और 2 साल 4 महीने 3 दिन तक वह अपने पद पर बने रहे.  18 मार्च 2003 को उन्होंने अपना पद छोड़ा.

अर्जुन मुंडा
अर्जुन मुंडा

अर्जुन मुंडा ने दूसरी बार प्रदेश की कमान संभाली. 18 मार्च 2003 को वह सीएम बने और 2 मार्च 2005 तक सीएम के पद पर बने रहे. दूसरी बार अर्जुन मुंडा 12 मार्च 2005 को सीएम बने और 19 सितंबर 2006 तक सरकार में रहे. 11  सितंबर 2010 में उन्हें तीसरी बार मुख्यमंत्री बनने के मौका मिला. और वह 18 जनवरी 2013 तक सीएम बने रहे.

शिबु सोरेन
शिबु सोरेन

शिबू सोरेन 2005 में झारखंड के तीसरे मुख्यमंत्री बने. उन्हें तीन बार प्रदेश का सीएम बनने का मौका मिला है. इन तीनों कार्यकाल में वह एक भी बार वह 6 महीने का कार्यकाल नहीं पूरा कर पाए.

मधु कोड़ा
मधु कोड़ा

मधु कोड़ा 19 सितंबर 2006 को पहली बार प्रदेश के सीएम बने. 27 अगस्त 2008 तक वह सीएम बने रहे.

हेमंत सोरेन
हेमंत सोरेन

13 जुलाई 2013 को पूर्व मुख्यमंत्री शिबू सोरेन के बेटे हेमंत सोरेन ने झारखंड की कमान संभाली. 28 दिसंबर 2014 तक वह सीएम बने रहे.

रघुबर दास
रघुबर दास

झारखंड राज्य के गठन के बाद पहली बार वहां बीजेपी की पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनी. 28 दिसंबर 2014 को रघुबर दास सीएम बने. वह इकलौते सीएम हैं जो अपना 5 साल का कार्यकाल पूरा कर सके.

Live Scorecard

न्यूज़ फीचर

मुख्य खबरें

वीडियो